Assembly Banner 2021

होमगार्ड जवान की मौत: जेपी अस्पताल के कोविड वार्ड के टॉयलेट की 48 घंटे से नहीं हुई थी सफाई

bhopal. होमगार्ड जवान पुष्पराज जे पी अस्पताल के कोविड वॉर्ड में भर्ती था.

bhopal. होमगार्ड जवान पुष्पराज जे पी अस्पताल के कोविड वॉर्ड में भर्ती था.

Bhopal News: आबकारी विभाग में पदस्थ होमगार्ड जवान (Home guard) पुष्पराज गौतम को भोपाल के जेपी अस्पताल में भर्ती कराया गया था. रविवार रात 8 बजे के बाद से वो लापता थे. मंगलवार को अस्पताल के टॉयलेट में उनकी लाश मिली थी.

  • Share this:
भोपाल. मध्‍य प्रदेश की राजधानी भोपाल में होमगार्ड (Home Guard) जवान पुष्पराज गौतम का जेपी अस्पताल के कोविड वार्ड (Covid 19) के टॉयलेट में शव मिलने के बाद कई सवाल उठ रहे हैं. जवान की मौत ने राजधानी भोपाल के इस ज़िला अस्पताल की अव्यवस्था और स्टाफ की गैर ज़िम्मेदारी की पोल खोल कर रख दी है. अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही को लेकर न्यूज़ 18 कुछ सवाल उठा रहा है कि आखिर कोरोना वार्ड में लापरवाही कैसे हुई और जवान की मौत के लिए कौन जिम्मेदार है.

जेपी ज़िला अस्पताल के इस कोविड वॉर्ड में तीन शिफ्ट में एक साथ 5 से 6 कर्मचारियों की ड्यूटी लगायी गई है. वार्ड ब्‍वॉय, आया के साथ तीन डॉक्टर्स की ड्यूटी के बाद भी वॉर्ड में भर्ती होमगार्ड जवान कैसे गायब हो गया. बिना पूछताछ (चेकिंग) के वो कोविड वॉर्ड से कैसे बाहर निकला. किसी की नज़र उस पर क्यों नहीं पड़ी. वो बिना चेकिंग कैसे बाहर निकला. परिवार या बाहरी व्यक्तियों से मिलने मिलाने को लेकर एंट्री रजिस्टर के बिना ही कोविड वार्ड में सभी को एंट्री दी जा रही है.

हर दो घंटे में टॉयलेट सफाई का नियम
होमगार्ड जवान रविवार रात साढ़े आठ बजे से लापता था. जब कहीं संपर्क नहीं हो पाया तब परिवार वालों ने सोमवार शाम उसके लापता होने की रिपोर्ट पुलिस से की. उसके 24 घंटे बाद जवान की लाश अस्पताल के कोविड वॉर्ड के टॉयलेट में ही पड़ी मिली. वॉर्ड में तैनात कर्मचारियों का कहना है हर 2 से 3 घंटे में अस्पताल के कोविड वार्ड के टॉयलेट की साफ सफाई की जाती है. पेशेंट के टॉयलेट से आने के बाद भी टॉयलेट की सफाई होती है. ऐसे में सीधे यही बात सामने आ रही है कि टॉयलेट की सफाई 24 से 48 घंटे तक नहीं की गयी थी. अगर सफाई होती तो स्टाफ को होमगार्ड जवान वहां पड़ा मिलता
ऊपर से खुला टॉयलेट, डॉक्टर नदारद


कोविड वार्ड में भर्ती कोरोना पेशेंट होमगार्ड जवान के परिवार का कहना है कि उस टॉयलेट की 2 दिन से सफाई नहीं हुई. टॉयलेट के ऊपर छत भी नहीं थी. वहीं डॉक्टरों की ड्यूटी के दौरान भी लापरवाही देखने मिली. मंगलवार रात कोविड वार्ड से सभी डॉक्टर, कर्मचारी और वार्ड ब्‍वॉय ड्यूटी से नदारद थे. कोविड वार्ड के अंदर और बाहर लगाए सीसीटीवी कैमरे खराब पड़े हुए हैं.



ये था मामला
आबकारी विभाग में पदस्थ होमगार्ड जवान पुष्पराज गौतम को भोपाल के जेपी अस्पताल में भर्ती कराया गया था. कोविड वैक्सीन लगने के दो दिन बाद उनकी तबियत बिगड़ गई थी. पेट फूलने और दर्द होने पर परिवार ने उन्हें शनिवार को यहां भर्ती कराया था, लेकिन रविवार रात 8 बजे के बाद परिवार से उनका संपर्क नहीं हो पाया. वह अचानक लापता हो गए. दिनभर खोजने के बाद पिता ने सोमवार शाम हबीबगंज थाने में पुष्पराज की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई और फिर 24 घंटे बाद मंगलवार शाम को बाथरूम में उनकी लाश मिली थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज