MP में छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र से बसों की आवाजाही पर अब 7 मई तक रोक, दूसरे बॉर्डर भी सील करने की तैयारी

MP. कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए एक से दूसरे राज्य में बसों की आवाजाही रोकी गयी है.

MP. कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए एक से दूसरे राज्य में बसों की आवाजाही रोकी गयी है.

Bhopal. अब सरकार इससे एक कदम आगे बढ़कर मध्य प्रदेश से लगने वाली दूसरे राज्यों की सीमाओं (Border) को सील करने पर भी विचार कर रही है.

  • Share this:
भोपाल. मध्यप्रदेश (MP) में कोरोना संक्रमण (Corona virus) के भयावह हालात को देखते हुए सरकार ने छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र से बसों और अन्य परिवहन सेवा पर रोक और बढ़ा दी है. ये रोक अब 7 मई तक रहेगी. इस संबंध में परिवहन विभाग ने आदेश भी जारी कर दिए हैं.

परिवहन विभाग ने छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र से लगी सीमाई जिलों के आरटीओ को इस संबंध में आदेश दे दिया है. आदेश में इन दोनों ही राज्यों से आने वाले यात्री वाहनों पर रोक लगाने के लिए कहा गया है. साथ ही मध्य प्रदेश से दोनों राज्यों में जाने वाले वाहनों पर भी रोक रहेगी.

दोनों राज्यों से आवाजाही बंद

कुल मिलाकर अब मध्यप्रदेश से छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र के लिए बसों की आवाजाही पूरी तरह अभी भी बंद रहेगी. सरकार ने 7 मई तक सभी तरह की यात्री बसों पर रोक लगा दी है.
30 अप्रैल तक थी रोक

पहले सरकार ने इन दोनों राज्यों से बसों की आवाजाही पर 30 अप्रैल तक रोक लगायी थी. लेकिन हालात न सुधरने पर अब इस रोक को और आगे बढ़ा दिया गया है. दोनों राज्यों की परिवहन सेवाओं को बंद किया गया था. परिवहन विभाग ने 7 मई तक तमाम निर्देशों का पालन करने के लिए आरटीओ से कहा है. इस आदेश के बाद 7 मई तक यदि किसी तरीके की परिवहन सेवाएं अवैध रूप से संचालित होती हैं, तो उन बस ऑपरेटर्स के खिलाफ सख्त कार्रवाई भी की जाएगी. विशेष परिस्थितियों में शासन से अनुमति के बाद ही किसी तरीके का परिवहन संभव हो सकेगा.





यूपी से आने वाले परिवहन पर भी रोक

इससे पहले सरकार ने यूपी से आने वाले परिवहन पर रोक लगा दी थी. बसें न यूपी से मध्य प्रदेश में आ पा रही हैं और ना एमपी से वहां जा पा रही हैं. सरकार ने परिवहन सेवाओं पर रोक लगाने का काम जरूर किया है लेकिन अब सरकार इससे एक कदम आगे बढ़कर मध्य प्रदेश से लगने वाली दूसरे राज्यों की सीमाओं को सील करने पर भी विचार कर रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज