होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /

एनआईए का बड़ा खुलासा : लॉक डाउन और इज्तिमा के दौरान एमपी में घुसे थे जेएमबी आतंकवादी

एनआईए का बड़ा खुलासा : लॉक डाउन और इज्तिमा के दौरान एमपी में घुसे थे जेएमबी आतंकवादी

JMB Terrorist Case. जेएमबी आतंकवादी केस की जांच कर रही एनआईए की नजर एमपी में रह रहे 6 संदिग्ध लोगों पर है.

JMB Terrorist Case. जेएमबी आतंकवादी केस की जांच कर रही एनआईए की नजर एमपी में रह रहे 6 संदिग्ध लोगों पर है.

Big News. भोपाल के ईटखेड़ी इलाके से 8 अगस्त को एनआईए ने जेएमबी के 2 आतंकवादियों को गिरफ्तारी किया था. इस तरह मार्च से लेकर अभी तक 9 आतंकी गिरफ्तार किए जा चुके हैं. इस मामले में होम मिनिस्टर नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि अभी 6 और संदिग्ध युवक हैं जिनकी अभी निगरानी की जा रही है. एमपी में किसी भी स्लीपर सेल को स्लीप करने की अनुमति नहीं है. हमारे अधिकारियों और पुलिस का केंद्रीय पुलिस बल के साथ बहुत अच्छा तालमेल है. यहां पर कोई स्लीपर नहीं ठहर सकता. मार्च में जो 7 आतंकवादी पकड़े गए थे तभी से ये रडार पर थे. लॉकडाउन में जो लोग बाहर से आए थे उन पर निगरानी की जा रही है. एनआईए ने कल जिन दो आतंकियों को गिरफ्तार किया था वो दोनों आतंकी इज्तिमा में शामिल होने के बहाने भोपाल आए थे. उसके बाद बांग्लादेश वापस नहीं लौटे.

अधिक पढ़ें ...

भोपाल. मध्यप्रदेश में फैले जमात-ए-मुजाहिद्दीन बांग्लादेश (JMB) आतंकवादी संगठन के बारे में जैसे जैसे जांच आगे बढ़ रही है, वैसे वैसे नये नये खुलासे हो रहे हैं. ये आतंकवादी लॉकडाउन और भोपाल में लगने वाले इज्तिमा की आड़ में मध्यप्रदेश में दाखिल हुए थे. पिछले 6 महीने में एनआईए अभी तक 9 आतंकवादियों को गिरफ्तार कर चुकी है. छह और संदिग्ध आतंकवादी जांच एजेंसियों के रडार पर हैं.

भोपाल के ईटखेड़ी इलाके से 8 अगस्त को एनआईए ने जेएमबी के 2 आतंकवादियों को गिरफ्तारी किया था. इस तरह मार्च से लेकर अभी तक 9 आतंकी गिरफ्तार किए जा चुके हैं. इस मामले में होम मिनिस्टर नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि अभी 6 और संदिग्ध युवक हैं जिनकी अभी निगरानी की जा रही है. एमपी में किसी भी स्लीपर सेल को स्लीप करने की अनुमति नहीं है. हमारे अधिकारियों और पुलिस का केंद्रीय पुलिस बल के साथ बहुत अच्छा तालमेल है. यहां पर कोई स्लीपर नहीं ठहर सकता. मार्च में जो 7 आतंकवादी पकड़े गए थे तभी से ये रडार पर थे. लॉकडाउन में जो लोग बाहर से आए थे उन पर निगरानी की जा रही है. एनआईए ने कल जिन दो आतंकियों को गिरफ्तार किया था वो दोनों आतंकी इज्तिमा में शामिल होने के बहाने भोपाल आए थे. उसके बाद बांग्लादेश वापस नहीं लौटे.

6 और संदिग्धों पर नजर
इस मामले में सबसे पहले एमपी एटीएस ने 14 मार्च को एफ आई आर दर्ज की थी. बाद में एनआईए ने अपने हाथ में मामले की जांच लेते हुए 5 अप्रैल को केस दर्ज किया. इस मामले में पहले सात आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था. अब दो आतंकियों की गिरफ्तारी के साथ आतंकियों की संख्या 9 हो चुकी है. ईंटखेड़ी से गिरफ्तार आरोपी हमीदुल्लाह उर्फ ​​राजू गाजी और मोहम्मद सहादत हुसैन उर्फ ​​अबीदुल्लाह  कट्टरपंथी हैं.

NIA की बड़ी कार्रवाई : भोपाल में फिर पकड़े गए जेएमबी के 2 और आतंकवादी, युवाओं को बरगला रहे थे

जेएमबी आतंकवादी संगठन से जुड़े आतंकवादी दूसरे लोगों को कट्टरपंथी बनाने के लिए सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफार्म पर ग्रुप बनाकर आपत्तिजनक सामग्री परोस रहे थे. जिन दो आतंकियों को ईंटखेड़ी से सोमवार को गिरफ्तार किया गया है वो पहले गिरफ्तार आतंकियों के करीबी हैं. भारत और बांग्लादेश में अपने सहयोगियों के साथ संवाद करने के लिए ये एन्क्रिप्टेड ऐप का उपयोग कर रहे थे. दोनों आतंकियों से पूछताछ की जा रही है. आने वाले समय में कई बड़े खुलासे हो सकते हैं. मध्यप्रदेश में सिमी के बाद अब इस आतंकी संगठन का बड़ा नेटवर्क फैल चुका है.

Tags: Madhya pradesh latest news, NIA, Terrorist arrest

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर