राहत भरी खबर : कोरोना संक्रमण के मामले में 11वें से 13वें स्थान पर खिसका MP

MP में पिछले 24 घंटे में 13363 मरीज स्वस्थ होकर घर लौट गए हैं.

MP में पिछले 24 घंटे में 13363 मरीज स्वस्थ होकर घर लौट गए हैं.

भोपाल में सबसे ज़्यादा 1811 नए कोरोना प्रकरण आए हैं. इंदौर में 1789, ग्वालियर में 920, जबलपुर में 741, रीवा में 348 उज्जैन में 308 और रतलाम में कोरोना के 296 नए पॉजिटिव पेशेंट मिले.

  • Share this:
भोपाल. कोरोना संक्रमण (Corona virus) के मामले में एमपी (MP) थोड़ी राहत भरी खबर देता नजर आ रहा है. संक्रमण के मामले में मध्यप्रदेश देश में 11वें से 13वें स्थान पर खिसक गया है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में हुई कोरोना की स्थिति और व्यवस्था के संबंध में कोर ग्रुप की बैठक में बताया गया कि अब प्रदेश में कोरोना संक्रमण कम हो रहा है.

प्रदेश में कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या 94,000 से अधिक हो गई थी, जो अब 92077 रह गई है. पिछले 24 घंटे में 13363 मरीज स्वस्थ होकर घर लौट गए हैं. कोरोना के सक्रिय मरीजों की संख्या में 696 की कमी आई है.

पॉजिटिविटी रेट 22.7 प्रतिशत

प्रदेश के कोरोना पॉजिटिविटी रेट में भी गिरावट आ रही है. प्रदेश का साप्ताहिक औसत पॉजिटिविटी रेट 22.7% रह गया है. इसी तरह एक्टिव मरीज़ों की संख्या भी कम हो रही है. प्रदेश में कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या 94,000 से अधिक हो गई थी, जो 29 अप्रैल को 92077 रह गयी.
भोपाल में सबसे ज्यादा मामले

जिलेवार समीक्षा में पाया गया कि भोपाल में सबसे ज़्यादा 1811 नए कोरोना प्रकरण आए हैं. इंदौर में 1789, ग्वालियर में 920, जबलपुर में 741, रीवा में 348 उज्जैन में 308 और रतलाम में कोरोना के 296 नए पॉजिटिव पेशेंट मिले.





ऑक्सीजन सप्लाई का दावा

प्रदेश में ऑक्सीजन की उपलब्धता बढ़ने का दावा भी सरकार की ओर से किया जा रहा है. हवाई मार्ग, रेल मार्ग और सड़क तीनों मार्ग से ऑक्सीजन मध्य प्रदेश आ रही है. प्रदेश को 28 अप्रैल को 568.76 मीट्रिक टन ऑक्सीजन मिली. मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि सभी जिले आवश्यकता अनुसार ऑक्सीजन का उपयोग करें ऑक्सीजन का अनावश्यक व्यय न किया जाए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज