लाइव टीवी

रिश्वत लेते पकड़े गए वन अधिकारी की डायरी में नोट हैं-ये 160 नाम और सबका हिस्सा...
Bhopal News in Hindi

Manoj Rathore | News18 Madhya Pradesh
Updated: February 14, 2020, 6:45 PM IST
रिश्वत लेते पकड़े गए वन अधिकारी की डायरी में नोट हैं-ये 160 नाम और सबका हिस्सा...
मध्य प्रदेश में रिश्वतखोरी(सांकेतिक तस्वीर)

डीएफओ (dfo), एसडीओ (sdo), सीसीएफ, सरपंच सहित 160 से ज्यादा लोगों को रिश्वत के पैसे पहुंचाए जा रहे थे. डीएफओ-एसडीओ को हर महीने 1-1 लाख रुपए और सीसीएफ को 50 हजार रुपए पहुंचाए जा रहे थे

  • Share this:
भोपाल.दो दिन पहले सोहागपुर में रिश्वत (bribe) लेते पकड़े गए राज्य वन सेवा के प्रशिक्षु अधिकारी विजय कुमार मोरे की डायरी ने कई राज उगले हैं. लोकायुक्त छापे (lokayukta raid) में मिली डायरी से पता चला है कि दो नंबर का पैसा ऊपर से लेकर नीचे तक सबको बंट रहा था. डीएफओ (dfo), एसडीओ (sdo), सीसीएफ, सरपंच सहित 160 से ज्यादा लोगों को रिश्वत के पैसे पहुंचाए जा रहे थे. डीएफओ-एसडीओ को हर महीने 1-1 लाख रुपए और सीसीएफ को 50 हजार रुपए पहुंचाए जा रहे थे.

न्यूज 18 के पास उस डायरी के कई पन्नों की कॉपी है, जिसमें मोरे ने भ्रष्टाचार का पूरा हिसाब-किताब लिखा है.अधिकारियों और रसूखदारों के अलावा भी डायरी में हेयर सेलून, पेंटर, पानी की कैन के लिए दी गई राशि का जिक्र है.लोकायुक्त भोपाल टीम ने दो दिन पहले सोहागपुर में सहायक वन परिक्षेत्र अधिकारी विजय कुमार मोरे को पचास हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पर गिरफ्तार किया था.आरोपी मोरे ने ट्रॉली छोड़ने के एवज में गुर्जरखेड़ी में रहने वाले महेश कुमार तिवारी से डीएफओ और एसडीओ के नाम पर तीन लाख की रिश्वत मांगी थी.लोकायुक्त टीम ने मोरे के कमरे की तलाशी ली, तो रिश्वत के सात लाख 25 हजार रुपए मिले थे. साथ ही लेनदेन की डायरी भी बरामद हुई.इस डायरी में ही वन विभाग के अधिकारियों और दूसरे लोगों की दी गई भ्रष्टाचार की राशि का जिक्र है.मोरे की यह पहली पोस्टिंग थी.

डायरी में वन विभाग के कई अफसरों के नाम​
भोपाल लोकायुक्त डीएसपी नवीन अवस्थी ने बताया कि आरोपी मोरे के पास से कई दस्तावेज ज़ब्त किए गए. इनकी जांच की जा रही है.डायरी में दिए गए नामों के संबंध में जानकारी जुटाई जा रही है.बयान भी लिए जा रहे हैं.यदि जांच में सबूत मिलते हैं, तो कोई भी अफसर हो या फिर रसूखदार सभी पर वैधानिक कार्रवाई की जाएगी.न्यूज 18 के हाथ लगी डायरी के कुछ पन्नों में खुलासा हुआ है कि मोरे डीएफओ और एसडीओ को एक-एक लाख रुपए और सीसीएफ को 50 हजार रुपए देता था.सरपंच संतोष बिनेका को पांच हजार रुपए दिए.डीएफओ ऑफिस के विजय भैया को पांच हजार रुपए दिए.

160 से ज्यादा लोगों के नाम
न्यूज 18 के पास मौजूद पन्नों की कॉपी में वन विभाग के कुछ बड़े नामों के अलावा भी 160 से ज्यादा लोगों के नाम दर्ज हैं.इन नामों के आगे दी गई राशि को भी लिखा गया है.इतना ही नहीं डायरी के पन्नों में पानी की कैन, पुरुस्कार वितरण, जेसीबी मशीन, चंदा, पर्सनल खर्च, पेंट, हेयर सेलून और घर पर दी गई राशि का जिक्र भी है.डीएसपी अवस्थी ने बताया कि अभी डायरी के पन्नों की जांच चल रही है.आरोपी मोरे की राईटिंग की जांच भी कराई जाएगी.

ये भी पढ़ें-कैलाश विजयवर्गीय को इंदौर में नजर आया पितृ दोष, करेंगे ये उपाय...गुजरात के बाद MP बनेगा टेक्सटाइल और गारमेंटस का सबसे बड़ा हब

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 14, 2020, 6:39 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर