Assembly Banner 2021

MP News: अगर मास्क नहीं पहना तो लाउडस्पीकर पर निबंध पढ़कर चौराहे पर मांगनी पड़ेगी माफी

राजधानी के सभी चौराहों पर चैकिंग पॉइंट्स लगाए जा रहे हैं. जो भी व्यक्ति बिना मास्क दिखेगा उसे वहीं पकड़ लिया जाएगा

राजधानी के सभी चौराहों पर चैकिंग पॉइंट्स लगाए जा रहे हैं. जो भी व्यक्ति बिना मास्क दिखेगा उसे वहीं पकड़ लिया जाएगा

Bhopal News: मध्‍य प्रदेश की राजधानी भोपाल कोरोना (Corona) के नए मामले में दूसरे स्‍थान पर है. साथ ही यहां कोरोना के सबसे ज़्यादा 4227 एक्टिव मरीज़ हैं.

  • Share this:
भोपाल. कोरोना (Corona) के तेज़ी से बढ़ते संक्रमण से निपटने के लिए भोपाल में प्रशासन ने सख्ती शुरू कर दी है. अब जो लोग बिना मास्क के घर से बाहर निकलेंगे उनसे स्पॉट फाइन तो वसूला ही जाएगा साथ ही उन्हें चौराहे पर सबके सामने माफी (apologize) मांगनी पड़ेगी. प्रशासनिक टीम इसके बाद भी आपको छोड़ेगी नहीं. वह आपके हाथ में लाउडस्पीकर पकड़ा देगी. उस पर आपको मास्क न पहनने की वजह सबको बतानी होगी और फिर एक निबंध पढ़ना होगा.

कोरोना संक्रमण बढ़ने और प्रशासन की सख्ती के बावजूद लोग मान नहीं रहे हैं. इसलिए अब ऐसे लापरवाह लोगों को सबक सिखाने की तैयारी प्रशासन ने कर ली है. सरकार लगातार लोगों से मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंस का पालन करने की अपील कर रहा है, लेकिन लोग हैं कि मान ही नहीं रहे हैं. वे खुलेआम बिना मास्क पहने सड़कों पर घूम रहे हैं और संक्रमण को न्‍योता दे रहे हैं.

Youtube Video




अब होगी सख्ती
प्रशासन ने तय कर लिया है कि अब बिना मास्क पहने लोगों से से स्पॉट फाइन वसूला जाएगा. साथ ही मास्क न पहनने के नुकसान और मास्क पहनने के फायदे पर एक निबंध भी मौके पर लिखवाया जाएगा. यह निबंध लाउडस्पीकर पर पढ़ना होगा और साथ में मास्क न पहनने की वजह बताकर माफी भी मांगनी होगी.

ऐसे लोगों की खैर नहीं
बिना मास्क पहने सड़क पर घूमने वाले लोगों की खैर नहीं रहने वाली है. ऐसे लोगों के लिए राजधानी के सभी चौराहों पर चेकिंग पॉइंट्स लगाए जा रहे हैं. जो भी व्यक्ति बिना मास्क दिखेगा उसे वहीं पकड़ लिया जाएगा और मौके पर ही उसे ये सारी सज़ा दे दी जाएंगी. डीआईजी इरशाद वली और कलेक्टर अविनाश लवानिया ने सभी अधिकारियों को इस गाइडलाइन का सख्ती से पालन करवाने के निर्देश दिए हैं.

कोरोना की रफ्तार
कोरोना तेजी से लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है. इसका सबसे ज्यादा असर राजधानी भोपाल, इंदौर और जबलपुर में दिख रहा है. सरकार संक्रमण रोकने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है. कुछ जिलों में रविवार लॉकडाउन के साथ नाइट कर्फ्यू भी लगाया गया है. बावजूद इसके संक्रमण की रफ्तार में किसी प्रकार की कमी नहीं आई है. कोरोना ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह की भी चिंता बढ़ा दी है. कोरोना संक्रमण बढ़ने की सबसे बड़ी वजह लोगों द्वारा बरती जा रही लापरवाही ही है.

भोपाल में हालात चिंताजनक
भोपाल में बुधवार 31 मार्च को कोरोना के 498 नये मरीज मिले. प्रदेश में कोरोना के दूसरे सबसे ज्यादा केस भोपाल में आए हैं. इसके साथ ही यहां कोरोना मरीज़ों का आंकड़ा बढ़ कर 51451 हो गया है. बुधवार को एक व्यक्ति की मौत भी हुई. इसे मिलाकर यहां मौत का आंकड़ा बढ़ कर 632 हो गया है. बुधवार को 382 लोग संक्रमण से ठीक हो कर अस्पताल से डिस्चार्ज होकर घर चले गए. भोपाल में अब तक 46592 लोग संक्रमण से ठीक हो चुके हैं. प्रदेश में सबसे ज्यादा भोपाल में 4227 कोरोना के एक्टिव मरीज़ हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज