सीहोर में शिवराज कैबिनेट की अनौपचारिक बैठक, जानिए कोरोना कंट्रोल के लिए मंत्रियों ने क्या दिए सुझाव ?" 

शिवराज कैबिनेट की ये बैठक सीहोर के एक होटल में हुई.(file photo)

Bhopal. प्रदेश में ग्राम स्तर तक 3 दिन वैक्सिनेशन का महाअभियान चलाया जाएगा. ये अभियान 1, 2 और 3 जुलाई को चलाया जाएगा.

  • Share this:
भोपाल. सीहोर में हुई शिवराज कैबिनेट (Shivraj Cabinet) की अनौपचारिक बैठक में कोरोना (Corona) और उसके बाद के हालातों पर मंथन किया गया. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने मंत्रियों से कोरोना की तीसरी लहर और वैक्सिनेशन से निपटने के लिए सुझाव मांगे. इसके साथ ही ये भी तय किया गया गया है कि प्रदेश में ग्राम स्तर तक 3 दिन वैक्सिनेशन का महाअभियान चलाया जाएगा. ये अभियान 1, 2 और 3 जुलाई को चलाया जाएगा.

सीएम ने कहा क्राइसेस मैनेजमेंट कमेटी पंचायत स्तर तक वैक्सिनेशन कराने में जुट जाएं. स्व सहायता समूह, कोरोना वालंटियर, जन अभियान परिषद, विधायक ,सांसद , जनप्रतिनिधि और जिले का प्रशासनिक अमला सब लोग वैक्सिनेशन के महाअभियान में जी जान से लग जाएं.

किस मंत्री ने क्या सुझाव दिया ? 

विश्वास सारंग-हम तेजी से स्वास्थ्य व्यवस्थाओं और मज़बूत कर रहे हैं. हमारा विभाग हेल्थ वर्कर की प्रभावी ट्रेनिंग पर ध्यान दे रहा है. ग्रामीण क्षेत्रों के डॉक्टरों की भूमिका भी प्रमुख है इसलिये उन्हें भी विशेष ट्रेनिग दी जा रही है. तीसरी लहर की तैयारी के लिये बच्चों के पेरेंट्स को भी ट्रेनिंग दी जाएगी. मुख्यमंत्री के नेतृत्व में निचले स्तर तक सतत संवाद और मॉनिटरिंग की गई है उसी का परिणाम है कि हम देश मे अच्छी स्थिति में हैं.

प्रभु राम चौधरी
प्रभु राम चौधरी ने कोरोना की दूसरी लहर कंट्रोल करने और मध्यप्रदेश मॉडल के लिये मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया. उन्होंने बताया कि तीसरी लहर की आशंका में 21 हजार ऑक्सीजन बेड, 5 हजार icu बेड की बढ़ोतरी की गई. बच्चों के लिये भी 22 सौ ऑक्सीजन बेड तैयार हो रहे हैं. थर्ड वेब के लिए हम लोग तैयार हैं. चौधरी ने कहा यही कोशिश है कि तीसरी लहर को हम आने ही न दें

तुलसी सिलावट- तुलसी सिलावट ने ऑक्सीजन प्लांट, बेड, मेडिसिन, डॉक्टर बढ़ाने और कोविड अनकूल व्यवहार करने का सुझाव दिया.

ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर बोले कि योजनाओं पर नीचे तक अमल हो. और उसकी समीक्षा की जाए.
जो बच्चे अनाथ हो गए, उनको योजनाओं का लाभ मिले.

कृषि मंत्री कमल पटेल ने बताया कि किल कोरोना अभियान सार्थक रहा. हमें इसे सतत जारी रखना होगा. उन्होंने ये भी सुझाव दिया कि ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाएं दे रहे लोगो की मदद लेना चाहिये
वैक्सीनेशन में भी हम उनका उपयोग कर सकते हैं.

 इंदर सिंह परमार ने ग्रामीण क्षेत्रो में रोगी कल्याण समितियों के माध्यम से स्वास्थ्य सेवाएं मजबूत करने की ज़रूरत बतायी.

मीना सिंह बोलीं कि ग्रामीण क्षेत्रों में वैक्सीन लगवाने के लिए कई बार दूर जाना पड़ता हैं, वैक्सीन के लिए गांव में ही व्यवस्था की जाए, जिससे सभी ग्रामीणों को समय पर टीका लग सकें.

 जगदीश देवड़ा ने सुझाव दिया कि हमें गांव की जनता के मन से वैक्सीनेशन का डर हटाना है

 गोपाल भार्गव ने सुझाव दिया कि अगर कोरोना की तीसरी लहर पर काबू पाना है तो हमारे जो डॉक्टर मैदानी क्षेत्र में तैनात हैं उन्हें ट्रेनिंग देना चाहिए. ग्रामीण क्षेत्रो में प्रमुख दवाइयों और अन्य प्राथमिक आवश्यकताओं के लिए जागरुक करना चाहिए.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.