अपना शहर चुनें

States

MP : दिल्ली से लौटे CMशिवराज, अगले हफ्ते हो सकता है मंत्रिमंडल विस्तार

दिल्ली दौरे में शिवराज pm मोदी से लेकर पार्टी अध्यक्ष जे पी नड्डा से भी मिले.
दिल्ली दौरे में शिवराज pm मोदी से लेकर पार्टी अध्यक्ष जे पी नड्डा से भी मिले.

शिवराज मंत्रिमंडल में मौजूदा वक्त में 28 मंत्री (Minister) हैं. मंत्रिमंडल में कुल विधायकों (MLA) के लिहाज से इस संख्या को देखें तो अब छह मंत्री और बनाए जाने की गुंजाइश बचती है

  • Share this:
भोपाल.मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj) के दिल्ली दौरे से लौटने के बाद मध्य प्रदेश में मंत्रिमंडल विस्तार की अटकलें एक बार फिर तेज हो गई हैं. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक अगले हफ्ते 8 दिसंबर को मंत्रिमंडल विस्तार हो सकता है. इसके पीछे वजह मानी जा रही है कि राज्यपाल (Governor) आनंदीबेन पटेल 7 दिसंबर को भोपाल आ रही हैं और यहां से उनका बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व जाने का कार्यक्रम है. ऐसे में 8 तारीख को मंत्रिमंडल विस्तार का कार्यक्रम रखा जा सकता है. हालांकि इस बारे में अधिकृत तौर पर अभी कोई जानकारी सामने नहीं आई है.

जिस तरह से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की पहले ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ भोपाल में चर्चा हुई और फिर उसके बाद दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात हुई है तो फिर माना यही जा रहा है कि इस दौरान मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर चर्चा की गई है और अब विस्तार अगले हफ्ते किया जा सकता है.

भोपाल से दिल्ली तक मंथन
राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया 2 दिन पहले भोपाल आए थे.यहां मुख्यमंत्री निवास में उनकी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से करीब 15 मिनट तक मुलाकात हुई. इसके बाद दोनों नेता शादी समारोह में शामिल होने के लिए विशेष विमान से भोपाल से ओरछा गए और फिर ओरछा से ही दोनों दिल्ली पहुंचे थे. मंगलवार को दिन भर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान दिल्ली में रहे और उन्होंने प्रधानमंत्री से लेकर केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की. इससे माना जा रहा है कि इस दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंत्रिमंडल विस्तार के संबंध में ही सभी के साथ चर्चा की है.



किस किस को मिल सकती है जगह ?
शिवराज मंत्रिमंडल में मौजूदा वक्त में 28 मंत्री हैं. मंत्रिमंडल में कुल विधायकों के लिहाज से इस संख्या को देखें तो अब छह मंत्री और बनाए जाने की गुंजाइश बचती है. आमतौर पर किसी भी मंत्रिमंडल में मंत्रियों के दो या तीन पद खाली रखे जाते हैं. ऐसे में यह मान भी लिया जाए कि मंत्रिमंडल में पांच और मंत्री शामिल किए जाएंगे तो फिर यह 5 नाम कौन होंगे इस पर सबकी नजरें टिकी हैं. हालांकि सिंधिया खेमे के तुलसी सिलावट और गोविंद सिंह राजपूत दोनों चुनाव जीत गए हैं बावजूद इसके अब तक मंत्री नहीं बनाए गए हैं. इनके मंत्री बनने की अधिक संभावना है. वहीं तीन मंत्री चुनाव हार गए हैं तो फिर इन तीन की भरपाई आखिरकार किस आधार पर होगी यह देखना दिलचस्प होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज