लाइव टीवी

29 हजार सफाई कर्मचारियों को सरकार का तोहफा, सबको मिलेगा ये इनाम

Anurag Shrivastava | News18 Madhya Pradesh
Updated: March 8, 2019, 7:56 PM IST
29 हजार सफाई कर्मचारियों को सरकार का तोहफा, सबको मिलेगा ये इनाम
इंदौर

सीएम कमलनाथ ने कहा, स्वच्छता सर्वेक्षण -2019 में इन शहरों के अव्वल आने के पीछे असली मेहनत इन शहरों के सफ़ाईकर्मियों की है. इनकी दिन रात कड़ी मेहनत से यह संभव हो सका. सीएम कमलनाथ ने कहा इनके अथक परिश्रम की जितनी सराहना की जाए वो कम है.

  • Share this:
कमलनाथ सरकार प्रदेश के 29 हजार सफाई कर्मचारियों को तोहफा देने जा रही है. छह नगरीय निकायों के सफाई कर्मचारियों को ये इनाम दिया जाएगा. ये वो नगरीय निकाय हैं जो स्वच्छता सर्वेक्षण में अव्वल आए हैं.

कमलनाथ सरकार ने स्वच्छता सर्वे में टॉप पर आने वाले नगरीय निकायों को इनाम देने का फैसला किया है. स्वच्छता सर्वे में देश के टॉप बीस स्वच्छ शहरों में से 6 शहर मध्य प्रदेश के हैं. इंदौर, उज्जैन, देवास, खरगोन, नागदा भोपाल इस सर्वे में आगे रहे. इंदौर देश का सबसे स्वच्छ शहर रहा और भोपाल सबसे साफ राजधानी चुनी गयीं. इसी तरह उज्जैन 10 लाख से कम आबादी वाली कैटेगिरी में सबसे साफ शहर चुना गया.

ये भी पढ़ें - PHOTOS : तस्वीरों में देखिए देश का सबसे स्वच्छ शहर इंदौर कैसा है

ये स्थानीय निकाय के सफाई कर्मचारियों की मेहनत का परिणाम है.इसलिए अब इन सभी 6 निकायों के सफाई कर्मचारियों को मुख्यमंत्री कमलनाथ इनाम दे रहे हैं. सभी सफाई कर्मचारियों को पांच हजार रुपए का बोनस बतौर सम्मान राशि दिया जाएगा.

ये भी पढ़ें - देश के सबसे स्वच्छ शहर इंदौर की ये है ख़ासियत, इसलिए बना सफाई में सिकंदर

सीएम कमलनाथ ने कहा, स्वच्छता सर्वेक्षण -2019 में इन शहरों के अव्वल आने के पीछे जनता की जागरूकता और जनभागीदारी तो है ही, लेकिन असली मेहनत इन शहरों के सफ़ाईकर्मियों की है. इनकी दिन रात कड़ी मेहनत से यह संभव हो सका. सीएम कमलनाथ ने कहा इनके अथक परिश्रम की जितनी सराहना की जाए वो कम है.

इंदौर लगातार तीसरे साल देश का सबसे स्वच्छ शहर चुना गया है. भोपाल शहरों की स्वच्छता रैंकिंग में तो नीचे लुढ़क गया लेकिन सबसे साफ राजधानी की कैटेगिरी में अव्वल आया.सीएम कमलनाथ ने कहा, स्वच्छता सर्वेक्षण -2019 में इन शहरों के अव्वल आने के पीछे जनता की जागरूकता और जनभागीदारी तो है ही, लेकिन असली मेहनत इन शहरों के सफ़ाईकर्मियों की है. इनकी दिन रात कड़ी मेहनत से यह संभव हो सका. सीएम कमलनाथ ने कहा इनके अथक परिश्रम की जितनी सराहना की जाए वो कम है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 8, 2019, 7:56 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर