दिग्विजय के प्लान से डरी शिवराज सरकार, जवाब में बनाया मास्टर प्लान

नर्मदा नदी पर दिग्विजय सिंह के प्लान के पलट बीजेपी सरकार ने मास्टर प्लान तैयार कर लिया है.

Anurag Shrivastava | News18 Madhya Pradesh
Updated: May 17, 2018, 4:46 PM IST
दिग्विजय के प्लान से डरी शिवराज सरकार, जवाब में बनाया मास्टर प्लान
दिग्विजय के डर से शिवराज ने तैयार किया नया प्लान
Anurag Shrivastava | News18 Madhya Pradesh
Updated: May 17, 2018, 4:46 PM IST
मध्य प्रदेश में चुनाव से पहले एक बार फिर नर्मदा नदी में बढ़ता प्रदूषण और उसके अस्तित्व का मुद्दा बड़ा हो गया है. दिग्विजय सिंह के नर्मदा नदी से जुड़े मामले पर जल्द बड़ा खुलासा करने के संकेत के बीच शिवराज सरकार ने नर्मदा को बचाने के लिए करोड़ों खर्च करने का मास्टर प्लान तैयार कर लिया है.

मध्यप्रदेश की जीवनदायिनी नर्मदा नदी इस बार के चुनाव में बड़ा मुद्दा होगी. इसके संकेत कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह अपनी नर्मदा परिक्रमा खत्म करने के साथ दे चुके है और पार्टी हाईकमान से अनुमति मिलते ही दिग्विजय सही समय पर नर्मदा नदी में बढ़ते प्रदूषण, अवैध खनन, प्लांटेशन से जुड़े मुद्दों पर अपने प्लान का खुलासा कर प्रदेश सरकार की मुश्किलें बढ़ा सकते है.

नर्मदा नदी के मामले पर दिग्विजय सिंह ने अलग से कमलनाथ और दूसरे नेताओं के साथ चर्चा भी कर चुके है. इसका मतलब यह है कि चुनाव से पहले लाखों लोगों की आस्था का केंद्र नर्मदा नदी के नाम पर हुए भ्रष्टाचार पर सरकार को घेर कांग्रेस पार्टी बीजेपी के बड़े वोट बैंक में सेंध लगाने की तैयारी में है.

वहीं नर्मदा नदी पर दिग्विजय सिंह के प्लान के पलट बीजेपी सरकार ने मास्टर प्लान तैयार कर लिया है. यानि कि सरकार जल्द लोगों के बीच पहुंच कर नर्मदा नदी के आसपास हुए प्लांटेंशन की हकीकत, नदी में मिलने वाली गंदगी को रोकने, प्रदूषण को कम करने और अवैध खनन को बंद करने की रिपोर्ट बताने का काम करेगी और यहीं कारण है कि सरकार ने चुनाव से पहले नर्मदा नदीं के आसपास करोड़ों के प्रोजेक्ट शुरु करने की तैयारी कर ली है.

बीजेपी के मास्टर प्लान पर नजर डालें तो :-
-शहरी इलाकों में सीवरेज और दूसरे विकास कार्यो के लिए खास प्लान तैयार हुआ है
-वर्ल्ड बैंक की मदद से महेश्वर, नसरूल्लागंज, भेड़ाघाट, धरमपुरी में 91 करोड़ खर्च होंगे -स्पेशल फंड से नेमावर, अमरकंटक, ओंकारेश्वर, डिण्डोरी, शाहगंज, बुधनी, मण्डलेश्वर पर 122 करोड़ खर्च होंगे
Loading...

- के.एफ.डब्ल्यू फंड से होशंगाबाद, मण्डला, नरसिंहपुर, बड़वानी में 427 करोड़ खर्च होंगे.
-अमृत और एडीबी योजना के तहत जबलपुर में 571 करोड़ खर्च होंगे
- नर्मदा सेवा मिशन के तहत साईखेड़ा, बड़वाहा, अंजड़ और सनावद में 154 करोड़ रुपए खर्च होंगे.

सिर्फ इतना ही नहीं सरकार एक बार फिर नर्मदा के आसपास करोड़ों पौधे लगाने की तैयारी है. इसके अलावा ग्रामीण और वन विभाग की योजनाओं के सहारे भी नर्मदा नदी की सूरत बदलने की तैयारी है. मतलब साफ है कि दिग्विजय सिंह के खुलासे से पहले घबराई बीजेपी सरकार ने मास्टर प्लान तैयार कर कांग्रेस पर चुनाव से पहले जवाबी हमले की तैयारी कर ली है. ताकि एन चुनाव पर नर्मदा मिशन के जरिए होने वाले कामों के सहारे चौथी बार सत्ता पर काबिज हो सके.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
-->