अपना शहर चुनें

States

मध्य प्रदेश में इस बार जनता से पूछकर बनेगा राज्य का बजट, आत्मनिर्भर MP पर फोकस

सीएम शिवराज (CM Shivraj) ने ऐलान किया है कि प्रदेश के हर स्कूल में अब पोषण वाटिका बनाई जाएगी. पोषण वाटिका को मां की बगिया नाम दिया जाएगा.
सीएम शिवराज (CM Shivraj) ने ऐलान किया है कि प्रदेश के हर स्कूल में अब पोषण वाटिका बनाई जाएगी. पोषण वाटिका को मां की बगिया नाम दिया जाएगा.

सीएम शिवराज (CM Shivraj) ने ऐलान किया है कि प्रदेश के हर स्कूल में अब पोषण वाटिका बनाई जाएगी. पोषण वाटिका को मां की बगिया नाम दिया जाएगा.

  • Share this:
भोपाल.मध्य प्रदेश सरकार (MP Government) ने बजट की तैयारी शुरू कर दी है. यह पहला मौका होगा जब सरकार बजट (Budget) बनाने के लिए जनता उद्योगपतियों और विशेषज्ञों से भी सुझाव लेगी. सीएम शिवराज ने ऐलान किया है कि राज्य का अगला बजट आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश पर फोकस होगा. प्रदेश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए सरकार हर वर्ग से सुझाव लेगी.

सीएम शिवराज ने कहा सरकार mygov पोर्टल पर आम लोगों से आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश के लिए सुझाव लेगी. उन्हीं सुझावों के आधार पर राज्य का अगला बजट तैयार किया जाएगा. मुख्यमंत्री ने कहा अब तक राज्य का बजट मंत्री और अधिकारी तैयार करते थे लेकिन अब सरकार जनता से सुझाव लेकर प्रदेश का बजट बनाएगी.

हर स्कूल में पोषण वाटिका
सीएम शिवराज ने ऐलान किया है कि प्रदेश के हर स्कूल में अब पोषण वाटिका बनाई जाएगी. पोषण वाटिका को मां की बगिया नाम दिया जाएगा. मनरेगा की राशि से पोषण वाटिका तैयार की जाएंगी.जिन स्कूलों में वाटिका के लिए जगह नहीं है वहां गांव में पोषण वाटिका बनाई जाएगी. सीएम शिवराज ने हर स्कूल में किचन शेड भी बनाने का ऐलान किया है. साथ ही सरकार मां की बगिया की देखरेख में स्कूली बच्चों की भी मदद लेगी. सीएम शिवराज ने आज भोपाल में ढाई हजार के किचन शेड और 7100 पोषण वाटिकाओं का लोकार्पण किया.



कांग्रेस पर तंज
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है 1 दिन पहले उनके विधान सभा क्षेत्र में कांग्रेस के बड़े नेता किसान सम्मेलन करने पहुंचे थे. लेकिन ट्रैक्टर पर सवार कांग्रेस नेताओं को ट्रॉली में बैठाने के लिए किसान नहीं मिले. मुख्यमंत्री ने कहा राज्य सरकार ने किसान हित में तेजी से फैसले लिए हैं. अब तक किसानों के खाते में अलग-अलग योजनाओं के 82 करोड रुपए डाले गए हैं. किसानों के खिलाफ फैसले लेने वाली कांग्रेस पार्टी पर अब किसानों का भरोसा नहीं रहा है. किसान सम्मेलनों से अब कांग्रेस को कुछ फायदा नहीं होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज