लाइव टीवी
Elec-widget

कमलनाथ सरकार का साथ देने वाले BJP MLA शरद कोल फिर कह गए ये बात...

Manoj Rathore | News18 Madhya Pradesh
Updated: November 26, 2019, 3:18 PM IST
कमलनाथ सरकार का साथ देने वाले BJP MLA शरद कोल फिर कह गए ये बात...
मंत्री जीतू पटवारी से मिले बीजेपी विधायक शरद कोल

जीतू पटवारी (jitu patwari) ने कहा, अगर कमलनाथ सरकार (kamalnath government) के सामने फ्लोर टेस्ट की नौबत आयी तो एक नहीं कई विधायक कांग्रेस (congress) के साथ आएंगे.बीजेपी से दुखी विधायक सकारात्मक पार्टी से संपर्क करेंगे.

  • Share this:
भोपाल.ब्यौहारी से बीजेपी विधायक (BJP MLA) शरद कोल (Sharad kol) के एक बयान ने सियासतदारों के कान खड़े कर दिए हैं. कोल पहले कमलनाथ सरकार में मंत्री जीतू पटवारी से मिले और फिर फ्लोर टेस्ट जैसा कोई बयान देकर हलचल मचा गए.

मध्य प्रदेश दंड विधि संशोधन विधेयक पर कमलनाथ सरकार का साथ देने वाले बीजेपी विधायक शरद कोल फिर राजनीतिक सरगर्मी पैदा कर गए हैं. मंगलवार को वो कमलनाथ सरकार में उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी से मिलने उनके सरकारी बंगले में पहुंचे. मुलाकात के बाद बाहर निकले कोल ने मीडिया के सामने खुद को बीजेपी का विधायक ज़रूर बताया, लेकिन पार्टी को समर्थन देने के नाम पर कहा- ये समय बताएगा.उनके बयान से लग रहा है कि वो बीजेपी को हां भी कह रहे हैं और न भी.

जीतू पटवारी से मुलाकात
शरद कोल क्या बीजेपी के साथ हैं या कांग्रेस का हाथ थाम रहे हैं.इस सवाल पर उन्होंने गोलमोल जबाव दिया.फ्लोर टेस्ट में समर्थन देने के सवाल पर कहा-ये समय बताएगा. कोल ने कहा, मैं भारतीय जनता पार्टी से चुना गया हूं. यह लोकतंत्र की व्यवस्था है कि चुनकर सदन में क्या करना है. कोल ने कहा, मैं विकास काम के सिलसिले में जीतू पटवारी से मिलने आए थे. मैं जन प्रतिनिधि हूं. विकास में जो अड़चन आएंगी, उन्हें क्लियर करने में लगा हूं. फ्लोर टेस्ट को लेकर उन्होंने कहा कि यह समय बताएगा.

पटवारी का दावा
शरद कोल से मुलाकात पर मंत्री जीतू पटवारी ने कहा, मुझसे दिन में तीन चार विधायक रोज अपने क्षेत्र के विकास कार्य के लिए मिलते हैं.जब तक चुनाव होता है तब तक सदस्य पार्टी का होता है. चुने जाने के बाद वो अपने क्षेत्र की पूरी जनता का विधायक होता है. पटवारी ने ये छुतंगा भी छोड़ा कि अगर भविष्य में कभी कमलनाथ सरकार को विधानसभा में अपना बहुमत साबित करने के लिए फ्लोर टेस्ट की नौबत आयी तो एक नहीं कई विधायक कांग्रेस के साथ आएंगे.बीजेपी से दुखी विधायक सकारात्मक पार्टी से संपर्क करेंगे.

कमलनाथ सरकार का साथ
Loading...

शरद कोल बीजेपी के विधायक ज़रूर हैं, लेकिन विधानसभा में दंड विधि संशोधन विधेयक पर सरकार के पक्ष में वोटिंग की थी. उनका साथ बीजेपी के ही एक और विधायक नारायण त्रिपाठी ने दिया था. तब अटकलें लगी थीं कि कोल को बीजेपी से निष्कासित कर दिया जाएगा. वो कांग्रेस में शामिल होंगे. लेकिन बीजेपी ने उन्हें पार्टी से निष्कासित नहीं किया. हालांकि उस घटनाक्रम के बाद उन पर कांग्रेस का ठप्पा लगा हुआ है.

ये भी पढ़ें-स्वच्छता में नंबर 1 की दौड़ : कार में भी डस्टबिन रखना होगा वरना लगेगा फाइन

पीली चादर बिछ गयी है होशंगाबाद के इस गांव में, बड़े-बड़े अफसर आ रहे हैं देखने

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 26, 2019, 3:18 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com