लाइव टीवी

पार्टी नेताओं से मुलाकात के बाद दीपक जोशी के सुर बदले, बोले : मैं बीजेपी के साथ हूं
Bhopal News in Hindi

Ranjana Dubey | News18 Madhya Pradesh
Updated: May 15, 2020, 8:30 PM IST

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वी डी शर्मा (v d sharma) ने दीपक जोशी (deepak joshi) की पार्टी से नाराजगी की बातों को सिरे से खारिज कर दिया. उन्होंने कहा-कोई नाराज नहीं है. दीपक जोशी से मेरी सामान्य मुलाकात थी.

  • Share this:
भोपाल. विधानसभा उपचुनाव (assembly  by elections) में टिकट कटने की अटकलों से नाराज चल रहे दीपक जोशी के सुर बदल गए हैं. दो दिन पहले विकल्प खुले रहने की बात कहने वाले जोशी आज भोपाल में पार्टी नेताओं से मिले. फिर बोले मैं पार्टी के साथ हूं. पार्टी हाट पिपलिया से जिसे भी टिकट (ticket) देगी वह जीतेगा. उन्होंने कांग्रेस (congress) में जाने की अटकलों को खारिज कर दिया.

आला नेताओं से चर्चा
पूर्व मंत्री दीपक जोशी हाट पिपलिया से विधायक थे. लेकिन पिछले विधानसभा चुनाव में वे कांग्रेस के मनोज चौधरी से हार गए थे. चौधरी अब कांग्रेस से बगावत कर बीजेपी में आ गए हैं. दल बदलने के कारण ये सीट अब खाली है और उपचुनाव होना है. चर्चा है कि हाट पिपलिया सीट से पार्टी दीपक जोशी का टिकट काटकर चौधरी को थमा रही है. इससे नाराज़ दीपक जोशी ने दो दिन पहले अन्य विकल्प खुले होने की बात कही थी. इसके बाद पार्टी ने उन्हें तलब कर लिया. जोशी ने शुक्रवार को भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बी डी शर्मा और संगठन महामंत्री सुहास भगत से भोपाल में अलग-अलग मुलाकात की. दोनों से उनकी बंद कमरे में चर्चा हुई. बाहर निकलकर जोशी बोले पार्टी से मेरी कोई नाराजगी नहीं है. हाट पिपलिया से मनोज चौधरी पार्टी के उम्मीदवार होंगे. वहां बीजेपी ही जीतेगी. दीपक जोशी ने कांग्रेस में जाने की अटकलों को खारिज कर दिया. उन्होंने कहा कांग्रेस में जाने का मेरा कोई विचार नहीं है. मैं बीजेपी में ही हूं और विधानसभा उपचुनाव में बीजेपी के लिए पूरे जोर-शोर से काम करूंगा.

2 दिन पहले जताई थी नाराजगी



प्रदेश में 24 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होना है. हाट पिपलिया से मनोज चौधरी के नाम की अटकलों पर पूर्व मंत्री दीपक जोशी की नाराजगी सामने आई थी. उन्होंने कहा था कि मेरे सामने भी विकल्प खुले हुए हैं. ये मेरे सम्मान की बात है और सम्मान को लेकर विकल्प खुले होना कोई नई बात नहीं है. इस बयान के बाद से उनके बीजेपी छोड़ कांग्रेस में जाने की अटकलों ने जोर पकड़ लिया था.



कांग्रेस के पास 92 और भाजपा के पास 107 सीटें
मध्य प्रदेश में मार्च में हुई उठापटक के बाद अब कांग्रेस के पास 92 और बीजेपी के पास 107 सीट हो गई है. सिंधिया समर्थक 22 बागी विधायकों ने कांग्रेस छोड़ बीजेपी का दामन थाम लिया है. इन बागियों के समर्थन से ही मध्य प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनी है. 22 विधायकों के पार्टी छोड़ने और दो विधायकों के निधन के बाद अब 24 सीटों पर उपचुनाव होना है. भाजपा को अपनी सरकार के बहुमत के लिए 9 सीटों की जरूरत है, वहीं कांग्रेस को 24. यही वजह है कि बीजेपी में टिकट के लिए मारामारी है और नाराजगी के सुर सुनाई दे रहे हैं.

हाट पिपलिया में मनोज चौधरी से हारे थे दीपक जोशी
2018 में हुए विधानसभा चुनाव में हाट पिपलिया सीट पर कांग्रेस के मनोज चौधरी ने ही दीपक जोशी को हराया था.अब चौधरी दल बदलकर बीजेपी में आ गए हैं. अब उपचुनाव में भाजपा मनोज चौधरी को हाट पिपलिया सीट से मौका देने की तैयारी में है. ऐसे में सालों से भारतीय जनता पार्टी में रहे दीपक जोशी अपने भविष्य को लेकर चिंतित हैं.

प्रदेश अध्यक्ष बोले ये सहज मुलाकात थी
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वी डी शर्मा ने दीपक जोशी की पार्टी से नाराजगी की बात को सिरे से खारिज कर दिया. उन्होंने कहा-कोई नाराज नहीं है. दीपक जोशी से मेरी सामान्य मुलाकात थी. न ही मैंने और न ही संगठन महामंत्री ने किसी को तलब किया है और न ही दीपक जोशी की किसी से कोई नाराजगी है. कांग्रेस के पास इस प्रदेश के अंदर कुछ नहीं बचा है. कांग्रेस को जनता ने नकार दिया है. भाजपा में जमीनी लोग हैं.

ये भी पढ़ें-

CM शिवराज सिंह चौहान ने दिया संकेत-17 मई के बाद होगा मंत्रिमंडल का विस्तार

कांग्रेस ने पूछा-प्रज्ञा ठाकुर कहां हैं!जवाब मिला-आपकी प्रताड़ना झेल रही हूं..


News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 15, 2020, 7:52 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading