अपना शहर चुनें

States

भोपाल नगर निगम को बांटने वाले ड्राफ्ट का BJP ने किया विरोध, मेयर ने कही ये बात

दो दिन में 300 दावे और आपत्तियां आई हैं.
दो दिन में 300 दावे और आपत्तियां आई हैं.

भोपाल नगर निगम (Bhopal Municipal Corporation) के बंटवारे को लेकर बने ड्राफ्ट (Draft) के विरोध में भाजपा नेताओं ने आज अपने दावे और आपत्तियां दर्ज कराईं. शहर के मेयर आलोक शर्मा (Mayor Alok Sharma) ने कहा कि अगर प्रशासन और सरकार ने उनकी मांगों को नहीं माना, तो वह कोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे.

  • Share this:
भोपाल. राजा भोज के शहर भोपाल नगर निगम (Bhopal Municipal Corporation) के बंटवारे को लेकर बनाए जाने वाले ड्राफ्ट (Draft) के विरोध में भाजपा नेताओं ने आज अपने दावे और आपत्तियां दर्ज कराईं. बड़ी संख्‍या में बस में सवार होकर शहर के मेयर आलोक शर्मा (Mayor Alok Sharma) और भाजपा पार्षद कलेक्टर कार्यालय के लिए रवाना हुए. इन सभी ने रास्ते में बड़े तालाब के पास बनी राजा भोज की प्रतिमा (Statue of Raja Bhoj) के पास खड़े होकर मानव श्रंखला बनाई और भजन गाए. इसके बाद कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर उन्होंने अपनी दावे और आपत्तियां दर्ज कराईं.

ऐसा है कलेक्‍टर का ड्राफ्ट
भोपाल को दो नगर निगम बनाए जाने को लेकर कलेक्टर ने एक ड्राफ्ट जारी किया, जिसमें भोपाल नगर निगम और कोलार नगर निगम बनाने को लेकर शहरवासियों से दावे और आपत्तियां मंगाई गई हैं. जबकि कल यानी 16 अक्‍टूबर को इसका आखरी दिन है. उसके बाद जिला प्रशासन इन दावे और आपत्तियों को सरकार के सामने पेश करेगा.

भाजपा ने कही ये बात
अपने दावे और आपत्तियां दर्ज कराते हुए भोपाल के मौजूदा मेयर आलोक शर्मा ने कहा कि अगर प्रशासन और सरकार ने उनकी मांगों को नहीं माना, तो वह कोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे. उन्‍होंने आगे कहा कि दो नगर निगम बनाए जाने से विकास के कार्यों में देरी आएगी. साथ ही भाजपा की महिला पार्षदों ने भी इस ड्राफ्ट का विरोध किया है.जबकि जिला प्रशासन के अधिकारीयों ने बताया कि पिछले दो दिनों में 300 से ज्यादा दावे और आपत्तियां आई हैं, जिसे सरकार को भेजना है.



ये भी पढ़ें-

मैग्नीफिसेंट MP में पेश की जाएगी स्वास्थ्य निवेश नीति, निजी अस्‍पताल खोलने पर मिलेगी 50 फीसदी सब्सिडी

BJP के बागी विधायक की 'घर वापसी', बोले- मैं कांग्रेस में कभी गया ही नहीं था
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज