लाइव टीवी

बीजेपी विधायक- पूर्व सांसद को स्पेशल कोर्ट ने सुनायी सज़ा, बाद में ज़मानत

Manoj Rathore | News18 Madhya Pradesh
Updated: November 1, 2019, 12:22 PM IST
बीजेपी विधायक- पूर्व सांसद को स्पेशल कोर्ट ने सुनायी सज़ा, बाद में ज़मानत
बीजेपी विधायक प्रह्लाद लोधी को सज़ा (BJP MLA and former MP sentenced, special court verdict)

30 अक्टूबर को एमपी एमएलए की स्पेशल कोर्ट (special court) ने श्योपुर से कांग्रेस विधायक (congress mla) बाबू जंडेल (babu jandel) और 14 लोगों को एक साल की सज़ा सुनाई थी.उसके बाद अब इसी कोर्ट ने पवई से बीजेपी विधायक प्रह्लाद लोधी के साथ 12 लोगों को दो साल की जेल और साढ़े तीन हजार रुपए जुर्माने की सज़ा सुनाई है.

  • Share this:
भोपाल.भोपाल जिला अदालत (district court bhopal) की स्पेशल कोर्ट (special court) ने कांग्रेस विधायक बाबू जंडेल के बाद अब पवई से बीजेपी (bjp mla) विधायक प्रहलाद लोधी (prahlad lodhi) और बीजेपी के ही पूर्व सांसद (ex mp) अशोक अर्गल (ashok argal) को सजा सुनाई है. हालांकि बाद में दोनों को ज़मानत भी मिल गयी.

30 अक्टूबर को एमपी एमएलए की स्पेशल कोर्ट ने श्योपुर से कांग्रेस विधायक बाबू जंडेल और 14 लोगों को एक साल की सज़ा सुनाई थी.उसके बाद अब इसी कोर्ट ने पवई से बीजेपी विधायक प्रह्लाद लोधी के साथ 12 लोगों को दो साल की जेल और साढ़े तीन हजार रुपए जुर्माने की सज़ा सुनाई है.कोर्ट के इस फैसले के बाद बाद में सभी को ज़मानत भी मिल गई है. इसी कोर्ट ने मानहानि के एक मामले में बीजेपी के पूर्व सांसद अशोक अर्गल और एक पत्रकार को छह महीने की सज़ा सुनाई है.
ये है पूरा मामला...
जानकारी के अनुसार 28 अगस्त 2014 को पन्ना जिले की रैपुरा तहसील सिमरिया थाना इलाके में नोनेलाल लोधी अवैध रेत का उत्खनन कर रहे थे.इसे रोकने के लिए तहसीलदार आर के वर्मा मौके पर पहुंचे और उन्होंने रेत से भरी ट्रैक्टर-ट्राली को जब्त कर लिया.थाने में कार्रवाई के बाद तहसीलदार वापस लौट रहे थे, तभी मडवा गांव के पास प्रह्लाद लोधी और उनके समर्थकों ने तहसीलदार से मारपीट की.पुलिस ने प्रह्लाद लोधी सहित 12 आरोपियों के खिलाफ मारपीट सहित विभिन्न धाराओं में केस दर्ज किया था.यह मामला ज़िला कोर्ट से ट्रांसफर होकर राजधानी भोपाल की एमपी, एमएलए की स्पेशल कोर्ट में आया था.

पूर्व सांसद को मानहानि केस में सज़ा
बीजेपी विधायक प्रह्लाद लोधी के फैसले के बाद स्पेशल कोर्ट ने मुरैना महापौर और पूर्व सांसद अशोक अर्गल के साथ एक पत्रकार को दोषी मानते हुए छह महीने की जेल की सज़ा सुनाई. बताया जा रहा है कि मुरैना कलेक्टर रहते हुए सीनियर आईएएस अधिकारी राधेश्याम जुलानिया के खिलाफ अशोक अर्गल ने भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था.अर्गल ने उनके खिलाफ बयानबाज़ी भी की थी.पत्रकार पर भी झूठे मामले को प्रचारित करने का आरोप था.कोर्ट ने मानहानि केस में सुनवाई करते हुए अर्गल के साथ पत्रकार के खिलाफ सज़ा का फैसला सुनाया.

ये भी पढ़ें-स्थापना दिवस पर CM कमलनाथ का संकल्प, नई उड़ान भरेगा MP, यह जनता की सरकार है
Loading...

MP में जेल ब्रेक : 3 साल बाद भी कुछ नहीं सुधरा, मास्टर प्लान फाइलों में दफन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 1, 2019, 12:21 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...