• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • BSP MLA रामबाई ने दिया ग्रामीणों को ज्ञान, '1 हजार तक की रिश्वत लेने में कोई बुराई नहीं'

BSP MLA रामबाई ने दिया ग्रामीणों को ज्ञान, '1 हजार तक की रिश्वत लेने में कोई बुराई नहीं'


दमोह बसपा विधायक रामबाई ने कहा कि हजार-पांच सौ की घूस लेना समझ में आता है, लेकिन 10 हजार लेना गलत है.

दमोह बसपा विधायक रामबाई ने कहा कि हजार-पांच सौ की घूस लेना समझ में आता है, लेकिन 10 हजार लेना गलत है.

Controversial Statement of MLA Rambai: अपने विवादित बयानों के कारण सुर्खियों में रहने वाली पथरिया विधानसभा से बसपा विधायक रामबाई एक बार फिर अपने बयान को लेकर सुर्खियों में हैं. उन्होंने कहा है कि एक हजार रुपए तक की रिश्वत लेने में कोई बुराई नहीं है. आटे में नमक बराबर रिश्वत चलती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

भोपाल. मध्यप्रदेश के पथरिया से बसपा विधायक रामबाई (BSP MLA Ram bai) एक बार फिर सुर्खियों में हैं. इस बार उन्होंने रिश्वत (bribe) को ही जायज ठहरा दिया है. दमोह (Damoh) में लोगों ने रिश्वत लिए जाने की शिकायत की तो उन्होंने कार्रवाई करने के बजाय पंचायत के आरोपी कर्मचारियों का भ्रष्टाचार (Corruption) का गणित समझा दिया. उन्होंने कहा कि आटे में नमक बराबर रिश्वत चलती है. एक हजार रुपए तक की रिश्वत लेने में कोई बुराई नहीं है. उन्होंने कहा कि हजार-पांच सौ की घूस लेना समझ में आता है, लेकिन 10 हजार लेना गलत है. हमें पता है कि सब कुछ ‘अंधेर नगरी चौपट राजा’ चल रहा है, लेकिन इतना भ्रष्टाचार ठीक नहीं.

दरअसल, कुछ दिन पहले सतऊआ गांव के लोग रोजगार सहायक और सचिव की शिकायत लेकर विधायक के पास पहुंचे थे. ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री आवास के नाम पर दोनों हजारों रुपए वसूल रहे हैं. इसके बाद विधायक रविवार शाम सतऊआ पहुंचीं और जन चौपाल लगाई. इसमें रोजगार सहायक निरंजन तिवारी और सचिव नारायण चौबे को भी बुलाया गया.

थोड़ा-बहुत तो चलता है, पर ज्यादा ठीक नहीं

ग्रामीणों ने विधायक के सामने ही सहायक और सचिव पर वसूली के आरोप लगाए. किसी ने 5 हजार, किसी ने 8 हजार से लेकर 10 हजार रुपए तक लेने की बात कही. शिकायत सुन विधायक ने कहा कि थोड़ा बहुत तो चलता है, लेकिन हजारों रुपए किसी गरीब से ले लेना गलत है. यदि एक हजार रुपए भी ले लेते तो कोई आपत्ति नहीं थी, लेकिन सवा लाख के घर में 5 से 10 हजार (रिश्वत) लेना बहुत गलत है.

Explained : पंजाब की तर्ज पर ‘ऑपरेशन राजस्थान’ की तैयारी, जानिए क्या है बदलाव का पूरा ब्लू प्रिंट

दस हजार की रिश्वत लेते शर्म आनी चाहिए
बसपा विधायक रामबाई ने रोजगार सहायक से कहा कि यदि तुम्हारी बात की जाए तो तुम्हारे घर में तो एक लाख रुपए से ज्यादा का बाथरूम ही बना होगा और तुम यहां गरीब से घूस ले रहे हो. अरे सवा लाख में तो गरीब अपना पूरा घर बना रहे हैं. इसके बाद भी यदि आप उनसे 5 से 10 हजार लेंगे तो शर्म आनी चाहिए.

विधायक बोलीं, कुछ गलती ग्रामीणों की भी
बाद में विधायक रामबाई ने कर्मचारियों की शिकायत नहीं ली. उनका कहना था कि कुछ गलती तो ग्रामीणों की भी है. उन्हें योजनाओं और नियमों की पूरी जानकारी नहीं होती और बस शिकायत करने लगते हैं. कर्मचारियों से पैसे लेने की बात सामने आई थी. ग्रामीणों के पैसे वापस करने के लिए रोजगार सहायक और सचिव से कह दिया है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज