मध्य प्रदेश के विधायक कोरोना को भूल मांगें ‘कूल-कूल’, जानिए पूरा माजरा

AC की मांग करने में कांग्रेस-बीजेपी के विधायक एक साथ हैं.

AC की मांग करने में कांग्रेस-बीजेपी के विधायक एक साथ हैं.

कोरोना संकटकाल में विधायकों की मांग पर सवाल उठने लगे हैं कि क्या वाकई उन्हें एसी की सुविधा मिलना चाहिए, या फिर सबसे पहले चिंता उस तबके की होना चाहिए, जो कोरोना संक्रमण के दौर में अपनी रोजी-रोटी को लेकर परेशान है.

  • Share this:
भोपाल. एमपी में कोरोना संक्रमण के भयावह हालात और मौत के आंकड़े सबको डरा रहे हैं. लॉकडाउन के कारण फिर से लोगों के सामने रोजी-रोटी का संकट खड़ा होने लगा है. लेकिन इस सबसे बेपरवाह प्रदेश के माननीय विधायकों को तो ये चिंता सता रही है कि उन्हें कहीं गर्मी न लग जाए. वो कोरोना संकट को भूल गर्मी में कूल बने रहने की चिंता में डूब गए हैं. हर दिन चढ़ रहे पारे के बीच माननीय विधायक विधानसभा सचिवालय से एसी (AC) मुहैया कराने की मांग कर रहे हैं.

पूर्व मंत्री डॉक्टर गोविंद सिंह ने कहा विधायकों को गर्मी से बचाने के लिए एसी की सुविधा दी जाना चाहिए. जब गर्मी में प्रशासनिक अफसरों को एयर कंडीशनर की सुविधा मिल रही है, तो विधायकों को इससे क्यों दूर रखा गया है. डॉक्टर गोविंद सिंह ने कहा यदि कोरोना काल में सरकार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है तो विधायकों को गर्मी से बचने के लिए कम से कम कूलर दे देना चाहिए.

Youtube Video


ठंडा-ठंडा कूल-कूल
कांग्रेस के विधायक ही नहीं बल्कि बीजेपी के विधायक भी गर्मी में ठंडा ठंडा कूल-कूल मांग रहे हैं. बीजेपी विधायक यशपाल सिंह सिसोदिया ने कहा विधायक विश्राम गृह में जिन विधायकों को कमरे एलॉट किए गए हैं, वहां पर कहीं कूलर हैं, कहीं पर नहीं हैं. पहले विधानसभा ने एक प्रस्ताव वित्त विभाग को भेजा था, जिसके तहत विधायकों को एसी की सुविधा दी जानी थी. लेकिन वह नहीं मिल सका है और ऐसे में कुछ विधायकों ने निजी खर्चे पर गर्मी से बचने के लिए एसी लगा लिया है. यदि विधानसभा विधायकों को एसी की सुविधा देता है, तो यह स्वागत योग्य कदम होगा.

स्पीकर ने भी कहा-एसी दिया जाए

विधायकों के गर्मी से बचने के लिए एसी की मांग पर विधानसभा स्पीकर गिरीश गौतम (Speaker Girish Gautam) का भी बड़ा बयान आया है. उन्होंने कहा विधायकों को एसी की सुविधा मिलना चाहिए. गर्मी में तापमान 44.46 डिग्री के पार हो जाता है. ऐसे में विधानसभा की कोशिश है कि विधायकों को एसी दिया जाए. विधायकों के लिए बनने वाले नए भवन में एसी की सुविधा होगी. मौजूदा हालात में भी विधायकों को एसी की सुविधा मिल सके, इसके लिए वित्त विभाग को प्रस्ताव भेजा जाएगा.





जनता की चिंता या विधायकों की फिक्र

प्रदेश में कोरोना संक्रमण के कारण लॉक डाउन से जनजीवन बुरी तरीके से प्रभावित हुआ है. मजदूरों का पलायन शुरू हो चुका है. उद्योगों में मंदी आना शुरू हो गई है. लेकिन इन सबके बीच चढ़ते पारे में ठंडक की तलाश कर रहे विधायकों की मांग पर सवाल उठने लगे हैं कि क्या वाकई उन्हें एसी की सुविधा मिलना चाहिए, या फिर चिंता उस तबके की होना चाहिए जो कोरोना संक्रमण के इस दौर में अपनी रोजी-रोटी को लेकर परेशान है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज