लाइव टीवी

राजगढ़ कलेक्टर थप्पड़कांड: MP के मंत्री का बड़ा बयान, बोले- गलत काम के लिए किसी को शाबाशी नहीं देनी चाहिए
Bhopal News in Hindi

Ranjana Dubey | News18 Madhya Pradesh
Updated: February 6, 2020, 7:40 PM IST
राजगढ़ कलेक्टर थप्पड़कांड: MP के मंत्री का बड़ा बयान, बोले- गलत काम के लिए किसी को शाबाशी नहीं देनी चाहिए
कैबिनेट मंत्री डॉ.गोविंद सिंह ने राजगढ़ कलेक्टर थप्पड़कांड पर उठाए सवाल.

कमलनाथ सरकार में सामान्य प्रशासन मंत्री डॉ. गोविंद सिंह (Dr.Govind Singh) ने राजगढ़ कलेक्टर निधि निवेदिता (Nidhi Nivedita) के थप्पड़कांड को लेकर सवाल खड़े किए हैं. उन्‍होंने कहा कि किसी को भी अवैधानिक कृत्य करने के लिए शाबाशी नहीं देनी चाहिए. ना मैंने शाबाशी दी है ना ही दूंगा.

  • Share this:
भोपाल. राजगढ़ कलेक्टर निधि निवेदिता (Nidhi Nivedita) के थप्पड़कांड को लेकर सरकार में सामान्य प्रशासन मंत्री डॉ.गोविंद सिंह (Dr. Govind Singh) ने सवाल खड़े किए हैं. उन्‍होंने कहा कि कलेक्टर ऐसे जिम्मेदार पद पर बैठा है, फिर चाहे वो कोई महिला हो या पुरूष. इस तरह का कृत्य नहीं करना चाहिए. हालांकि ये मेरा व्यक्तिगत मत है. साथ ही मंत्री ने कहा कि कलेक्‍टर पूरे जिले का जिलादंडाधिकारी होता है और उसके तो आदेश पर कार्रवाई होती है. अगर कोई हिंसा करता है तो कलेक्टर के पास ना सिर्फ लाठीचार्ज बल्कि गोली चलाने का अधिकार है. जब ये अधिकार केवल निर्देश देकर ही पालन कराए जा सकते हैं तो खुद कलेक्टर को थप्पड़ नहीं मारना चाहिए था. किसी को भी अवैधानिक कृत्य करने के लिए शाबाशी नहीं देनी चाहिए. ना मैंने शाबाशी दी है ना ही दूंगा.
बहरहाल, राजगढ़ कलेक्टर निधि निवेदिता ने भाजपा के सीएए के समर्थन में रैली को लेकर कार्यकर्ताओं को थप्पड़ मारने को लेकर खूब सुर्खियों बटोरी थीं. जबकि रिपोर्ट में भी कलेक्टर द्वारा थप्पड़ मारने की बात को प्रमाणित किया गया था.

पुलिस की जांच रिपोर्ट में कलेक्टर दोषी
एसडीओपी की जांच रिपोर्ट में इस बात की पुष्टि की गई कि नरेश शर्मा को कलेक्टर ने थप्पड़ मारा था यानी कलेक्टर दोषी हैं. हालांकि यह मामला कलेक्टर से जुड़ा होने की वजह से डीजीपी वीके सिंह ने आगे की कार्रवाई के लिए गृह विभाग के प्रमुख सचिव को पत्र लिखा है. इस पत्र के बाद मामला सीएम कमलनाथ और विभाग के मंत्री बाला बच्चन के संज्ञान में आ गया है. डीजीपी के इस पत्र को लेकर पुलिस मुख्यालय के प्रवक्ता आशुतोष प्रताप सिंह ने कहा एएसआई की शिकायत जांच में सही पाई गई है. उसने जो कलेक्टर पर आरोप लगाए हैं, वह सभी सही हैं. थप्पड़ की बात प्रमाणित होने के बाद डीजीपी ने पत्र में लिखा था कि कलेक्टर के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए. डीजीपी के पत्र के बाद गृह मंत्री बाला बच्चन ने कार्रवाई के संकेत दिए थे और ये तय माना जा रहा था कि कलेक्टर पर जल्द ही कार्रवाई हो सकती है. हालांकि अब तक ऐसा कुछ हुआ नहीं है.



कार्रवाई के लिए भाजपा को मिला कानूनी आधार
जाचं रिपोर्ट में थप्पड़ की पुष्टि होने के बाद अब भाजपा कोर्ट जाने की तैयारी में है. यकीनन भाजपा को अब कानूनी कार्रवाई के लिए मजबूत आधार मिल गया है. कलेक्टर के खिलाफ कार्रवाई में देर हुई तो कोर्ट में इस्तगासा भी पेश किया जा सकता है. यही नहीं, कार्यकर्ताओं को चांटा मारने के मामले में भाजपा सांसदों के दल ने दिल्ली में कार्मिक विभाग में शिकायत भी की है.

 

ये भी पढ़ें-

एक तरफा प्यार में छात्रा पर चाकू से किया हमला, फिर छात्र ने खुद को दी ये सजा

 

युवक ने खुद रची अपहरण की साजिश, फिर परिवार से मांगी इतनी फिरौती

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 6, 2020, 7:40 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर