Assembly Banner 2021

MP में कोरोना पर फिर सख्ती, महाराष्ट्र से आने-जाने वाली बसों पर 20 मार्च से प्रतिबंध

bhopal-cm शिवराज ने मध्य प्रदेश में कोरोना के हालात की समीक्षा की.

bhopal-cm शिवराज ने मध्य प्रदेश में कोरोना के हालात की समीक्षा की.

BHOPAL-महाराष्ट्र (Maharashtra) में बनी कोरोना की विस्फोटक स्थिति को देखते हुए महाराष्ट्र से आने-जाने वाली यात्री बसों के आवागमन पर 20 मार्च से रोक लगा दी गयी है.

  • Share this:
भोपाल.मध्य प्रदेश में कोरोना (Corona) की बढ़ती रफ्तार को देखते हुए सरकार लगातार सख्त फैसले ले रही है. अब महाराष्ट्र (Maharashtra) से आने और जाने वाली बसों पर प्रतिबंध लगा दिया गया है.20 मार्च से अब महाराष्ट्र से कोई बस एमपी में न तो आ सकेगी और न ही जाने की इजाज़त होगी. गुरुवार को हुई सीएम शिवराज की वीडियो कांफ्रेंसिंग में कोरोना की स्थिति की समीक्षा की गई. बैठक में सभी कलेक्टर, कमिश्नर, सीएमएचओ और मेडिकल कॉलेज के डीन भी शामिल हुए.

वीडियो कांफ्रेंसिंग में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कोरोना संक्रमण फिर तेजी से फैल रहा है.इसके नियंत्रण के‍ लिए आर्थिक गतिविधियों पर रोक नहीं लगाई जा सकती.व्यापार और रोजगार में कोरोना से बचाव के लिए सावधानियों का कड़ाई से पालन करें, नहीं तो सरकार कड़ाई करेगी. यह प्रदेश में गुड गवर्नेंस की परीक्षा है.बिना पेनिक करें हमें कोरोना को परास्त करना है.

बैठक में आला मंत्री और अफसर मौजूद
मंत्रालय से इस वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी, मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान, पुलिस महानिदेशक विवेक जौहरी भी शामिल हुए.
 महाराष्ट्र से आने-जाने वाली यात्री बसों पर रोक


महाराष्ट्र में बनी कोरोना की विस्फोटक स्थिति को देखते हुए महाराष्ट्र से आने-जाने वाली यात्री बसों के आवागमन पर 20 मार्च से रोक लगा दी गयी है. मुख्यमंत्री ने कोविड टीकाकरण में प्रदेश को 5 लाख डोज रोज लगाने के लिए तत्काल आवश्यक व्यवस्थाएं करने के निर्देश भी दिए. इसके साथ ही ग्वालियर, जबलपुर सहित प्रदेश के सर्वाधिक प्रभावित जिलों उज्जैन, सागर, बैतूल, बुरहानपुर, खरगोन, रतलाम और‍ छिंदवाड़ा में भी रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक व्यावसायिक प्रतिष्ठान और बाजार बंद रखने का फैसला लिया गया.

सात दिन में इंदौर में 1778, भोपाल में 1170 नये मरीज़
मुख्यमंत्री ने बैठक में कहा प्रदेश को कठिनतम परिस्थितियों से निपटने के लिए भी तैयार रहना होगा.बैठक में जानकारी दी गई कि पिछले सात दिन में इंदौर में 1778, भोपाल में 1170, जबलपुर में 358, ग्वालियर में 185, उज्जैन में 187, रतलाम में 162, छिंदवाड़ा में 147, बुरहानपुर में 130, बैतूल में 110 और खरगोन में 92 कोरोना पॉजिटिव प्रकरण दर्ज किए गए हैं. ग्वालियर मेला कब चत चलेगा इस संबंध में फैसला लेने के लिए क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप को अधिकार दिया गया है.

भोपाल में तीन दिन में हुए 5 हजार चालान
बैठक में भोपाल कलेक्टर ने बताया कि 42 फीवर क्लीनिक संचालित किए जा रहे हैं. मास्क लगाने पर विशेष जोर दिया जा रहा है.पिछले 3 दिन में मास्क न पहनने वाले 5 हजार लोगों के चालान काटे गए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज