Big News : MP में 25 जुलाई से खुलेंगे स्कूल, 11- 12वीं क्लास से होगी शुरुआत

MP. शुरुआत में 50 फीसदी छात्रों के साथ स्कूल खोले जाएंगे

Bhopal. CM शिवराज ने कहा अगर कोरोना के हालात इसी तरह काबू में रहे, तीसरी लहर नहीं आयी तो 15 अगस्त के बाद अन्य स्कूल (School) खोलने पर विचार किया जाएगा. सब कुछ ठीक रहा तो छोटी क्लासेस भी शुरू की जा सकती हैं.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश (MP) में स्कूल (School) इसी महीने 25 जुलाई से खुल जाएंगे. इसकी शुरुआत 11 वीं और 12 वीं क्लास से होगी. उसके बाद हालात देखते हुए आगे की क्लासेस शुरू की जाएंगी. सीएम शिवराज ने भोपाल में हुए एक कार्यक्रम में ये ऐलान किया.

कोरोना संक्रमण के कारण करीब डेढ़ साल से बंद स्कूल फिर खोलने की तैयारी है. सेकेंड वेव के कहर के बाद धीरे धीरे संभल रहे मध्य प्रदेश में 25 जुलाई से स्कूल खोलने की तैयारी है. भोपाल में सीएम शिवराज ने कहा हम 25 - 26 जुलाई से स्कूल खोलने  जा रहे हैं. शुरू में 11 वीं और 12 वीं की क्लासेस शुरू की जाएंगी. अगर कोरोना के हालात इसी तरह काबू में रहे, तीसरी लहर नहीं आयी तो 15 अगस्त के बाद अन्य स्कूल खोलने पर विचार किया जाएगा. सब कुछ ठीक रहा तो छोटी क्लासेस भी शुरू की जा सकती हैं.

50 फीसदी के साथ
सीएम शिवराज ने कहा कोरोना संक्रमण से बचाव के सारे एहतियात बरते जाएंगे. गाइड लाइन और प्रोटोकॉल के तहत सिर्फ 50 फीसदी उपस्थिति के साथ स्कूल खोले जाएंगे. उन्होंने कहा हमारे बच्चे स्कूल कॉलेज बंद होने से पढ़ नहीं पा रहे है. कुंठित हो रहे है. इसलिए पहले चरण में 25,26 जुलाई को कक्षा 11, 12 के स्कूल शुरू करेंगे. 2 दिन एक बैच आएगा और अगले दो दिन दूसरा बैच. सब कुछ ठीक हुआ तो 9 से 10 फिर 6 से 8 और 1 से 5 तक के स्कूल खोले जाएंगे.

राजा बाबू हो गए हैं छात्र
शिवराज सिंह ने आज के बच्चों पर कहा - आज कल छात्र मेहनत नहीं करते. राजा बाबू बन गए हैं. अगर स्कूल में पट्टी या पानी का गिलास उठा लिया तो मीडिया की सुर्खिया बन जाती हैं लेकिन बच्चों को मेहनत करना चाहिए. शिक्षा वो है जो मुक्ति दिलाए. लोक परलोक में शिक्षा मनुष्य बनाती है. शिक्षा आने वाली पीढ़ी को ज्ञान देती है. सरस्वती विद्या मंदिर स्कूल में संस्कार देने का काम चलता है. देशभक्त, अच्छा नागरिक बनें, अपने लिए नहीं दूसरों के लिए जीयें ऐसे नागरिक बनाने के लिए पढ़ाया जाता है. शिक्षा केवल सरकार के हाथ में नहीं होना चाहिए. जो विशेषज्ञ हों-जो ज्ञानी हों फिर चाहें वो निजी हों या सरकारी उनके ज्ञान का उपयोग शिक्षा की बेहतरी के लिए करना चाहिए. स्कूल शिक्षा प्रणाली में ऐसे लोगों का मार्गदर्शन लेना चाहिए.

बच्चों की फिक्र
सीएम ने कहा बच्चे चिंतित हैं. तीसरी लहर आएगी या नहीं आएगी लेकिन विशेषज्ञ बोल रहे है आएगी. प्रदेश में कोरोना नियंत्रण में है. हम परिस्थितियों पर नज़र रखे हैं. रोज़ 20 केस आ रहे हैं. वर्तमान में 250 एक्टिव केस हैं. स्कूल शिक्षा मंत्री इंद्रर सिंह  परमार ने कहा हम समूह में बच्चों को बुलाएंगे. इस महीने के अंत तक प्रदेश में स्कूल खोलने की हमारी पूरी तैयारी है. तीसरी लहर की आशंका है इसलिए छोटे समूह में बच्चों को बुलाएंगे. साथ ही हम किसी  के दबाब में नहीं हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.