भाजपा की राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक 24-25 सितंबर को दिल्ली में
Bhopal News in Hindi

भाजपा की राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक 24-25 सितंबर को दिल्ली में
देश में आम चुनाव होने में डेढ़ साल से ज्यादा का वक्त बचा है लेकिन सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी ने मिशन -2019 के लिए रोडमैप तैयार कर लिया है. यही नहीं अगले चार दिन बाद 25 सितम्बर को भाजपा ने मिशन-2019 को फतह करने के लिए शंखनाद करने की तैयारी भी कर ली है.

देश में आम चुनाव होने में डेढ़ साल से ज्यादा का वक्त बचा है लेकिन सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी ने मिशन -2019 के लिए रोडमैप तैयार कर लिया है. यही नहीं अगले चार दिन बाद 25 सितम्बर को भाजपा ने मिशन-2019 को फतह करने के लिए शंखनाद करने की तैयारी भी कर ली है.

  • Share this:
देश में आम चुनाव होने में डेढ़ साल से ज्यादा का वक्त बचा है लेकिन सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी ने मिशन -2019 के लिए रोडमैप तैयार कर लिया है. यही नहीं अगले चार दिन बाद 25 सितम्बर को भाजपा ने मिशन-2019 को फतह करने के लिए शंखनाद करने की तैयारी भी कर ली है.

इसी दिन दिल्ली में पार्टी की दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक का समापन होगा. तालकटोरा स्टेडियम में होने वाली बैठक के समापन पर भाजपा ने राजनीतिक संदेश के साथ शक्ति प्रदर्शन की तैयारी भी की है.

भाजपा के गठन के बाद पहली बार संगठन ने कार्यसमिति की बैठक के समापन समारोह में शामिल होने के लिए देश भर के सांसदों और विधायकों को बुलाया है. दूसरी ओर 25 सितम्बर को भाजपा के वैचारिक पुरुष और जनसंघ के संस्थापक पंडित दीनदयाल उपाध्याय का 101वां जन्मदिन भी है, यानि इसी दिन दीनदयाल जन्म शताब्दी वर्ष का समापन अवसर भी होगा.



बताया जा रहा है कि पिछले साल कोझीकोड़ में हुई राष्ट्रीय कार्यसमिति में दीनदयाल उपाध्याय की जन्मशती वर्ष मनाने का निर्णय हुआ था. इस दौरान भाजपा ने देशभर में अलग-अलग तरह के अभियान चलाकर संगठन को गतिशील और सशक्त करने की कोशिश की.
अब 25 सितंबर को एक बार फिर राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो हजार से ज्यादा चुने हुए जनप्रतिनिधियों के सामने न्यू इंडिया विजन को पेश करेंगे. साथ ही अगले दो साल की कार्ययोजना जिस में लोकसभा चुनाव और कई राज्यों में विधानसभा चुनाव होने है.

सूत्रों के मुताबिक भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की इस बैठक में कांग्रेस मुक्त भारत बनाने के लिए नई रणनीति पर भी चर्चा हो सकती है. इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी गुजरात, हिमाचल प्रदेश सहित अन्य दूसरे राज्यों में होने वाले चुनाव और साल 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए जुट जाने के लिए पार्टी के देश भर के सांसदों और विधायकों का आह्वावान कर सकते हैं.

एमपी से 90 साल के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर ने दिल्ली जाने के लिए टिकट कटा ली है. प्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, गौर समेत 165 विधायक हैं. 26 लोकसभा सांसद और 8 राज्यसभा सांसद हैं, जो राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक में पहली बार बुलाये जाने को लेकर उत्साहित हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading