...तो इसलिए कार्रवाई से बच गये विधायक गोपीलाल जाटव! क्रॉस वोटिंग करने पर सिर्फ जवाब तलब
Bhopal News in Hindi

...तो इसलिए कार्रवाई से बच गये विधायक गोपीलाल जाटव! क्रॉस वोटिंग करने पर सिर्फ जवाब तलब
19 जून को हुए राज्यसभा चुनाव में बीजेपी विधायक गोपीलाल जाटव क्रॉस वोटिंग की थी

राज्यसभा चुनाव (Rajya Sabha Election) में क्रॉस वोटिंग (Cross Voting) करने के बावजूद इस बात की संभावना कम है कि पार्टी गोपीलाल जाटव के खिलाफ कोई एक्शन लेगी, क्योंकि आगे 24 सीटों पर उपचुनाव (By-election) होना है.

  • Share this:
भोपाल. राज्यसभा चुनाव (Rajya Sabha Election) के दौरान क्रॉस वोटिंग (Cross Voting) करने वाले बीजेपी विधायक गोपीलाल जाटव (Gopilal Jatav) को प्रदेश मुख्यालय में तलब किया गया. सोमवार को बीजेपी प्रदेश मुख्यालय पहुंचे गोपीलाल जाटव बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा और संगठन महामंत्री सुहास भगत के सामने पेश हुए. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक संगठन की ओर से गोपीलाल जाटव से क्रॉस वोटिंग करने को लेकर जवाब तलब किए गए. इस दौरान उन्हें फटकार भी पड़ी. हालांकि गोपीलाल जाटव गुपचुप तरीके से पेशी के बाद बीजेपी प्रदेश मुख्यालय से निकल गए और मीडिया के सवालों के जवाब देने से बचते रहे.

माना जा रहा है कि क्रॉस वोटिंग के बाद बीजेपी के मैनेजमेंट पर उठ रहे सवालों के बीच प्रदेश संगठन ने उन्हें तलब किया था. हालांकि इस बात की संभावना कम लग रही है कि पार्टी उपचुनाव को देखते हुए गोपीलाल जाटव के खिलाफ कोई बड़ा एक्शन लेगी, लेकिन फिर भी उन्हें सख्त हिदायत दी गई है.

क्या जाटव पर होगी कार्रवाई ?
राज्यसभा चुनाव में क्रॉस वोटिंग करने के बावजूद इस बात की संभावना कम है कि बीजेपी की ओर से गोपीलाल जाटव के खिलाफ कोई एक्शन लिया जाएगा. ऐसा इसलिए क्योंकि गोपीलाल जाटव अनुसूचित जाति वर्ग से आते हैं. और मध्य प्रदेश में जिन 24 सीटों पर उपचुनाव होना है, उनमें से 9 सीटें ऐसी हैं जो अनुसूचित जाति वर्ग से आती हैं. जबकि ग्वालियर चंबल संभाग की लगभग सभी 16 सीटों पर अनुसूचित जाति वर्ग का फैक्टर काम करता है. लिहाजा पार्टी गोपीलाल जाटव पर एक्शन लेकर किसी तरह का खतरा मोल नहीं लेना चाहती.
क्या है मामला ?


19 जून को हुए राज्यसभा चुनाव में यह बात सामने आई थी कि बीजेपी की ओर से एक विधायक ने क्रॉस वोटिंग की है. क्रॉस वोटिंग करने वाले गुना से बीजेपी के विधायक गोपीलाल जाटव थे. गोपीलाल जाटव ने गलती से क्रॉस वोटिंग की या जानबूझकर इसको लेकर कई सवाल खड़े हो रहे हैं. लेकिन गोपीलाल जाटव की वरिष्ठता और पूर्व में वोट करने के उनके अनुभव को देखते हुए इस बात की संभावना कम है कि उन्होंने गलती में क्रॉस वोटिंग की थी. ऐसे में यह कयास लगाए जा रहे हैं कि मंत्रिमंडल विस्तार में अपना पत्ता कटता देख गोपीलाल जाटव ने यह कदम उठाया. और पार्टी को यह मैसेज देने की कोशिश की कि वह आने वाले वक्त में और क्या कुछ कर सकते हैं.

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading