अपना शहर चुनें

States

Bhopal: किसी कीमत पर मानने को तैयार नहीं थी पत्नी, पड़ोसन ने मनाया तो हुआ मिलन

जिला विधि प्राधिकरण में अजीबो-गरीब मामला सामने आया. (प्रतिकात्मक तस्वीर)
जिला विधि प्राधिकरण में अजीबो-गरीब मामला सामने आया. (प्रतिकात्मक तस्वीर)

पत्नी इस शक के चलते पति के घर से चली गई थी कि उनका किसी और के साथ अफेयर चल रहा है. इस बीच पड़ोसन ने आकर महिला की गलतफहमी दूर की और पति-पत्नी का मिलन हो सका.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 21, 2021, 10:15 AM IST
  • Share this:
भोपाल. पत्नी के मायके जाकर रहने से पति इतना परेशान हो गया कि उसने जिला विधिक प्राधिकरण में गुहार लगाई है. पत्नी इस शक के चलते पति के घर से चली गई थी कि उसका किसी और के साथ अफेयर चल रहा है. इस बीच पड़ोसन ने आकर महिला की गलतफहमी दूर की और पति-पत्नी का मिलन हो सका.

दरअसल, जिला विधिक प्राधिकरण में बुधवार को दो पुरुषों ने परिवार बसाने के लिए प्राधिकरण से गुहार लगाई थी. एक पुरुष ने प्राधिकरण पहुंचकर पत्नी का शक दूर करने के लिए, तो दूसरे ने सास की दखलंदाजी से निजात दिलाने के लिए मदद मांगी थी. प्राधिकरण के सचिव संदीप शर्मा ने सभी की काउंसलिंग की और परिवारों के बीच समझौता कराया.

समझा-समझाकर थक गया था पति
जानकारी के मुताबिक, 35 साल के व्यक्ति ने प्राधिकरण को बताया कि उसकी पत्नी 3 साल से मायके में रह रही है. वह जब भी उसे लेने जाता है तो पत्नी कहती है- जिसके साथ अफेयर चल रहा है, उसी के साथ रहो. पति के मुताबिक, वह समझा-समझाकर थक चुका है कि कोई अफेयर नहीं है. लेकिन, पत्नी मानने को तैयार नहीं है. पति ने प्राधिकरण से कहा कि अब वह बच्चों के बिना नहीं रह सकता. उसने बताया कि ससुराल वाले भी बेटी का ही साथ दे रहे हैं. अगर उसके बच्चे और पत्नी वापस नहीं आए तो वह मर जाएगा. इस बीच महिला की पड़ोसन ने महिला को बताया कि उसने जिस आदमी के अफेयर की बात उसे बताई थी वह उसका पति नहीं, बल्कि दूसरा व्यक्ति है. उस व्यक्ति का नाम महिला के पति के पहले नाम से मिलता-जुलता है. इसके बाद मामला शांत हुआ और पत्नी पति के घर जाने को राजी हुई.
सास से परेशान दामाद


दूसरे प्रकरण में एक युवक ने शिकायत की थी कि उसे सास परेशान कर रही हैं. सास ने शर्त रखी कि जब तक अलग मकान लेकर नहीं रहूंगा, तब तक उनकी बेटी ससुराल नहीं जाएगी. मैंने अलग मकान ले लिया. अब सास उनके साथ आकर रहने लगी. वह हर एक बात में हस्तक्षेप करती है. कुछ कहो तो दहेज प्रताड़ना के केस में फंसाने की धमकी देती हैं. प्राधिकरण के सचिव संदीप शर्मा ने युवक, पत्नी और सास को बुलाकर काउंसलिंग की और सास से लिखित में लिया कि वह बेटी का घर छोड़कर अपने पति के पास जाएगी. उन्होंने कहा कि इस मामले में फॉलोअप लिया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज