PCC चीफ कमलनाथ को आशंका-नतीजों से पहले बीजेपी कर सकती है षड़यंत्र

कमलनाथ आज ग्वालियर चंबल की विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव का फीडबैक ले रहे हैं.
कमलनाथ आज ग्वालियर चंबल की विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव का फीडबैक ले रहे हैं.

उपचुनाव (By elections) में मतदान (Voting) के दौरान सबसे ज्यादा शिकायतें ग्वालियर चंबल इलाके से आई थीं. इसमें फायरिंग कर मतदाताओं को डराने और वोटिंग से रोकने की शिकायत शामिल है. इस पूरे मामले में कांग्रेस को आशंका है कि कांग्रेसी वोटर्स को रोकने की कोशिश की गयी थी.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश (MP) में 28 विधानसभा सीट पर मतदाताओं ने अपना फैसला दे दिया है. लेकिन अब नतीजों को लेकर कांग्रेस (Congress) आशंकित है. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने आशंका जताई है कि नतीजों से पहले बीजेपी कोई षड्यंत्र रच सकती है. कमलनाथ ने कांग्रेसियों से मतगणना तक मैदान में डटे रहने और सचेत रहने की अपील की है.

पीसीसी चीफ और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने उपचुनाव में जी-जान लगाकर पार्टी के लिए काम और प्रचार करने वाले कार्यकर्ताओं-साथियों का आभार जताया है. उन्होंने कहा लोकतंत्र और संविधान की रक्षा, पार्टी की मजबूती, जनमत के गद्दारों को सबक सिखाने और प्रदेश के भविष्य की सुरक्षा के लिए अमूल्य योगदान देने वाले कांग्रेस कार्यकर्ताओं का आभार है. लेकिन लड़ाई अभी खत्म नहीं हुई है. मतगणना तक कांग्रेस के हर एक कार्यकर्ता को मैदान में डटे रहना होगा. क्योंकि नतीजों से पहले बीजेपी कोई षड्यंत्र सकती है. कमलनाथ ने भरोसा दिलाया है की आखिर में जीत सच्चाई की होगी और कांग्रेस का परचम लहराएगा.

मतदान का फीडबैक
कमलनाथ ने अब विधान सभा क्षेत्र वार फीडबैक लेना भी शुरू कर दिया है. वो आज ग्वालियर चंबल की विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव का फीडबैक ले रहे हैं. इसमें ग्वालियर चंबल के नेताओं से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए वो जानकारी ले रहे हैं कि इलाके में कुल कितने प्रतिशत मतदान हुआ. क्या दिक्कतें और शिकायतें हैं. साथ ही कांग्रेस पार्टी ने मुरैना में उपचुनाव के दौरान हुई हिंसा को मुद्दा बनाने की तैयारी कर ली है. मुरैना में मतदान के दौरान हुई हिंसा और फायरिंग के कारण प्रभावित वोटिंग की जानकारी भी प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने मुरैना के पार्टी नेताओं से मांगी. कांग्रेस पार्टी मुरैना भिंड में हुई हिंसा को लेकर जिला प्रशासन के रवैए के खिलाफ बड़ा आंदोलन छेड़ने की तैयारी में है. साथ ही ग्वालियर चंबल की 16 सीटों पर उपचुनाव के बाद निगरानी के लिए भी कांग्रेस रणनीति बना रही है.



 ..ताकि गड़बड़ी न हो
उपचुनाव में मतदान के दौरान सबसे ज्यादा शिकायतें ग्वालियर चंबल इलाके से आई थीं. इसमें फायरिंग कर मतदाताओं को डराने और वोटिंग से रोकने की शिकायत  शामिल है. इस पूरे मामले में कांग्रेस को आशंका है कि कांग्रेसी वोटर्स को रोकने की कोशिश की गयी थी. अब पार्टी रणनीति तैयार कर रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज