BSP का साथ छोड़ प्रागी लाल जाटव ने थामा कांग्रेस का हाथ, करेरा विधानसभा सीट से लड़ चुके हैं चुनाव
Bhopal News in Hindi

BSP का साथ छोड़ प्रागी लाल जाटव ने थामा कांग्रेस का हाथ, करेरा विधानसभा सीट से लड़ चुके हैं चुनाव
ग्वालियर चंबल इलाके की 16 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव है.

प्रागी लाल जाटव (Pragi Lal Jatav) को पार्टी में शामिल कर कांग्रेस ने जाटव वोट बैंक में सेंध लगाई है. इसके अलावा डबरा नगरपालिका की पूर्व अध्यक्ष सत्य प्रकाशी बीएसपी कार्यकर्ताओं के साथ कांग्रेस में शामिल हो गईं.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
भोपाल. प्रदेश की 24 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव से पहले दलबदल का सिलसिला तेज हो गया है. ग्वालियर इलाके में ब्राह्मण चेहरा बालेंद्र शुक्ला (Balendra Shukla) के बीजेपी से कांग्रेस में आने के बाद अब एससी एसटी वोट पर कांग्रेस पार्टी की नजरें और यही कारण है कि बीएसपी (BSP) के वोट बैंक में कांग्रेस ने अब सेंध लगाना शुरू कर दिया है. बीएसपी के कई बड़े नेता आज कांग्रेस पार्टी में शामिल हुए. 2018 के विधानसभा चुनाव में बीएसपी के टिकट पर करेरा विधानसभा सीट से चुनाव लड़े प्रागी लाल जाटव आज कांग्रेस में शामिल हो गए. इसके अलावा डबरा नगरपालिका की पूर्व अध्यक्ष सत्य प्रकाशी बीएसपी कार्यकर्ताओं के साथ कांग्रेस में शामिल हो गईं.यह दोनों बड़े चेहरे ग्वालियर चंबल इलाके में बसपा के बड़े चेहरे थे.

2018 के चुनाव में प्रागी लाल जाटव ने चुनाव लड़ा था और कांग्रेस, बीजेपी के बाद तीसरे नंबर पर रहे थे. करेरा समेत ग्वालियर के कई विधानसभा सीटों पर जाटव वोट बैंक चुनाव में निर्णय भूमिका में रहते हैं और ऐसे में कांग्रेस ने बीएसपी के साथ ही जाटव वोट बैंक साधने के लिए प्रागी लाल जाटव को कांग्रेस में शामिल कर लिया है. प्रदेश कांग्रेस दफ्तर में आज कांग्रेस के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष रामनिवास रावत पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा एमपी प्रजापति और पीसी शर्मा की मौजूदगी में प्रागी लाल जाटव, सत्य प्रकाशी समेत कई बीएसपी कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस की सदस्यता ली.

क्यों यह महत्व
दरअसल ग्वालियर चंबल इलाके की 16 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव है. उसमें करेरा विधानसभा सीट पर कांग्रेस से बीजेपी में शामिल हुए जसवंत जाटव बीजेपी के संभावित उम्मीदवार होंगे. ऐसे में कांग्रेस प्रागी लाल जाटव को अपने खेमे में शामिल कर जसवंत जाटव की मुश्किलें बढ़ा सकती है. इसी तरीके से डबरा विधानसभा सीट से पूर्व मंत्री इमरती देवी अब बीजेपी की संभावित उम्मीदवार होंगी. ऐसे में पार्टी सत्य प्रकाशी को टिकट देकर इमरती देवी के खिलाफ चुनाव लड़ा सकती है.



कांग्रेस के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष रामनिवास रावत ने कहा कि बीएसपी समेत कई बड़े नेता दूसरी पार्टी के कांग्रेस का दामन थाम सकते हैं. प्रदेश में लोकतंत्र को बचाने के लिए बीएसपी के कई बड़े नेता कांग्रेस का साथ देने को तैयार हैं.आने वाले दिनों में कुछ और नेता और कार्यकर्ता कांग्रेस पार्टी में शामिल हो सकते हैं.



सदस्यता लेते वक्त सोशल डिस्टेंसिंग भूले नेता
प्रदेश कांग्रेस दफ्तर में आज बीएसपी नेताओं ने कांग्रेस की सदस्यता ली, लेकिन इस दौरान कांग्रेस और बीएसपी के नेता सोशल डिस्टेंसिंग और चेहरे पर मास्क लगाना भूल गए. मंच पर खड़े नेताओं ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं किया और ज्यादातर नेताओं के चेहरे पर मास्क भी नहीं लगाया गया.

ये भी पढ़ें

PHOTOS: अरे ये क्या! 126 साल पुराने पीपल के पेड़ में घर है या फिर घर में पेड़?


First published: June 7, 2020, 12:07 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading