लाइव टीवी

धनतेरस पर बीजेपी नेता ने पूछा, मध्य प्रदेश में सरकारी कर्मचारियों को कब मिलेगा 'धन'

Manoj Rathore | News18 Madhya Pradesh
Updated: October 25, 2019, 3:06 PM IST
धनतेरस पर बीजेपी नेता ने पूछा, मध्य प्रदेश में सरकारी कर्मचारियों को कब मिलेगा 'धन'
राकेश सिंह ने पूछा सरकारी कर्मचारियों को डीए कब मिलेगा

प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष राकेश सिंह (rakesh singh) ने कहा मध्यप्रदेश में ऐसा पहली बार हुआ है, जब कर्मचारियों को केंद्र की तरह डीए (DA) दिया गया. कुछ विभागों में कई महीनों से तनख्वाह (SALARY) भी नहीं मिली है.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश (madhya pradesh) में धनतेरस (dhanteras) के दिन धन पर राजनीति हो रही है. सरकारी कर्मचारियों (Government employee) को डीए (DA) और कुछ विभागों के कर्मचारियों को तनख्वाह (Salary) नहीं मिली है. इसलिए बीजेपी (bjp) ने इसे मुद्दा बनाकर कमलनाथ सरकार (kamalnath government) से सवाल किया है. प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष राकेश सिंह (rakesh singh) ने कहा मध्यप्रदेश में ऐसा पहली बार हुआ है, जब कर्मचारियों को केंद्र की तरह डीए दिया गया. कुछ विभागों में कई महीनों से तनख्वाह भी नहीं मिली है.

धनतेरस पर बीजेपी दफ़्तर में धनतेरस की पूजा की गयी. कार्यकर्ताओं ने जमकर आतिशबाज़ी भी की.पूजा में प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष राकेश सिंह के साथ कई नेता मौजूद थे.पूजा करने के बाद राकेश सिंह ने मीडिया से बातचीत की.उन्होंने प्रदेश के विकास की बात की और जनता को शुभकामनाएं भी दीं.
ऐसा पहले कभी नहीं हुआ: बीजेपी
राकेश सिंह ने कहा हमने केंद्र सरकार की तरह ही प्रदेश के कर्मचारियों को डीए देने की मांग की थी. डीए तो दूर इस बार कई विभागों में कर्मचारियों को कई महीनों से वेतन ही नहीं मिला है.कर्मचारियों की दीपावली फीकी होने जा रही है.उन्होंने कहा मध्यप्रदेश में इससे पहले कभी ऐसा नहीं हुआ कि कर्मचारियों को दीपावली से पहले वेतन और डीए न मिला हो.उन्होंने सरकार से मांग की है कि जल्द ही सभी कर्मचारियों को डीए और वेतन दिया जाए.

मंत्री ने किया था वादा
जनसंपर्क मंत्री पी सी शर्मा ने केंद्र की तरह ही डीए देने की बात कही थी.शर्मा ने बुधवार को दावा किया था कि जल्द ही कर्मचारियों को केंद्र के समान डीए मिल जाएगा.लेकिन अभी तक कर्मचारियों को डीए नहीं मिला है.
केदार शुक्ला के बयान पर चुप्पी
Loading...

मीडिया ने राकेश सिंह से जब सीधी विधायक केदार शुक्ला के बयान पर सवाल पूछा, तो उन्होंने चुप्पी साध ली और बिना कुछ बोले कार्यालय में चले गए.झाबुआ चुनाव के परिणाम को लेकर केदार शुक्ला ने राकेश सिंह पर सवाल खड़े किए थे.उन्होंने हार का ठीकरा राकेश सिंह पर फोड़ा था.इस बयान के बाद पार्टी ने केदार शुक्ला को नोटिस जारी किया है.

ये भी पढ़ें-30 करोड़ के बैंक घोटाले पर बोलीं ताई-मेरे बेटे पर नहीं आएगी आंच

पन्ना SP ने बेटी के जन्म पर ऐसे किया अपनी 'लक्ष्मी' का स्वागत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 25, 2019, 3:02 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...