भोपाल लॉकडाउन: छावनी बनी राजधानी, 200 से ज्यादा चेकिंग पॉइंट बनाएं, कंटेनमेंट इलाकों की ड्रोन से निगरानी

भोपाल में लॉकडाउन के दौरान  पूरा शहर छावनी बना हुआ है. कंटेनमेंट इलाकों में ड्रोन से निगरानी हो रही है.

भोपाल में लॉकडाउन के दौरान पूरा शहर छावनी बना हुआ है. कंटेनमेंट इलाकों में ड्रोन से निगरानी हो रही है.

Bhopal Lockdown: भोपाल में बढ़ते कोरोना केस को लेकर संडे को लॉकडाउन लगाया गया है. ऐसे में शहर में चप्पे-चप्पे पर पुलिस का पहरा है. 200 से ज्यादा चेकिंग पॉइंट पर 3000 पुलिस अधिकारी कर्मचारी ड्यूटी कर रहे हैं. कंटेनमेंट, संवेदनशील और घनी आबादी वाले इलाकों में ड्रोन नजर रखी जा रही है.

  • Last Updated: March 28, 2021, 5:00 PM IST
  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना संक्रमण की बढ़ती रफ्तार की वजह से संडे को लॉकडाउन (Lockdown in Bhopal) लगाया है. लॉकडाउन और होली त्योहार को देखते हुए चप्पे-चप्पे पर पुलिस का पहरा है. शहर में 200 से ज्यादा चेकिंग पॉइंट पर 3000 पुलिस अधिकारी कर्मचारी तैनात हैं. कंटेनमेंट इलाकों (Containment area), संवेदनशील और घनी आबादी वाले इलाकों में ड्रोन और सर्विलांस सिस्टम से आवाजाही पर नजर रखी जा रही है.

शहर को छावनी में तब्दील कर दिया गया है. विशेष चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है. डीआईजी इरशाद वली के अनुसार, 200 से अधिक स्थानों पर नाकाबंदी कर विशेष चेकिंग की जा रही है. घनी आबादी वाले क्षेत्रों, संवेदनशील इलाकों में ड्रोन कैमरों से विशेष निगरानी की जा रही है. भोपाल में 3000 से अधिक अधिकारी, कर्मचारी सुरक्षा व्यवस्था में तैनात हैं. सभी थाना क्षेत्रों में करीब 150 मोबाइल पार्टी से पेट्रोलिंग, अलाउंसमेंट किया जा रहा है. सीसीटीवी सर्विलांस से आवाजाही पर नजर रखी जा रही है.

Bhopal lockdown, Cantonment becomes Bhopal, 200 checking points, containment area, drone surveillance, MP Corona, Corona in Bhopal, CM Shivraj Singh Chauhan
भोपाल लॉकडाउन के दौरान 3 हजार पुलिस के जवान और अधिकारी ड्यूटी कर रहे हैं.


कोरोना को कंट्रोल करना है मकसद
कोरोना संक्रमण को कंट्रोल करने के लिए लॉकडाउन और त्यौहार के दौरान शांति सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर शहर बेरिकेडिंग कर आवाजाही करने वालों, बेवजह घूमने और मास्क नही पहनने वालों की चेकिंग की जा रही हैं. बेवजह बाहर घूमने वालों और बगैर मास्क के घूमने वालों के विरुद्ध सम्बंधित थाने में वैधानिक कार्रवाई की जा रही है. घनी आबादी और संवेदनशील इलाकों में ड्रोन कैमरों से विशेष निगरानी रखी जा रही है. वहीं विभिन्न क्षेत्रों में सीसीटीवी सर्विलांस व्हीकल्स से लोगों की आवाजाही और गतिविधियों पर नजर रखी जा रही है. साथ ही पुलिस कंट्रोल रूम में संचालित सीसीटीवी सर्विलांस से विभिन्न क्षेत्रों में भी मॉनिटरिंग की जा रहीं है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज