अपना शहर चुनें

States

BHOPAL : अब विधानसभा में उठेगा विंध्य प्रदेश बनाने का मुद्दा, BJP MLA को मिला कांग्रेस का समर्थन

बीजेपी विधायक नारायण त्रिपाठी दल बदलने के लिए पहचाने जाते हैं.
बीजेपी विधायक नारायण त्रिपाठी दल बदलने के लिए पहचाने जाते हैं.

Bhopal : नारायण त्रिपाठी (Narayan tripathi) इन दिनों बुंदेलखंड के विधायकों से भी गुपचुप तरीके से मुलाकात कर समर्थन जुटा रहे हैं. उन्होंने कहा वह इस मामले को लेकर जल्दी सीएम शिवराज (CM Shivraj) से भी मुलाकात करेंगे.

  • Share this:
भोपाल. बीजेपी विधायक (BJP) नारायण त्रिपाठी विंध्य को अलग प्रदेश बनाने की मांग अब विधानसभा (Assembly) में उठाने की तैयारी में हैं. उन्हें कांग्रेस का साथ भी मिल गया है. त्रिपाठी इस पर आंदोलन खड़ा करने वाले हैं जो पहले भोपाल और फिर दिल्ली तक जाएगा.

मध्य प्रदेश विधानसभा का बजट सत्र 22 फरवरी से शुरू होने वाला है. सत्र के दौरान अलग विंध्य प्रदेश बनाए जाने का मुद्दा सुनाई देगा. बीजेपी विधायक नारायण त्रिपाठी ने विंध्य में आंदोलन की शुरूआत करने के बाद अब विधानसभा में इस मुद्दे को जोर-शोर से उठाने की तैयारी कर ली है.त्रिपाठी का कहना है विंध्य को अलग प्रदेश बनाने के मामले में विधानसभा में अब तक हुई बहस और उनके निष्कर्षों का वह अध्ययन कर रहे हैं. उसके बाद विधानसभा में इसे उठाया जाएगा.

सबका साथ, विंध्य का विकास
नारायण त्रिपाठी के मुताबिक विधानसभा में इससे पहले तत्कालीन स्पीकर श्रीनिवास तिवारी, विधायक सुंदरलाल तिवारी सहित कई विधायक विंध्य प्रदेश बनाने का मुद्दा उठा चुके हैं. अब उनका तकनीकी अध्ययन करने के बाद नये सिरे से मुद्दे को विधानसभा में उठाया जाएगा. बीजेपी विधायक के मुताबिक विंध्य के जनप्रतिनिधि भले ही अभी खामोश हों, लेकिन अलग राज्य बनाने का सभी जनप्रतिनिधि समर्थन कर रहे हैं. आने वाले दिनों में सभी एक साथ खड़े नजर आएंगे.
विंध्य के बाद भोपाल और दिल्ली


नारायण त्रिपाठी ने कहा विंध्य में आंदोलन की शुरुआत करने के बाद अब वह जल्दी भोपाल और उसके बाद दिल्ली में एक बड़ा आंदोलन करेंगे और विंध्य को अलग प्रदेश बनाए जाने की मांग करेंगे.

बीजेपी विधायक को मिला कांग्रेस का साथ 
बीजेपी विधायक नारायण त्रिपाठी के आंदोलन की शुरुआत करने पर कांग्रेस ने समर्थन दे दिया है. पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कांग्रेस पार्टी हमेशा से छोटे राज्यों के गठन का समर्थन करती आयी है. छोटे राज्य बनाने से विकास तेजी से होता है. लेकिन विंध्य को अलग प्रदेश बनाने के मुद्दे पर पार्टी विधानसभा में अपना रुख उसी समय तय करेगी.

बुंदेलखंड के विधायकों से गुपचुप मुलाकात
पहले समाजवादी पार्टी उसके बाद कांग्रेस और फिर बीजेपी में शामिल हुए नारायण त्रिपाठी अब विंध्य प्रदेश के गठन की अगुवाई करते हुए नजर आ रहे हैं. हाल ही में नारायण त्रिपाठी ने चुरहट में एक बड़ा कार्यक्रम कर अलग प्रदेश बनाए जाने की मांग उठाई और अब वो बाकी नेताओं का समर्थन और विधायकों का समर्थन जुटाने की कोशिश में लगे हैं. इसमें वो पार्टी लाइन से ऊपर उठकर सभी दलों का समर्थन मांग रहे हैं. नारायण त्रिपाठी इन दिनों बुंदेलखंड के विधायकों से भी गुपचुप तरीके से मुलाकात कर समर्थन जुटा रहे हैं. उन्होंने कहा वह इस मामले को लेकर जल्दी सीएम शिवराज से भी मुलाकात करेंगे और उसके बाद आगामी विधानसभा सत्र में इस मुद्दे को जोर-शोर के साथ उठाया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज