भोपाल पुलिस लौटा रही 'लापता' फोन, जवानों ने 3 महीने में ढूंढे 50 से ज्यादा मोबाइल
Bhopal News in Hindi

भोपाल पुलिस लौटा रही 'लापता' फोन, जवानों ने 3 महीने में ढूंढे 50 से ज्यादा मोबाइल
मोबाइल फोन के लापता मामलों के लिए स्पेशल सेल बनाया गया है.

ध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के भोपाल जोन (Bhopal Zone) की राजगढ़ पुलिस (Police) की एक स्पेशल साइबर टीम उन लोगों के चेहरों पर मुस्कान लौटाने का काम कर रही है, जिनके मोबाइल फोन किसी कारणवश लापता हो गए या फिर चोरी हो गए.

  • Share this:
भोपाल. एक बार यदि मोबाइल फोन कहीं गुम या चोरी हो जाता है तो उसे वापस पाने की उम्मीद ना के बराबर रहती है, लेकिन मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के भोपाल जोन (Bhopal Zone) की राजगढ़ पुलिस (Police) की एक स्पेशल साइबर टीम उन लोगों के चेहरों पर मुस्कान लौटाने का काम कर रही है, जिनके मोबाइल फोन किसी कारणवश लापता हो गए या फिर चोरी हो गए. पुलिस ने इस स्पेशल सेल को खासतौर से मोबाइल को ढूंढने के लिए लगा रखा है, जिसमें पांच जवानों की तैनाती की गई है.

मध्यप्रदेश में सबसे ज्यादा मोबाइल चोरी या लापता की घटना होती है. इन मोबाइल की रिकवरी रेट महज 25 परसेंट ही है. बाकी मोबाइल कहां जाते हैं इसका पता अभी तक नहीं चल सका है. साइबर अपराधी इन मोबाइल को आसानी से ठिकाने लगा देते हैं और यह मोबाइल कभी भी उन लोगों तक पहुंच नहीं पाते जो बड़े खुश होकर इनकी खरीदी करते हैं. इनमें अधिकांश मोबाइल महंगे होते हैं जो व्यक्ति एक बार खरीद कर उसे लंबे समय तक चलाने की कोशिश करता है.

भोपाल जोन की पहल
भोपाल जोन में आने वाले राजगढ़ जिले में साइबर की स्पेशल बनाई है. यह स्पेशल टीम गुमे और चोरी हुए मोबाइलों का पता लगाती है. जिले के थाना क्षेत्र अंतर्गत मोबाइल गिर जाने और गुम हो जाने की घटनाओं के चलते लोग उनके महंगे महंगे मोबाइल ढूंढने के लिए पुलिस में शिकायत करते हैं. लगातार मोबाइल घूमने और चोरी होने की घटना के मद्देनजर पुलिस कप्तान प्रदीप शर्मा ने जिले की साइबर शाखा मोबाइल ढूंढने के लिए स्पेशल टीम बनाकर उसे तमाम बिंदुओं पर जांच करने के निर्देश दिए थे. निर्देशों के पालन में साइबर शाखा की स्पेशल टीम ने जिले के अलग-अलग थाना क्षेत्रों से गुम हुए मोबाइलों की खोज करना प्रारंभ की.
3 महीने में 50 से अधिक मोबाइल लौटाए


3 माह के भीतर 50 से अधिक मोबाइलों की रिकवरी की गई है. मोबाइलों को जिला पुलिस अधीक्षक प्रदीप शर्मा द्वारा अपने हाथों से आवेदकों को लौटाया जा रहा है. इस दौरान आवेदकों ने पुलिस टीम सहित जिला पुलिस कप्तान का ह्रदय से धन्यवाद दिया है. कुछ लोग तो यह भी कह रहे थे कि हम उम्मीद खो चुके थे. परंतु आपके द्वारा जल्द से जल्द मोबाइल को रिकवर कर उपलब्ध कराने का कार्य निश्चित रूप से सराहनीय है.

चेहरों पर लौटी मुस्कान
मोबाइल धारकों को मोबाइल मिलने के उपरांत उनके चेहरे पर मुस्कान नजर आई. लोगों ने राजगढ़ पुलिस का धन्यवाद दिया. 3 महीने में पांच पुलिसकर्मियों की टीम ने कमाल करते हुए 50 से ज्यादा मोबाइल को ढूंढने में सफलता हासिल की. जिले की साइबर सेल की स्पेशल टीम में साइबर प्रभारी उप निरीक्षक अवधेश सिंह तोमर, आरक्षक शशांक सिंह यादव, आरक्षक रवि कुशवाह, आरक्षक प्रदीप शर्मा और आरक्षक पवन मीणा शामिल हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज