COVID 19: भोपाल में दिनों दिन बढ़ता जा रहा है Corona का कहर, 756 से भी ज्यादा मामले
Bhopal News in Hindi

COVID 19: भोपाल में दिनों दिन बढ़ता जा रहा है Corona का कहर, 756 से भी ज्यादा मामले
कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण भोपाल रेड जोन में बना हुआ है.

10 मई तक 756 कोरोना संक्रमित (Corona Infected) मरीज भोपाल शहर में मिल चुके हैं. जबकि लगातार बढ़ते संक्रमित मामलों के पीछे का कारण कम्युनिटी ट्रांसमिशन माना जा रहा है. इसी वजह से भोपाल (Bhopal) को रेड जोन में रखा गया है.

  • Share this:
भोपाल. राजधानी भोपाल में कोरोना वायरस (Coronavirus) का संक्रमण अपना दायरा बढ़ाता ही जा रहा है. मई के महीने की शुरुआत से कोरोना के मरीज रोजाना बढ़ते ही चले जा रहे हैं. 1 मई को 518 मरीज संक्रमण की चपेट में थे, तो 2 मई को ये आंकड़ा 524 हो गया. जबकि 3 मई तक 539 और 4 मई तक 561 मरीज हो गए. लेकिन 5 मई को संख्या बढ़कर 597 हो गई तो 8 मई तक शहर में कोरोना केस 686 तक पहुंच गए. जबकि 10 मई तक 756 कोरोना संक्रमित मरीज शहर में मिल चुके हैं.

रेड जोन में है भोपाल
लगातार कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण भोपाल रेड जोन में है तो घनी आबादी के 3 हॉटस्पॉट एरिया शहर के लिए डेजर ज़ोन बन गए हैं. शहर के जहांगीराबाद और मंगलवारा इलाके के बाद अब कोहेफिजा से भी तेजी से मरीज सामने आते जा रहे हैं. हर दिन यहां से कोरोना के शिकार बने मरीज़ मिलते ही जा रहे हैं. इन जोन में इंजेक्शन तेज़ी से कम्युनिटी स्प्रेड के जरिए बढ़ता जा रहा है. हालात ये हैं कि जहांगीराबाद, मंगलवारा और कोहेफिजा में एक परिवार के 2 से लेकर 6 सदस्य तक संक्रमित हैं. शहर के 85 वार्डों में से मात्र 12 वार्डों में ही संक्रमितों की संख्या सर्वाधिक है.अगर पुलिस थानों के अनुसार बांटे गए इलाकों पर नजर डालें तो सबसे ज्यादा 138 संक्रमित मरीज सिर्फ जहांगीराबाद थाना क्षेत्र में ही मिले हैं. इतवारा, मंगलवारा और शाहजहांनाबाद इलाकों में भी संक्रमण कम्युनिटी में फैलता जा रहा है. इन इलाकों से बड़ी संख्या में स्वास्थ्यकर्मी भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं.

ये है सबसे बड़ी परेशानी
संक्रमण बढ़ने का सबसे बड़ा कारण है पुराने शहर के वो घनी आबादी वाली बस्तियां जिसका कोई हल प्रशासन नहीं निकाल पा रहा है. दरअसल, इन इलाकों में मकान आपस में सटकर बने हैं. सकरी गलियां और एक ही मकान में कई परिवारों का रहना कोरोना कंट्रोल में बड़ी समस्या है. सरकारी रिपोर्ट के अनुसार शहर के 85 में से 6 वार्ड रेड जोन और 6 ऑरेंज जोन में शामिल हैं. इनमें 8 मई तक सर्वाधिक 79 पॉजिटिव केस वार्ड 34 के हैं.



ये भी पढ़ें

...तो MP के उपचुनाव में गमछा और चूरन के सहारे उतरेगी भाजपा

कोरोना संकट के बीच भोपाल में Water Crisis,12 फीसदी बोर सूखे, रोज 70 शिकायतें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज