लाइव टीवी

जब राजभवन में शिवराज ने करायी विधायकों की परेड, BJP के नारायण त्रिपाठी थे CM के साथ
Bhopal News in Hindi

Ranjana Dubey | News18 Madhya Pradesh
Updated: March 16, 2020, 6:39 PM IST
जब राजभवन में शिवराज ने करायी विधायकों की परेड, BJP के नारायण त्रिपाठी थे CM के साथ
बीजेपी विधायक नारायण त्रिपाठी राजभवन में परेड में शामिल नहीं हुए

स बीच खबर आयी कि कांग्रेस से बागी होकर निर्दलीय चुनाव लड़े विधायक सुरेंद्र सिंह शेरा बागी विधायकों को मनाने बेंगलुरू जाएंगे. शेरा सीएम कमलनाथ से मिलने सीएम हाउस पहुंचे. शेरा ने कहा सरकार के पास पर्याप्त विधायक हैं इसलिए सरकार पूरे 5 साल चलेगी.

  • Share this:
भोपाल. कमलनाथ सरकार (kamalnath government) का पहले विधान सभा में साथ दे चुके बीजेपी (bjp mla) विधायक नारायण त्रिपाठी आज भी पार्टी के अपने साथियों के साथ गवर्नर हाउस नहीं गए. उल्टे वो सीएम कमलनाथ से मिलने जा पहुंचे. बाहर निकलकर बोले- मैं विकास के साथ हूं. हां मैं राजभवन नहीं गया.

मध्य प्रदेश में बढ़े सियासी पारे के बीच जब शिवराज सिंह चौहान राजभवन में बीजेपी के 106 विधायकों की परेड करा रहे थे. उसी दौरान उनके ही एक विधायक नारायण त्रिपाठी उनसे दूर सीएम कमलनाथ से मुलाकात कर रहे थे. बाहर निकलकर वो बोले मैहर को ज़िला बनाने की मांग लेकर उनकी सीएम से चर्चा हुई. वो कांग्रेस के साथ हैं या बीजेपी के. इस सवाल पर त्रिपाठी बोले-मैं अपने क्षेत्र के विकास के साथ हूं. बाद में ज़ोर से बोले-हां मैं राजभवन नहीं गया. त्रिपाठी ये भी बोले कि अभी तो मुख्यमंत्री कमलनाथ ही हैं और सरकार पर कोई संकट नहीं है.

कौन हैं नारायण त्रिपाठी
नारायण त्रिपाठी मैहर से बीजेपी विधायक हैं. इससे पहले उन्होंने जुलाई में मध्य प्रदेश विधान सभा में दंड विधि संशोधन विधेयक पर कमलनाथ सरकार का साथ दिया था. उन्होंने पार्टी लाइन से अलग जाकर कांग्रेस का साथ देकर क्रॉस वोटिंग की थी. उन्होंने कहा था कि मैहर का विकास नहीं करने के कारण मैं बीजेपी से ख़फा हूं.



शेरा जाएंगे बेंगलुरु


इस बीच खबर आयी कि कांग्रेस से बागी होकर निर्दलीय चुनाव लड़े विधायक सुरेंद्र सिंह शेरा बागी विधायकों को मनाने बेंगलुरू जाएंगे. शेरा सीएम कमलनाथ से मिलने सीएम हाउस पहुंचे. शेरा ने कहा सरकार के पास पर्याप्त विधायक हैं इसलिए सरकार पूरे 5 साल चलेगी.

उत्तराखंड के पूर्व सीएम हरीश रावत कमलनाथ से मिले
उत्तराखंड के पूर्व सीएम हरीश रावत भी इस हलचल के बीच सीएम कमलनाथ से मिलने उनके निवास पर गए. पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने बीजेपी पर सवाल उठाए कि कि अगर विधानसभा में उसके पास बहुमत है तो फिर अदालत क्यों गयी. बहुमत ना होने के कारण ही बीजेपी सुप्रीम कोर्ट गयी है. कांग्रेस सांसद विवेक तन्खा ने कहा-अगर बीजेपी कोर्ट गयी है तो हम भी कोर्ट में उसका जवाब देंगे.उन्होंने कहा-अगर राज्य में राष्ट्रपति शासन लगता है तो ये लोकतांत्रिक तरीक़े से बेहद ग़लत होगा.

ये भी पढ़ें-

पी एल पुनिया का आरोप-bjp ने कांग्रेस विधायकों को दिया 25 करोड़ रु का ऑफर

MP विधानसभा की कार्यवाही 26 मार्च तक स्थगित, नहीं हुआ फ्लोर टेस्‍ट
First published: March 16, 2020, 3:41 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading