होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /रातापानी में बीजेपी बैठक की इनसाइड स्टोरी : दिल्ली ने लिया फीडबैक, हिदायत- बयानबाजी बर्दाश्त नहीं

रातापानी में बीजेपी बैठक की इनसाइड स्टोरी : दिल्ली ने लिया फीडबैक, हिदायत- बयानबाजी बर्दाश्त नहीं

बैठक में केंद्रीय संगठन से आए पदाधिकारियों ने मध्य प्रदेश में नेताओं की बयानबाजी को लेकर नाराजगी जाहिर की.

बैठक में केंद्रीय संगठन से आए पदाधिकारियों ने मध्य प्रदेश में नेताओं की बयानबाजी को लेकर नाराजगी जाहिर की.

BJP Meeting : रातापानी में हुई बीजेपी की बैठक में केंद्रीय संगठन ने प्रदेश का फीडबैक लिया. सूत्रों के मुताबिक राष्ट्रीय ...अधिक पढ़ें

भोपाल. अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारी के लिहाज से रातापानी में हुई बीजेपी की बैठक से अहम जानकारी सामने आई है. बैठक में उन नेताओं को सख्त हिदायत दी गयी जो बेवजह की बयानबाजी कर रहे हैं. कार्यकर्ताओं को पूरा मौका दिया गया अपनी बात रखने का. कार्यकर्ताओं ने जो फीडबैक दिया उसके बाद अब संगठन कुछ सख्त फैसले ले सकता है.

पूरी तरह चुनावी रणनीति पर आधारित बैठक में कई महत्वपूर्ण फैसले लिए गए हैं. मंत्रियों को अब अपने प्रभार के जिलों का दौरा करने के साथ साथ वहां रात्रि विश्राम भी करना पड़ेगा. इस दौरान प्रभारी मंत्री ज़मीनी फीडबैक सरकार के साथ साथ संगठन तक भी पहुंचाएंगे.बैठक में ये भी फैसला किया गया है कि कार्यकर्ताओं की नाराजगी दूर करने के लिए सीएम अब उनसे सीधा संवाद करेंगे.

कार्यकर्ताओं से सीधे संवाद

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक बैठक में एक प्रस्ताव ये भी आया कि सीएम खुद हर जिले के कम से कम 25 कार्यकर्ताओं से संवाद करेंगे. इस दौरान वो उनके साथ भोजन भी कर सकते हैं. इस पूरी कवायद का मकसद 2023 में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले कार्यकर्ताओं की नाराजगी दूर करना है. सूत्रों की मानें तो पार्टी में कुछ बड़े फैसले एक पखवाड़े के भीतर लिए जा सकते हैं.

ये भी पढ़ें-बीजेपी सांसद सरोज पांडेय ने प्रियंका गांधी के लड़की हूं लड़ सकती हूं, बयान का क्यों किया जिक्र…

दिल्ली ने लिया फीडबैक

रातापानी में हुई बीजेपी की बैठक में केंद्रीय संगठन ने प्रदेश का फीडबैक लिया. सूत्रों के मुताबिक राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष ने बैठक में मौजूद सभी मंत्रियों और प्रमुख पदाधिकारियों को अपनी बात रखने के लिए फ्री हैंड दिया. यहां तक भी कहा गया कि अगर वो इस मंच पर अपनी बात नहीं रखेंगे तो फिर कहां रखेंगे. ऐसे में जो फीडबैक बैठक के दौरान केंद्रीय संगठन को मिला उसके बाद कुछ बड़े फैसले लिए जाने की संभावना है. बैठक में बीएल संतोष के अलावा राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री शिवप्रकाश, क्षेत्रीय संगठन महामंत्री अजय जामवाल के साथ प्रदेश प्रभारी मुरलीधर राव, सीएम शिवराज और प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा भी शामिल हुए थे.

बयानबाजी बर्दाश्त नहीं

बैठक में केंद्रीय संगठन से आए पदाधिकारियों ने मध्य प्रदेश में नेताओं की बयानबाजी को लेकर नाराजगी जाहिर की. उन्होंने पूछा आखिर नेताओं की सार्वजनिक बयानबाजी क्यों नहीं रुक रही. पार्टी ने ये साफ कर दिया है कि किसी भी नेता की सार्वजनिक बयानबाजी को बर्दाश्त नहीं की जाएगी. ऐसे में ये माना जा रहा है अगर कोई नेता अब सार्वजनिक बयानबाजी करता है तो उस पर कार्रवाई तय है. साफ निर्देश दिए गए कि बेवजह की बयानबाजी से नेता और कार्यकर्ता बचें और सरकार की योजनाओं के प्रचार प्रसार पर ध्यान दें.

Tags: Bjp madhya pradesh, Madhya pradesh latest news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें