लाइव टीवी

केदारनाथ शुक्ल के बाद अब रघुनंदन शर्मा बोले-पार्टी में हमें कोई पूछने वाला नहीं...

Ranjana Dubey | News18 Madhya Pradesh
Updated: October 25, 2019, 6:52 PM IST
केदारनाथ शुक्ल के बाद अब रघुनंदन शर्मा बोले-पार्टी में हमें कोई पूछने वाला नहीं...
उपेक्षा से दुखी वरिष्ठ बीजेपी नेता रघुनंदन शर्मा

रघुनंदन शर्मा (raghunandan sharma) ने कहा-काफी लंबे समय से पार्टी में संवादहीनता को देख रहा हूं.मेरे जैसे वरिष्ठ व्यक्ति से ना तो आज के दौर में प्रदेश अध्यक्ष,उपध्यक्ष ना ही जिम्मेदार लोग बात करते हैं, ना सुझाव लेते हैं. हमें ऐसा लगता है कि हमें कोई पूछने और सुनने वाला ही नहीं है

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश (Madhya pradesh) में पहले विधानसभा (assembly election ) और फिर झाबुआ (jhabua) उप चुनाव में बीजेपी (bjp) को मिली हार के बाद पार्टी नेताओं की नाराज़गी खुलकर सामने आ रही है. एक के बाद एक नेताओं के तल्ख तेवर दिखाई दे रहे हैं. पहले केदारनाथ ने उप चुनाव में हार के लिए प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष राकेश सिंह को ज़िम्मेदार ठहराया और अब पार्टी के वरिष्ठ नेता रघुनंदन शर्मा ने भी कुछ ऐसी ही बात कही.

हमें कोई सुनने वाला नहीं
रघुनंदन शर्मा (raghunandan sharma) ने कहा-काफी लंबे समय से पार्टी में संवादहीनता को देख रहा हूं.मेरे जैसे वरिष्ठ व्यक्ति से ना तो आज के दौर में प्रदेश अध्यक्ष,उपध्यक्ष ना ही जिम्मेदार लोग बात करते हैं, ना सुझाव लेते हैं. हमें ऐसा लगता है कि हमें कोई पूछने और सुनने वाला ही नहीं है.ऐसे में केदारनाथ जैसे लोग बाहर जाकर ही तो बोलेंगे. इसलिए पार्टी को इसे गंभीरता से लेने की ज़रूरत है ताकि लोग बाहर जाकर ना बोलें.अगर हमारे बोलने से पार्टी की कोई कमी दूर होती है तो बोलने में कोई हर्ज़ नहीं है. प्रदेश अध्यक्ष बदले जाने पर वो बोले- संगठन चुनाव के वक्त कार्यकर्ता जो चाहेंगे वहीं होगा.कार्यकर्ताओं की राय ज़रूर लेना चाहिए.

केदारनाथ के साथ खड़े हुए रघुनंदन शर्मा

सीधी के भाजपा विधायक केदारनाथ शुक्ल ने झाबुआ उपचुनाव में हार के साथ ही प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह को जिम्मेदार ठहाराय था..औऱ इस्तीफे की भी मांग की थी. अब रघुनंदन शर्मा भी उनके साथ आ खड़े हुए हैं.
संवाद की कमी
भाजपा के वरिष्ठ नेता औऱ पूर्व सांसद रघुनंदन शर्मा ने झाबुआ उपचुनाव में हार के बाद पार्टी में अंदरूनी गतिविधियों को ज़िम्मेदार ठहराया है.उनका कहना है भारतीय जनता पार्टी हमेशा से ही पारिवारिक भाव से काम करती रही है. 40-50साल से संवाद और पारिवारिक भावना से संगठन चल रहा था. नेता बैठकर कर सबसे विचार विमर्श करते थे.एक दूसरे की गलत फहमियां दूर करते रहे हैं. अभी भी इसी की आवश्यकता है.
Loading...

मुझे ऐसा लगता है...
रघुनंदन शर्मा ने कहा मुझे ऐसा लगता है कि आज पार्टी में संवादनहीनता की स्थिति है.संवादहीनता खत्म करने की ज़रूरत है.वरिष्ठ लोगों से संवाद करने की ज़रूरत है.संवाद की पहल जिम्मेदार लोगों को,दायित्व वाले लोगों को और महत्वपूर्ण पदों पर बैठे लोगों को करना चाहिए. नेता अगर कार्यकर्ताओं से संवाद करेंगे तो शायद इस तरह की स्थितियां खड़ी ही नहीं होंगी. उन्होंने कहा पार्टी हित में संवाद की कमी और हमारी कमज़ोरी दूर करने में कोई हर्ज़ नहीं है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 25, 2019, 6:52 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...