अपना शहर चुनें

States

BHOPAL : विधानसभा सत्र के दौरान 5 किमी.दायरे में भारी वाहनों की नो एंट्री, कांग्रेस 28 को ट्रैक्टर की सवारी पर अड़ी

mp विधानसभा का सत्र 28 दिसंबर से शुरू हो रहा है.
mp विधानसभा का सत्र 28 दिसंबर से शुरू हो रहा है.

पूर्व मंत्री जीतू पटवारी (Jitu patwari) ने ट्वीट कर कहा शिवराज सरकार (Shivraj government) द्वारा विधानसभा सत्र से पहले शहर में ट्रैक्टर ट्राली और बैलगाड़ी पर प्रतिबंध लगाने का आदेश किसान विरोधी मानसिकता को दर्शाता है.

  • Share this:
भोपाल. किसान आंदोलन के समर्थन में कांग्रेस (Congress) पार्टी ने 28 दिसंबर को विधानसभा (Assembly) घेराव का ऐलान किया है. कांग्रेस के सभी विधायक ट्रैक्टर पर सवार होकर विधानसभा जाने की तैयारी में हैं.लेकिन उससे पहले कांग्रेस के विधानसभा घेराव पर भोपाल जिला प्रशासन में नो एंट्री का बोर्ड लगा दिया है.भोपाल कलेक्टर अविनाश अलावारिया ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिया है. विधानसभा के आसपास 5 किलोमीटर की परिधि में कोई भी भारी वाहन लेकर प्रवेश करने पर रोक लगा दी है.

जिला कलेक्टर के आदेश के तहत ट्रैक्टर-ट्रॉली-डंपर- तांगा और बैलगाड़ी की नो एंट्री रहेगी. विधानसभा सत्र के दौरान इस इलाके में धारा 144 लागू रहेगी. जिला प्रशासन के इस आदेश के बाद कांग्रेस का ट्रैक्टर पर सवार होकर विधानसभा घेराव करने का प्लान फीका पड़ता हुआ नजर आ रहा है.

कांग्रेस ने विरोध जताया
कलेक्टर के आदेश के बाद कांग्रेस भी भड़क उठी है. पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने ट्वीट कर कहा शिवराज सरकार द्वारा विधानसभा सत्र से पहले शहर में ट्रैक्टर ट्राली और बैलगाड़ी पर प्रतिबंध लगाने का आदेश किसान विरोधी मानसिकता को दर्शाता है. सरकार के तुगलकी फरमान कांग्रेस और किसानों की आवाज दबाने के लिए जारी किए जा रहे हैं. लेकिन 28 दिसंबर को सभी विधायक ट्रैक्टर पर ही विधानसभा जाएंगे.



कांग्रेस के प्लान का क्या होगा
प्रदेश में किसानों के मुद्दे पर कांग्रेस अब बीजेपी पर हमला हमलावर है. कांग्रेस पार्टी ने 28 दिसंबर से शुरू होने वाले विधानसभा सत्र के पहले दिन ही किसानों के साथ ट्रैक्टर पर सवार होकर विधानसभा घेराव करने का प्लान तैयार किया है. लेकिन अब जिला प्रशासन के आदेश से कांग्रेस का यह प्लान फेल साबित होता हुआ नजर आ रहा है. अब देखना यह होगा कि विधानसभा सत्र के पहले दिन कांग्रेस पार्टी विधानसभा का घेराव करने के लिए क्या ट्रैक्टर का इस्तेमाल करती है या फिर फिर विरोध का कोई दूसरा तरीका अपनाती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज