महिला ने कहा-साहब एक बल्ब का 13 हजार बिल आया, ऊर्जा मंत्री ने मीटर चैक कर खुद पकड़ी गड़बड़

बिजली बिल में गड़बड़ी की करीब 350 शिकायतें रोज बिजली कंपनी के दफ्तर में पहुंचती हैं.

समस्या सुनकर मंत्री प्रद्युम्न सिंह (Energy Minister Pradyuman Singh) बिना देर किए निर्मला को अपने साथ कार में बैठाकर भीमनगर स्थित उसके घर पहुंचे. वहां उन्होंने बिजली कंपनी के जहांगीराबाद जोन मैनेजर अमित राय को बुलवाया.इसके बाद बिल (Bill) सुधारा गया, जो 212 रुपए का बना. मंत्री ने बिल से जुड़े कई सवाल किए, लेकिन मैनेजर संतोषजनक जवाब नहीं दे सके.

  • Share this:
भोपाल. अपने सफाई अभियान और जनता के बीच हमेशा सक्रिय रहने वाले नेता प्रद्युम्न सिंह अब शिवराज सरकार (Shivraj government) में ऊर्जा मंत्री हैं. यहां भी वो अपनी सक्रियता के कारण चर्चा में रहते हैं. अब भोपाल में उन्होंने बिजली कंपनी की बड़ी गड़बड़ी पकड़ ली. मामला वही अनाप-शनाप बिल (Bill) का था. एक महिला ने मंत्रीजी से इसकी शिकायत की तो प्रद्युम्न सिंह फौरन बिजली के दफ्तर ही पहुंच गए और सबकी क्लास लगा दी.

बिजली बिलों में भारी गड़बड़ी मध्य प्रदेश में आम बात है. गरीबों को भी अनाप-शनाप बिल पकड़ा दिए जाते हैं. भोपाल के भीम नगर बस्ती  में रहने वाली निर्मला  नाम की महिला के घर में सिर्फ एक बल्ब लगा हुआ है. लेकिन बिजली कंपनी ने सिर्फ इस एक बल्व के लिए 13 हजार का बिल निर्मला को थमा दिया.

मंत्री से शिकायत
निर्मला ने इसकी शिकायत सीधे ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर से कर दी. बस फिर क्या था.मंत्रीजी खुद उसके घर चले आये. वहां देखा कि कितनी बिजली इस्तेमाल हो रही है.हकीकत जानते ही उन्होंने फौरन बिजली कंपनी के अफसरों को वहां बुलवाया और  मीटर चैक कराया.और बस मौके पर ही गड़बड़ी पकड़ ली गयी. मीटर रीडिंग गलत की गयी थी. रीडिंग  में गड़बड़ी  पाई  गई  तो मंत्री ने मौके  पर ही गड़बड़ी ठीक करवायी और सही बिल बनवा कर महिला को दिया जो सिर्फ  212 रुपए का था.

कोई जवाब नहीं दे पाए अफसर
हालांकि बात की जाए तो रोजाना  ऐसी ही 350 से ज्यादा शिकायतें बिजली दफ्तरों में पहुंचती हैं.यह मामला अरेरा हिल्स के पास मंत्रालय के पास  भीमनगर बस्ती का था. यहां निर्मला बाई झुग्गी नंबर 92 में रहती हैं.उनका इसी महीने का बिल  13 हजार 731 रुपए का आया था. जिसके बाद  निर्मला  बिल लेकर शिवाजी नगर स्थित ऊर्जा मंत्री प्रद्मुम्न सिंह तोमर के बंगले पर पहुंच गई थीं. समस्या सुनकर मंत्री बिना देर किए निर्मला को अपने साथ कार में बैठाकर भीमनगर स्थित उसके घर पहुंचे. वहां उन्होंने बिजली कंपनी के जहांगीराबाद जोन मैनेजर अमित राय को बुलवाया.इसके बाद बिल सुधारा गया, जो 212 रुपए का बना. मंत्री ने बिल से जुड़े कई सवाल किए, लेकिन मैनेजर संतोषजनक जवाब नहीं दे सके.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.