BSP विधायक राम बाई का दावा, शिवराज सरकार में मिलेगा मंत्री पद, कांग्रेस ने कहा वादा किया तो निभाना पड़ेगा

रामबाई को मंत्री बनने का भरोसा
रामबाई को मंत्री बनने का भरोसा

शिवराज सिंह चौहान को मुख्यमंत्री बने 26 दिन बीत चुके हैं. इसलिए मंत्रिमंडल के गठन को लेकर अटकलों का बाजार गर्म है. इस बार अपनी टीम बनाने में शिवराज सिंह चौहान को खासी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है और यह उनके लिए बड़ी चुनौती बन गयी है

  • Share this:
भोपाल. शिवराज (SHIVRAJ) मंत्रिमंडल के गठन को लेकर जारी सस्पेंस के बीच पथरिया से बीएसपी विधायक राम बाई (RAMBAI) का एक वीडियो वायरल (Video viral) हो रहा है. उसमें रामबाई कह रही हैं कि उन्हें बीजेपी नेताओं ने मंत्री बनाने का भरोसा दिलाया है. रामबाई किसी लोकल नेता का नाम नहीं ले रहीं बल्कि दिग्गजों के नाम गिना रही हैं.

कमलनाथ सरकार में मंत्री बनने की आस लिए बैठी पथरिया से बीएसपी विधायक रामबाई को भरोसा है कि अब नयी सरकार में उन्हें जगह ज़रूर मिलेगी. उनका दावा है कि बीजेपी के बड़े और दिग्गज नेताओं ने उन्हें मंत्री बनाने का वादा किया है. राम बाई के मुताबिक उनकी केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, नरेंद्र सिंह तोमर और शिवराज सिंह चौहान से इस संबंध में चर्चा हुई है. सबने उन्हें मंत्री बनाने का भरोसा दिया है. और अब वह बीजेपी नेताओं का वायदा पूरा होने का इंतजार कर रही हैं.





दादा ने कभी नहीं किया वादा
राम बाई ने यह भी साफ कहा है कि कमलनाथ सरकार को समर्थन देने के बाद भी कभी उन्हें मंत्री बनाए जाने का भरोसा नहीं दिया गया था. कमलनाथ ने मुख्यमंत्री रहते हुए राम बाई को कभी भी मंत्री बनाने की बात नहीं कही. राम बाई का वीडियो ऐसे समय आया है जब शिवराज मंत्रिमंडल के गठन को लेकर प्रदेश में सरगर्मियां तेज हैं. सिंधिया समर्थक चेहरों को मंत्री बनाए जाने के मामले पर सिंधिया दिल्ली में केंद्रीय मंत्री अमित शाह, बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात कर चुके हैं. सिंधिया चाहते हैं कि उनके समर्थक 6 चेहरों को मंत्रिमंडल में जगह दी जाए.तो वहीं पथरिया विधायक राम बाई की दावेदारी को लेकर भी सियासत गर्म हो उठी है.

कांग्रेस ने बीजेपी से की मांग

रामबाई का ये वीडियो आते ही कांग्रेस ने बीजेपी की घेराबंदी शुरू कर दी है.पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने बीजेपी से वचन निभाने की बात कही है. सज्जन सिंह वर्मा ने कहा यदि रामबाई को मंत्री बनाने का भरोसा दिया गया है तो बीजेपी को अपना वचन निभाना चाहिए और उन्हें मंत्री बनाया जाना चाहिए.

मंत्रिमंडल गठन की चुनौती
शिवराज सिंह चौहान को मुख्यमंत्री बने 26 दिन बीत चुके हैं. इसलिए मंत्रिमंडल के गठन को लेकर अटकलों का बाजार गर्म है. इस बार अपनी टीम बनाने में शिवराज सिंह चौहान को खासी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है और यह उनके लिए बड़ी चुनौती बन गयी है.समस्या ये है कि कैसे सिंधिया समर्थकों और पार्टी के साथ सरकार को समर्थन देने की बात कर रहे विधायकों के बीच समन्वय बनाएं. किसे मंत्रिमंडल में जगह दी जाए और किसे बाहर रखा जाए.

ये भी पढ़ें-

खाकी है तो मुमकिन है:वर्दी की हमदर्दी की ये तस्वीरें क्या पहले कभी देखी हैं!

इंदौर में फिर मेडिकल टीम पर हमला: CM शिवराज ने मांगी रिपोर्ट, आरोपी गिरफ्तार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज