लाइव टीवी

भोपाल नगर निगम के बंटवारे पर तेज हुई तकरार, सड़कों पर उतरेगी BJP

Sharad Shrivastava | News18 Madhya Pradesh
Updated: October 10, 2019, 4:25 PM IST
भोपाल नगर निगम के बंटवारे पर तेज हुई तकरार, सड़कों पर उतरेगी BJP
भोपाल नगर निगम के बंटवारे के खिलाफ भारतीय जनता पार्टी करेगी आंदोलन.

भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) ने भोपाल नगर निगम (Bhopal Municipal Corporation) के बंटवार के खिलाफ आंदोलन की तैयारी कर ली है. गुरुवार को बीजेपी प्रदेश कार्यालय में हुई बैठक में प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह (BJP State President Rakesh Singh) और भोपाल मेयर आलोक शर्मा (Bhopal Mayor Alok Sharma) के अलावा विधायक और नेता शामिल हुए.

  • Share this:
भोपाल. भोपाल नगर निगम (Bhopal Municipal Corporation) के बंटवारे के खिलाफ भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) ने सड़कों पर उतरने की तैयारी कर ली है. विरोध की रणनीति बनाने के लिए गुरुवार को बीजेपी प्रदेश कार्यालय में एक अहम बैठक हुई. बैठक में प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह (BJP State President Rakesh Singh), भोपाल मेयर आलोक शर्मा (Bhopal Mayor Alok Sharma), विधायक विश्वास सारंग, रामेश्वर शर्मा, कृष्णा गौर और पूर्व विधायक उमाशंकर गुप्ता भी शामिल हुए. बीजेपी ने तय किया है कि वो भोपाल नगर निगम को दो हिस्सों में बांटने और मेयर चुनाव अप्रत्यक्ष तरीके से कराए जाने का हर स्तर पर विरोध करेगी.

भाजपा करेगी ये काम
बीजेपी नेता जिलों से लेकर पंचायत तक हस्ताक्षर अभियान चलाएंगे और इन हस्ताक्षर को राज्यपाल तक भेजेंगे. इसके साथ ही बीजेपी के जनप्रतिनिधि भोपाल नगर निगम को दो हिस्सों में बांटने वाले
ड्राफ्ट पर अपनी आपत्ति दर्ज कराने कलेक्टर कार्यालय तक भी पहुचेंगे. बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने बैठक के बाद मीडिया से बात करते हुए कहा कि अगर जरूरी हुआ तो बीजेपी इस मुद्दे पर कोर्ट भी जाएगी.

क्या है विरोध की वजह?
दरअसल, कमलनाथ सरकार भोपाल को दो नगर निगम में बांटने की तैयारी कर रही है. कलेक्टर की ओर से नगर निगम को दो हिस्सों पूर्व और पश्चिम में बांटने का ड्राफ्ट जारी कर उस पर दावे आपत्तियां मांगी गई हैं. दावे और आपत्तियां 14 अक्टूबर तक ली जा सकेंगी. इसके बाद ड्राफ्ट सरकार के पास जाएगा और सरकार से मंजूरी के बाद राज्यपाल लालजी टंडन के पास भेजा जाएगा. राज्यपाल की मंजूरी के बाद भोपाल निगम को दो हिस्सों में बांटने का रास्ता साफ हो जाएगा. बीजेपी इस कोशिश को राजनीतिक फायदे के लिए उठाया गया कदम बता रही है.

मेयर चुनाव पर भी है तकरार
Loading...

बीजेपी मेयर और नगर पालिका अध्यक्षों के चुनाव अप्रत्यक्ष तरीके से कराए जाने का भी विरोध कर रही है. बीजेपी का आरोप है कि कांग्रेस हार की हताशा में ये कदम उठा रही है. आपको बता दें कि कमलनाथ सरकार ने अध्यादेश के जरिए मेयर का चुनाव प्रत्यक्ष करने के बजाए पार्षदों के जरिए कराए जाने का रास्ता साफ कर दिया है. मध्य प्रदेश में अब मेयर के चुनाव जनता के बजाए पार्षद करेंगे.

ये भी पढ़ें-

'युवराज' की हत्‍या से गुस्‍से में MP की अधिवक्ता परिषद, कल सड़क पर उतरेंगे 90 हजार वकील

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 10, 2019, 4:13 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...