MP के हमीदिया से चोरी किए Remdesivir इंजेक्शन दिल्ली पहुंचे, जानिए आखिर कैसे

भोपाल के हमीदिया अस्पताल से रेमेडिसविर इंजेक्शन चोरी हुए हैं.

भोपाल के हमीदिया अस्पताल से रेमेडिसविर इंजेक्शन चोरी हुए हैं.

भोपाल के हमीदिया अस्पताल (Hamidia Hospital) से रेमेडिसविर इंजेक्शन (Remdesivir Injection) चोरी होने के मामले पुलिस ने अब तक 35 लोगों से पूछताछ की है. इस दौरान कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं.

  • Share this:
भोपाल. मध्‍य प्रदेश की राजधानी भोपाल के हमीदिया अस्पताल (Hamidia Hospital) में रेमेडिसविर इंजेक्शन (Remdesivir Injection) चोरी होने के मामले में अब जांच के दौरान कई बड़े खुलासे हो रहे हैं. हमीदिया अस्पताल में स्थित सेंट्रल ड्रग स्टोर से लेकर कोविड-19 सेंटर के बीच बड़ी धांधली उजागर हुई है. इस मामले में अभी तक 35 लोगों से पूछताछ की जा चुकी है.

यही नहीं, रेमेडिसविर इंजेक्शन चोरी के मामले में स्टोर के फार्मेसिस्ट पर भी भी शक है. पुलिस को रेमेडिसविर इंजेक्शन के छह डोज दिल्ली में पहुंचने की जानकारी मिली है. यह डोज अस्‍पताल में भर्ती स्टोर के फार्मेसिस्ट के साले को दिए गए थे.

पुलिस ने 35 लोगों से की पूछताछ

भोपाल पुलिस ने स्टोर के फार्मेसिस्ट समेत 35 लोगों से पूछताछ की है. पूछताछ में 6 रेमेडिसविर इंजेक्शन दिल्ली में भर्ती फार्मासिस्ट के साले को लगने का खुलासा हुआ है. बता दें कि कोविड सेंटर के रिकॉर्ड का मिलान सेंट्रल स्टोर के स्टाफ से नहीं हो रहा है. सेंट्रल ड्रग स्टोर से 10 अप्रैल से 16 अप्रैल तक कोविड सेंटर की डिमांड पर 548 इंजेक्शन भेजे गए, लेकिन कोविड सेंटर के स्टोर से इंचार्ज को मरीजों के लिए 458 इंजेक्शन ही मिले. जबकि नर्सिंग स्टाफ ने रिकॉर्ड में स्टोर से 850 इंजेक्शन भेजे जाने की बात कही है. ऐसे में हमीदिया अस्पताल के सेंटर ड्रग स्टोर और डी ब्लॉक के कोविड सेंटर के बीच रेमेडिसविर इंजेक्शन की बड़ी गड़बड़ी सामने आई है. चोरी के पीछे अस्पताल के स्टाफ पर पुलिस की शक की सुई है.
कोरोना कर्फ्यू में वैक्सीनेशन हुआ डाउन

रविवार को वैक्सीनेशन की रफ्तार धीमी रही. इस दौरान 10 केंद्रों पर सिर्फ 510 लोगों ने टीका लगा. पिछले हफ्ते 1 दिन में 14000 लोगों ने टीका लगा था.

साईं सेंटर बंद किया



भोपाल स्थित भारतीय खेल प्राधिकरण (साईं) सेंटर में 8 नए केस सामने आए हैं. अब साईं में 68 कोरोना मरीजों की संख्या पहुंच गई है. 44 खिलाड़ी और 24 कोच समेत स्टाफ संक्रमित हुआ है. यही वजह है कि लगातार बढ़ रहे मरीज के चलते सभी कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम दिया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज