क्या BJP के 'पन्ना' जिताएंगे सीट, 8 हजार से ज्यादा पोलिंग बूथों पर पन्ना प्रमुख नियुक्त

इन पन्ना प्रमुख की जिम्मेदारी वोटिंग लिस्ट पर नज़र रखने की होगी.
इन पन्ना प्रमुख की जिम्मेदारी वोटिंग लिस्ट पर नज़र रखने की होगी.

चुनाव आयोग (Election Commission) की ओर से जारी कार्यक्रम के मुताबिक मध्य प्रदेश (MP) में 28 विधानसभा सीटों के लिए 3 नवंबर को उपचुनाव होगा जबकि नतीजे 10 नवंबर को आएंगे.

  • Share this:
भोपाल.मध्य प्रदेश में उपचुनाव के लिए बीजेपी (BJP) और कांग्रेस (Congress) ने अपने अपने स्तर पर पूरी तैयारी कर ली है. हर विधानसभा क्षेत्र में बैठकों और प्रचार-प्रसार का दौर जारी है. इस बीच बीजेपी ने हर बूथ पर पन्ना प्रमुख की नियुक्ति कर दी है. इन पन्ना प्रमुखों की जिम्मेदारी मतदाता सूची के हर पन्ने पर नज़र रखने की होगी. कांग्रेस भी दावा कर रही है कि उसकी भी बूथ स्तर पर तैयारी पूरी है.

28 सीटों पर होने वाले विधानसभा उपचुनाव के लिए बीजेपी बूथ स्तर तक रणनीति तैयार कर रही है. इसी के तहत बीजेपी ने खुद को मजबूत करने के लिए 8 हज़ार से ज़्यादा पन्ना प्रभारियों को मुस्तैद कर दिया है. यह पन्ना प्रभारी संबंधित विधानसभा क्षेत्र में वहां के बूथ के लिए तैयारी करेंगे और मतदाताओं पर नजर बनाएंगे. बीजेपी का दावा है कि उसने उपचुनाव के लिए बूथ स्तर तक तैयारी कर ली है. इसके लिए लगातार भोपाल से लेकर संबंधित विधानसभा क्षेत्रों में बैठकों के दौर जारी हैं. मंत्री भूपेंद्र सिंह ने कहा हर बूथ पर पन्ना प्रमुख की नियुक्ति की गई है. बूथ पर आने वाली मतदाता सूची में जितने पन्ने होते हैं. उतने ही बीजेपी के पन्ना प्रमुख हैं. इन पन्ना प्रमुख की मुख्य जिम्मेदारी हर वोटर तक सरकार की उपलब्धियां पहुंचाना और वोटर को अपने पक्ष में करने की होती है.





कांग्रेस भी मैदान में तैयार
बीजेपी की तरह कांग्रेस का दावा भी है कि उसकी उपचुनाव को लेकर तैयारियां पूरी हैं. संगठन स्तर पर भी उपचुनाव की हर चरण की तैयारी पूरी कर ली गई है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुरेश पचौरी ने बताया कि बीजेपी की 15 साल की सरकार और हमारी 15 महीने की सरकार में जमीन आसमान का अंतर है. बूथ स्तर पर जनता के बीच हमारे कार्यकर्ता इस बात को लेकर जा रहे हैं. जिन लोगों ने हमारी सरकार गिराई है, जनता उन्हें उपचुनाव में सबक सिखाएगी. सुरेश पचौरी ने यह भी कहा कि बीजेपी भले ही कितनी तैयारी कर ले, उपचुनाव में जीत कांग्रेस की होगी. जनता सब कुछ समझ चुकी है.

3 नवंबर को मतदान, 10 को परिणाम
चुनाव आयोग की ओर से जारी कार्यक्रम के मुताबिक मध्य प्रदेश में 28 विधानसभा सीटों के लिए 3 नवंबर को उपचुनाव होगा जबकि नतीजे 10 नवंबर को आएंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज