दिग्विजय सिंह ने क्‍यों कहा- शिवराज जी हाथ जोड़कर प्रार्थना है, कभी सच भी बोल दिया करें

दिग्विजय सिंह ने शिवराज सिंह चौहान के अभियान को लेकर कसा तंज. (फाइल फोटो)

दिग्विजय सिंह ने शिवराज सिंह चौहान के अभियान को लेकर कसा तंज. (फाइल फोटो)

Bhopal News: एमपी में भी कोरोना (Corona) संक्रमण के हालात विस्फोटक हैं. यहां 11 से 14 अप्रैल तक टीकाकरण अभियान चलाया गया. चार दिनों में 68743 लोगों ने टीका लगवाया था. टीकाकरण महोत्सव के 4 दिनों में 1,60,000 लोगों को टीकाकरण लगाने

  • Share this:
भोपाल. मध्‍य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamal Nath) के बाद अब दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने भी सीएम शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj) को कोरोना के खिलाफ जारी जंग में अपने कुछ सुझाव और सलाह दी है. दिग्विजय सिंह ने शिवराज पर तथ्यों को छुपाने का आरोप भी लगाया. उन्होंने कहा कि तथ्यों को छुपाने के बजाय समस्या का हल निकालना चाहिए. दिग्विजय सिंह ने कहा मेरी हाथ जोड़ कर प्रार्थना है, तथ्यों को छुपा कर जनता को गुमराह करना बंद करें. कभी कभी सच भी बोल दिया करें.

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने हाल ही में कोरोना के खिलाफ जागरुकता के लिए भोपाल में 2 दिन का स्वास्थ्य आग्रह किया था. इस दौरान उन्होंने कई राजनीतिक पार्टियों के साथ प्रदेश के अलग-अलग वर्ग के लोगों और धर्मगुरुओं से कोरोना के लिए सुझाव मांगे थे. पूर्व सीएम कमलनाथ ने भी अपने सुझाव दिए थे. स्वास्थ्य आग्रह में दिग्विजय सिंह के भाई लक्ष्मण सिंह भी पहुंचे थे. कमलनाथ के सांसद पुत्र नकुलनाथ ने भी मास्क अभियान का समर्थन किया था. अब दिग्विजय सिंह ने अपने सुझाव और सलाह सीएम शिवराज सिंह चौहान को दिए हैं.

ये हैं दिग्विजय सिंह के सुझाव

- कोविड मरीज़ों के बेड बढ़ाएं.
- ऑक्सीजन की पर्याप्त व्यवस्था करें.

- रेमडेसिविर इंजेक्शन की व्यवस्था करें

- काला बाज़ारी करने वालों को दण्डित करें



- पीएचसी सिविल अस्पताल में RTPCR के किट रखवाएं.

- जांच के 24 घंटों में रिपोर्ट उपलब्ध कराएं.

- आयुष्मान कार्ड वालों का मुफ़्त में इलाज करवाएं

- मध्यम वर्गीय परिवारों को कम से कम ₹2 लाख का अनुदान दें

- किसी को भी खांसी सर्दी जुखाम बुख़ार हो उसे तत्काल घर में isolate कर RTPCR टेस्ट कराने का प्रचार करें.

- जिला प्रशासन से वीसी के बजाय अनुभवी डॉक्टरों से सलाह लें

- आम जनता के लिए ज़िलों में और मंत्रालय में 24 घंटे हेल्पलाइन प्रारंभ करें जिसकी आप स्वयं मॉनिटरिंग करें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज