अपना शहर चुनें

States

भोपाल : अगर सड़क पर थूका या गंदगी फेंकी तो लगेगा 1000 रुपये का स्पॉट फाइन

व्यापारियों के लिए फाइन ज़्यादा रखा गया है.
व्यापारियों के लिए फाइन ज़्यादा रखा गया है.

भोपाल (bhopal) में खुले में नहाने, बर्तन-कपड़े धोने,खुले में कचरा फेंकने, सार्वजनिक स्थानों पर थूकने, खुले में पेशाब, शौच करने पर 1000 रुपए का स्पॉट फाइन (spot Fine ) वसूला जाएगा.

  • Share this:
भोपाल.राजधानी भोपाल (MP) को साफ और सुंदर बनाने के लिए नगर निगम अब सख्ती के मूड में आ गया है.शहर में जो भी गंदगी फैलाएगा उससे फौरन मौके पर ही दोगुना स्पॉट फाइन (Spot fine) वसूला जाएगा. अगर सड़क पर कचरा फेंका तो 1000 रुपए जुर्माना भरना होगा. शहर को सफाई में नंबर वन बनाने की तैयारी है. पिछली बार कचरे का निपटारा न करने के कारण भोपाल सफाई में नंबर वन की दौड़ में काफी पीछे रह गया था और इंदौर लगातार फिर बाज़ी मार ले गया था.

स्वच्छता में लापरवाही बरतने वाले लोगों के खिलाफ नगर निगम अब सख्ती कर रहा है. उसने नगर निगम ने स्पॉट फाइन को दोगुना कर दिया है. यह सब स्वच्छता के मामले में नंबर वन बनने की तैयारी है.पिछली बार कचरे का सही निस्तारण नहीं होने की वजह से राजधानी भोपाल इंदौर शहर से काफी पीछे रह गयी थी.

अमल शुरू
नगर निगम कमिश्नर वीएस चौधरी कोलसानी ने आदेश दे दिया है. इस आदेश के बाद शहर के सभी जोन प्रभारियों ने अपनी अलग अलग टीम बनाकर कार्रवाई शुरू कर दी है. यह टीम स्पॉट पर जाकर स्वच्छता का आंकलन कर रही है और स्वच्छता के मामले में लापरवाही बरतने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई कर रही है. इस कार्रवाई को अंजाम देने के लिए पूरे शहर भर में अभियान भी छेड़ दिया गया है. ऐसा नहीं है कि पहले स्पॉट फाइन वसूला नहीं जाता हो. लेकिन इस बार इस फाइन को बढ़ाकर दोगुना कर दिया गया है. यानि अब 500 के बजाए 1000 रुपए स्पॉट फाइन लिया जाएगा.
ये है स्पॉट फाइन


-खुले में नहाने, बर्तन धोने और कपड़े धोने पर 1000 रुपए का स्पॉट फाइन लगेगा.

-खुले में कचरा फेंकने, सार्वजनिक स्थानों पर थूकने, खुले में पेशाब, शौच करने पर भी 1000 रुपए का स्पॉट फाइन वसूला जाएगा

-ठोस अपशिष्ट को अलग नहीं रखने, एक ही डस्टबिन में गीला और सूखा कचरा रखने पर 500 रुपए का फाइन तय किया गया है.

-खुले में कचरा जलाने पर 500 रुपए का फाइन है.

व्यापारियों से ज़्यादा फाइन
आम जनता के अलावा व्यावसायिक गतिविधियों में लापरवाही बरतने के लिए अलग स्पॉट फाइन तय किया गया है. बड़े कचरा उत्पादक की ओर से कचरा जलाने पर 1000 रुपए स्पॉट फाइन लगाया जाएगा. वहीं बड़े कचरा उत्पादक द्वारा एक ही डस्टबिन में कचरा जमा करने पर 1000 रुपए, सीएनडी वेस्ट को अलग नहीं करने पर 2000 हजार रुपए और मटेरियल हटाने में होने वाला खर्च देना होगा. व्यावसायिक उपयोग के दौरान मछली, पोल्ट्री और मीट अपशिष्ट को अलग किए बिना देने पर 1500 स्पॉट फाइन तय किया गया है.

जागरुकता की कमी
भोपाल के बड़े बाज़ारों में से एक न्यू मार्केट के व्यापारी राजा ने कहा अभी भी लोगों में जागरुकता की कमी है.कचरे को अलग अलग नहीं किया जाता है. यही कारण है कि नगर निगम के कर्मचारियों को कचरा कलेक्शन करने में दिक्कत आती है. न्यू मार्केट में साफ सफाई करने वाले कर्मचारियों ने बताया कि लोगों से बार बार कहने के बाद भी वो सूखा और गीला कचरा एक ही डस्टबिन में फेंक रहे हैं. कचरे को अलग अलग रखकर नगर निगम की गाड़ियों में देने के लिए कहा जाता है तो कई लोग झगड़ा करने लगते हैं. जबकि नगर निगम ने गीले और सूखे कचरे की अलग से व्यवस्था की है. कर्मचारियों ने कहा नगर निगम ने फाइन बढ़ाकर ठीक किया है। अब लोगों में डर रहेगा तो वह कचरे का निस्तारण ठीक से कर सकेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज