Damaoh by Election : कांग्रेस-बीजेपी ने उतारी स्टार प्रचारकों की टीम, मलैया भी करेंगे प्रचार

दमोह सीट पर 17 अप्रैल को मतदान है.

भोपाल. बीजेपी और कांग्रेस दोनों की स्टार प्रचारकों की लिस्ट में 30-30 नेताओं को जगह मिली है. बीजेपी ने दमोह सीट के पूर्व विधायक और इस बार टिकट के दावेदार रहे पार्टी के वरिष्ठ नेता जयंत मलैया को अपना स्टार प्रचारक बनाया है.

  • Share this:
भोपाल. दमोह उप चुनाव (Damoh) के लिए कांग्रेस (Congress)और बीजेपी  (BJP) दोनों तैयार हैं. दोनों दलों ने चुनाव प्रचार के लिए अपने स्टार प्रचारकों की सूची जारी कर दी है. कांग्रेस अपनी सूची में 2020 में उपचुनाव हारे फूल सिंह बरैया को जगह दी है वहीं बीजेपी की लिस्ट में ज्योतिरादित्य को शामिल किया गया है.

कांग्रेस ने जो लिस्ट जारी की है उन स्टार प्रचारकों में प्रदेश प्रभारी मुकुल वासनिक, पूर्व सीएम कमलनाथ, दिग्विजय सिंह, पूर्व पीसीसी चीफ कांतिलाल भूरिया, सुरेश पचौरी, अरुण यादव, राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा, राजमणि पटेल, अजय सिंह, संजय कपूर और सज्जन सिंह वर्मा को शामिल किया है. पार्टी ने 2020 के विधान सभा उपचुनाव में हारे उम्मीदवार फूल सिंह बरैया और रामसिया भारती को भी प्रचार का मौका दिया है. ये दोनों स्टार प्रचारकों की सूची में शुमार हैं. लिस्ट में कुल 30 नेताओं को जगह मिली है.

बीजेपी के स्टार प्रचारक
बीजेपी ने भी अपने प्रचारकों के नाम की घोषणा कर दी है. इसमें खास बात ये है कि पार्टी ने दमोह सीट के पूर्व विधायक और इस बार टिकट के दावेदार रहे पार्टी के वरिष्ठ नेता जयंत मलैया को अपना स्टार प्रचारक बनाया है. उनके साथ वी डी शर्मा, सीएम शिवराज, प्रह्लाद पटेल, उमा भारती भी स्टार प्रचारक बनाई गयी हैं. पार्टी में नये आए ज्योतिरादित्य सिंधिया भी दमोह में प्रचार करेंगे. इनके साथ बीजेपी के कई दिग्गज स्टार प्रचारकों की लिस्ट में जगह पाने में कामयाब रहे.

17 अप्रैल को है मतदान
दमोह विधानसभा सीट के लिए 17 अप्रैल को वोट डाले जाना हैं. यहां कांग्रेस के अजय टंडन का मुकाबला बीजेपी के राहुल लोधी से होगा. राहुल लोधी इस सीट से कांग्रेस के सिटिंग विधायक थे. लेकिन ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनके साथियों की तरह ही दल बदल कर कांग्रेस से बीजेपी में चले गए. इसलिए दमोह सीट खाली हो गयी थी. जयंत मलैया दमोह सीट से लगातार 6 बार बीजेपी से विधायक रहे. लेकिन 2018 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस टिकट पर जीते राहुल लोधी ने मामूली अंतर से उन्हें हरा दिया था. इसकी वजह बीजेपी के वरिष्ठ नेता रामकृष्ण कुसमरिया की बगावत थी जो बाकी होकर निर्दलीय खड़े हुए और मलैया के वोट कटवा दिये. इसका फायदा कांग्रेस को मिला और लोधी चुनाव जीत गए.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.