BHOPAL: हमीदिया अस्पताल के ऑक्सीजन प्लांट में खराबी, कोरोना के दो मरीजों की मौत से मचा हड़कंप
Bhopal News in Hindi

BHOPAL: हमीदिया अस्पताल के ऑक्सीजन प्लांट में खराबी, कोरोना के दो मरीजों की मौत से मचा हड़कंप
हमीदिया अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट खराब होने से कोरोना के दो मरीज़ों की मौत

मंत्रिमंडल का शपथ ग्रहण समारोह और वीआईपी मूवमेंट (Vip movement) की वजह से कई रास्ते डायवर्ट कर रखे थे तो कुछ रास्तों पर ट्रैफिक रोक दिया गया था. इस वजह से स्टाफ समय पर अस्पताल नहीं पहुंच पाया.

  • Share this:
भोपाल. भोपाल (bhopal) में राजभवन (rajbhawan) में जिस समय मंत्रिमंडल का शपथ ग्रहण समारोह चल रहा था उस वक्त शहर के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल हमीदिया (hamidia hospital) में ऑक्सीजन की कमी के कारण कोरोना के दो मरीजों ने दम तोड़ दिया. अस्पताल के ऑक्सीजन प्लांट (Oxygen plant) में खराबी आने के कारण सप्लाई कम हो गयी थी. इस वजह से वेंटिलेटर पर रखे गए दो मरीज़ों की जान चली गयी. बताया जा रहा है कि मंत्रिमंडल विस्तार के कारण शहर में वीआईपी मूवमेंट (Vip movement) चल रहा था. कई रास्ते बंद थे इसलिए स्टाफ वक्त पर अस्पताल नहीं पहुंच पाया.

ऑक्सीजन लेवल Low
भोपाल के गांधी मेडिकल कॉलेज से संबद्ध राजधानी के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल का ऑक्सीजन प्लांट आज खराब हो गया. उसमें तकनीकी खराबी के कारण ऑक्सीजन का फ्लो कम हो गया. हालत इतनी खराब हो गई कि वेंटिलेटर ने लो प्रेशर के कारण काम करना बंद कर दिया. ऑक्सीजन लेवल कम होने की वजह से अस्पताल में हड़कंप मच गया. इस दौरान वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखे गए दो मरीजों ने दम तोड़ दिया.

फोन कर बुलाया
प्लांट में खराबी की खबर प्रशासनिक अधिकारियों को फोन पर मिलने के बाद जल्दबाज़ी में बायोमेडिकल इंजीनियर्स और टेक्निकल टीम को बुलाया गया. प्रेशर लो होने के कारणों की जांच परख कर प्लांट की मरम्मत शुरू की गयी. लेकिन तब तक तो देर हो चुकी थी. वेटिंलेटर सपोर्ट से सांस ले रहे मरीज़ों की सांस उखड़ने लगी.



अस्पताल में मरीज़ों का स्टेटस 
अस्पताल से मिली जानकारी के अनुसार हमीदिया अस्पताल के कोविड ब्लॉक में बुधवार तक 109 कोरोना मरीज भर्ती थे. इनमें से 14 मरीज आईसीयू में और 13 गंभीर मरीजों को वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया था. इनमें से आज 2 मरीज़ों की मौत टेक्निकल फाल्ट के कारण हो गई.

वीआईपी मूवमेंट के कारण परेशानी
हमीदिया अस्पताल में सुबह करीब साढ़े दस बजे के बाद ऑक्सीजन प्लांट में खराबी की सूचना मिली. उसके बाद अस्पताल प्रबंधन ने आनन-फानन में डॉक्टर्स और टेक्निकल स्टाफ को फोन कर अस्पताल बुलाया. लेकिन मंत्रिमंडल का शपथ ग्रहण समारोह और वीआईपी मूवमेंट की वजह से कई रास्ते डायवर्ट कर रखे थे तो कुछ रास्तों पर ट्रैफिक रोक दिया गया था. इस वजह से स्टाफ को अस्पताल पहुंचने में देर हो गई तब तक दो मरीज इस मंत्रिमंडल विस्तार का खामियाज़ा भुगत चुके थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज