अपना शहर चुनें

States

विक्रांत भूरिया के MP यूथ कांग्रेस अध्यक्ष चुने जाने पर फिर लगा वंशवाद का आरोप  

विक्रांत कांग्रेस नेता कांतिलाल भूरिया के बेटे हैं.
विक्रांत कांग्रेस नेता कांतिलाल भूरिया के बेटे हैं.

बीजेपी (BJP) भले ही यूथ कांग्रेस में वंशवाद के आरोप लगाए लेकिन हकीकत यह है कि खुद बीजेपी के अंदर ही नेता पुत्रों की राजनीतिक जमीन तैयार हो रही है.सीएम शिवराज के बेटे कार्तिकेय, नरेंद्र तोमर के बेटे देवेंद्र तोमर, प्रभात झा के बेटे तुषमुल झा, गोपाल भार्गव के बेटे अभिषेक भार्गव, कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश विजयवर्गीय राजनीतिक विरासत संभालने के लिए सक्रिय राजनीति में हैं.

  • Share this:
भोपाल.मध्य प्रदेश यूथ कांग्रेस अध्यक्ष (Youth Congress) पद पर विक्रांत भूरिया की जीत के साथ ही कांग्रेस (Congress) में एक बार फिर वंशवाद के आरोप लगने लगे हैं. बीजेपी युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष अभिलाष पांडे ने कहा एक बार फिर साबित हो गया कि कांग्रेस परिवारवाद की शिकार है. पांडेय का कहना है कि ये पहले से तय था कि कोई नेता पुत्र ही यूथ कांग्रेस का अध्यक्ष बनेगा और विक्रांत भूरिया की जीत के साथ यह साबित भी हो गया.

हाल ही एमपी यूथ कांग्रेस के चुनाव हुए थे और आज विक्रांत भूरिया को भारी बहुमत के साथ जीत हासिल हुई है.विक्रांत भूरिया कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व सांसद कांतिलाल भूरिया के बेटे हैं. विक्रांत भूरिया के अलावा अध्यक्ष के लिए कई और चेहरों ने भी दावेदारी की थी. लेकिन भूरिया को 40000 से ज्यादा वोट हासिल हुए हैं. उन्हें मिले वोट का प्रतिशत किसी भी दूसरे उम्मीदवार को मिले वोट से काफी ज्यादा है.

क्यों लग रहे परिवारवाद के आरोप ?
बीजेपी युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष अभिलाष पांडे का कहना है इससे पहले भी लोकसभा के चुनाव में पीसीसी चीफ कमलनाथ सिर्फ अपने बेटे नकुल नाथ को जिताने के लिए जुटे हुए थे. लोकसभा की जिन सीटों पर मध्य प्रदेश में चुनाव हुआ उनमें से सिर्फ एक सीट छिंदवाड़ा की ही नकुल नाथ के चेहरे के तौर पर कांग्रेस जीत पाई थी, जबकि 2019 में मध्यप्रदेश में कांग्रेस की ही सरकार थी.दिग्विजय सिंह भी कांग्रेस में अपने बेटे को विधायक और मंत्री बनवाने के लिए लगे रहे. दिग्विजय के बेटे जयवर्धन सिंह कमलनाथ सरकार में नगरीय प्रशासन मंत्री थे. बीजेपी ने तंज कसते हुए कहा नेता पुत्रों की वजह से कांग्रेस का आम कार्यकर्ता पार्टी में हाशिए पर चला गया है.



क्या बीजेपी में नहीं है वंशवाद ?
बीजेपी भले ही यूथ कांग्रेस में वंशवाद के आरोप लगाए लेकिन हकीकत यह है कि खुद बीजेपी के अंदर ही नेता पुत्रों की राजनीतिक जमीन तैयार हो रही है. इंदौर में कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश विजयवर्गीय पिछला विधानसभा चुनाव लड़े थे और जीते. सांची में गौरी शंकर शेजवार के बेटे मुदित शेजवार को भी टिकट मिला था. सीएम शिवराज के बेटे कार्तिकेय, नरेंद्र तोमर के बेटे देवेंद्र तोमर, प्रभात झा के बेटे तुषमुल झा, गोपाल भार्गव के बेटे अभिषेक भार्गव, राजनीतिक विरासत संभालने के लिए सक्रिय राजनीति में हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज