शिवराज सरकार की किसानों को सौगात, अब सालाना 6 के बजाए मिलेंगे 10 हजार रुपये

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के इस ऐलान को आगामी विधानसभा उपचुनाव से पहले किसानों को लुभाने के लिए चले गए मास्टरस्ट्रोक के तौर पर देखा जा रहा है
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के इस ऐलान को आगामी विधानसभा उपचुनाव से पहले किसानों को लुभाने के लिए चले गए मास्टरस्ट्रोक के तौर पर देखा जा रहा है

अभी तक केंद्र सरकार (Central Government) की ओर से किसानों को दो-दो हजार रुपयों की तीन किश्तों में 6,000 रुपये सालाना दिए जाने का प्रावधान किया गया था. लेकिन मध्य प्रदेश सरकार (MP Government) ने अब इसमें 2000 रुपये की दो और किश्तों को जोड़ने का फैसला किया है. इस तरह किसानों को प्रति वर्ष 10 हजार रुपये का अनुदान मिलेगा

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 22, 2020, 5:29 PM IST
  • Share this:
भोपाल. अट्ठाइस विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव (MP Assembly Byelection) से पहले शिवराज सरकार (Shivraj Government) ने बड़ा दांव चला है. सरकार ने किसानों को खुश करने के लिए बड़ा ऐलान करते हुए कहा है कि मध्य प्रदेश में किसानों (Madhya Pradesh Farmers) को किसान कल्याण योजना के तहत अब 6,000 नहीं बल्कि 10,000 रुपये सालाना मिलेंगे. इसके लिए पीएम किसान सम्मान निधि के साथ सीएम किसान सम्मान निधि को जोड़ा जाएगा, अभी तक केंद्र सरकार की ओर से किसानों को दो-दो हजार रुपये की तीन किश्तों में 6,000 रुपये सालाना दिए जाने का प्रावधान किया गया था. लेकिन मध्य प्रदेश सरकार ने अब इसमें 2000 रुपये की दो और किश्तों को जोड़ने का फैसला किया है.

इसके तहत अब किसानों को साल में किसान कल्याण निधि के तहत मिलने वाली राशि बढ़कर 10,000 रुपए हो जाएगी. साथ ही इस योजना में सभी किसानों को शामिल करने का फैसला किया गया है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को राजधानी भोपाल के मिंटो हॉल में आयोजित सहकारिता विभाग के कार्यक्रम में इसका ऐलान किया. शिवराज सरकार के इस ऐलान को उपचुनाव से पहले किसानों को लुभाने के लिए चले गए मास्टरस्ट्रोक के तौर पर देखा जा रहा है.


शिवराज सरकार की किसानों को सौगात
इससे पहले राज्य सरकार ने किसानों को सौगात देते हुए सबका साथ, सबका विकास कार्यक्रम का आयोजन किया. इसके तहत सीएम शिवराज ने 63 हजार किसान हितग्राहियों को फसल ऋण के लिए केसीसी वितरण किया. साथ ही शून्य प्रतिशत ब्याज पर ऋण देने के लिए सहकारी समितियों को 800 करोड़ रुपये एक क्लिक से ट्रांसफर किये. उन्होंने इस दौरान यह भी ऐलान किया कि अब किसान क्रेडिट कार्ड का फायदा किसानों के अलावा पशु पालकों और मछली पालकों को भी दिया जाएगा.



कृषि बिल को बताया फायदेमंद
सीएम शिवराज ने कृषि बिल पर विपक्ष को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि कुछ लोग कृषि बिल पर भ्रम पैदा कर रहे हैं. बिल को किसान विरोधी बताने से ज्यादा बड़ा झूठ और कोई नहीं है. यह बिल किसान की आय दोगुना करने का उपाय है. बिल के प्रावधानों के तहत कोई भी मंडी बंद नहीं की जाएगी. किसानों को यह बिल मंडी के अलावा भी अपनी उपज बेचने का अधिकार देता है. समर्थन मूल्य पर खरीदी न होने का भ्रम फैलाया जा रहा है. शिवराज ने किसानों को भरोसा देते हुए कहा कि मैं मुख्यमंत्री शिवराज, कह रहा हूं कि समर्थन मूल्य पर खरीदी बंद नहीं होगी, बिल का विरोध करने वालों का मैं विरोध करता हूं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज