अपना शहर चुनें

States

BUDGET 2021 : कमलनाथ ने बजट को बताया निराशाजनक तो नरोत्तम मिश्रा बोले उनसे यही उम्मीद थी 

MP NEWS-आम बजट पर MP में नेताओं के बीच वार-प्रतिवार चल रहा है.
MP NEWS-आम बजट पर MP में नेताओं के बीच वार-प्रतिवार चल रहा है.

Budget 2021 : पूर्व सीएम कमलनाथ (Kamalnath) ने कहा-जो लोग एफडीआई (FDI) का विरोध करते थे वो आज एफ़डीआई को हर क्षेत्र में लागू कर रहे हैं.यह बजट पूरी तरह से आमजन विरोधी और निराशाजनक है.

  • Share this:
भोपाल.केंद्रीय बजट पेश होने के साथ ही इस पर राजनीति भी शुरू हो गई है. बीजेपी के नेता बजट (Budget) को बेहतर बता रहे हैं तो कांग्रेस नेताओं ने बजट को निराशाजनक बताया है. पूर्व मुख्यमंत्री और पीसीसी चीफ कमलनाथ के बजट को निराशाजनक बताने पर गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा उनसे ऐसी ही प्रतिक्रिया की उम्मीद थी.

पूर्व सीएम कमल नाथ ने आम बजट को निराशाजनक बताया है. उन्होंने कहा अब मोदी सरकार आत्म निर्भर भारत के नाम पर देश को गुमराह करेगी. नरोत्तम मिश्रा ने इस पर कहा- विपक्ष का काम आलोचना करना है.लेकिन आलोचना भी गुण दोष के आधार पर होना चाहिए. सिर्फ आलोचना के लिए आलोचना ठीक नहीं है.नरोत्तम मिश्रा ने बजट को बहुजन हिताय बहुजन सुखाय करार दिया है. बजट में सभी वर्गों का ध्यान रखा गया है. भारत को आर्थिक महाशक्ति की दिशा में वित्त मंत्री का बेहतरीन बजट है.





कमल नाथ ने साधा निशाना
वहीं कमल नाथ ने बजट पर निशाना साधते हुए ट्वीट करते हुए लिखा कि कोरोना की महामारी के भीषण संकट काल के समय आज आये देश के इस आम बजट से देशवासियों को काफी उम्मीदे थी लेकिन इस बजट से आमजन को भारी निराशा हुई है. कोरोना महामारी में ध्वस्त अर्थव्यवस्था को देखते हुए आमजन को राहत देने के लिए इस बजट में कोई प्रावधान नहीं किया गया है. देश का सबसे बड़ा वर्ग किसान वर्ग जो अपने हक को लेकर सड़कों पर पिछले 2 माह से अधिक समय से आंदोलन कर रहा है, उसके लिए इस बजट में कुछ नहीं है. सिर्फ़ झूठे वादे, वर्षों पुराना आय दोगुनी का एक बार फिर वादा. एक तरफ़ नये कृषि क़ानूनों से मंडी व्यवस्था को ख़त्म करने का काम और आज बजट में मंडी व्यवस्था को मज़बूत करने का झूठा वादा.

युवा वर्ग फिर खाली हाथ
कमलनाथ ने आगे लिखा कोरोना महामारी के बाद बड़ी संख्या में युवा वर्ग को नौकरियों से हाथ धोना पड़ा है.युवा वर्ग के रोजगार को लेकर इस बजट में कुछ नहीं है. कई वर्षों पुरानी घोषणाओं को इस बजट में एक बार फिर दोहराने का काम किया गया है.जो लोग कहते थे कि देश नहीं बिकने दूंगा , उनका आज नारा है सब चीज़ बेच दूँगा. यह इस बजट से भी स्पष्ट रूप से दिख रहा है.कमलनाथ ने लिखा-गरीब-मध्यमवर्गीय लोगों के लिये इस बजट में कुछ नहीं है.आयकर में छूट की उम्मीद थी लेकिन छूट नहीं बढ़ायी गयी.यह बजट महंगाई बढ़ाने वाला बजट है.पेट्रोल-डीजल-रसोई गैस की बढ़ती कीमतों को देखते हुए इस बजट में करो में भारी राहत की जनता को उम्मीद थी लेकिन जनता एक बार फिर ठगी गयी है.

आत्मनिर्भर भारत के नाम पर गुमराह
पूर्व सीएम कमलनाथ ने कहा-मेक इन इंडिया, डिजिटल इंडिया  के पुराने नारों की तरह अब आत्मनिर्भर भारत के नये नारे के साथ आंकड़ों की हेराफेरी कर देश की जनता को गुमराह करने का काम इस बजट में किया गया है.जो लोग एफ़डीआई का विरोध करते थे वो आज एफ़डीआई को हर क्षेत्र में लागू कर रहे हैं.यह बजट पूरी तरह से आमजन विरोधी व निराशाजनक बजट है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज