रेमडेसिविर इंजेक्शन और ऑक्सीजन की कालाबाजारी करने वालों पर नकेल, 21 पर लगी रासुका 

कोरोना संकटकाल में सरकार ऑक्सीजन और रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाज़ारी को लेकर सख्त है.

कोरोना संकटकाल में सरकार ऑक्सीजन और रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाज़ारी को लेकर सख्त है.

Bhopal. रेमडेसिविर इंजेक्शन ((Remdesivir injection की आपूर्ति और वितरण व्यवस्था में बदलाव किया गया है. रेमडेसिविर इंजेक्शन अब केवल अस्पतालों और संस्थाओं में डिस्ट्रीब्यूट किया जा रहा है.

  • Share this:

भोपाल. रेमडेसिविर इंजेक्शन (Remdesivir) की कालाबाजारी और ऑक्सीजन (Oxygen) की आपूर्ति बाधित करने वालों के खिलाफ एमपी में एक्शन जारी है. इंजेक्शन की कालाबाज़ारी (Black marketing) करने पर अब तक 20 आरोपियों और ऑक्सीजन की कालाबाजारी करने पर एक व्यक्ति के विरुद्ध रासुका के प्रकरण दर्ज किये गये हैं. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कालाबाजारी रोकने के लिए कहा ऐसे किसी भी दोषी व्यक्ति को बख्शा नहीं जायेगा.

कहां कितनी कार्रवाई ?

रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी पर इंदौर जिले में 9 लोगों, उज्जैन जिले में 8,  जबलपुर जिले में 2  और ग्वालियर जिले में एक व्यक्ति के विरुद्ध रासुका के प्रकरण दर्ज किये गये हैं. इसी प्रकार ऑक्सीजन की कालाबाजारी पर सतना में एक आरोपी के विरुद्ध रासुका का प्रकरण दर्ज किया गया है.

Youtube Video

क्या हैं निर्देश ?

कोरोना आपदा में कालाबाजारी की खबरों के बाद सरकार ने कालाबाजारी और अवैध विक्रय नहीं हो, इसके लिये प्रदेश के सभी औषधि निरीक्षकों को निर्देश जारी किये हैं. इस आदेश के बाद औषधि निरीक्षकों द्वारा छापेमार कार्रवाई की जा रही है. एम.आर.पी. से अधिक मूल्य पर बिक्री और कालाबाजारी पर एक्शन लिए जा रहे हैं. रेमडेसिविर इंजेक्शन की आपूर्ति और वितरण व्यवस्था में बदलाव किया गया है. रेमडेसिविर इंजेक्शन अब केवल अस्पतालों और संस्थाओं में डिस्ट्रीब्यूट किया जा रहा है.  ऐसी व्यवस्था की गई है, ताकि अस्पतालों में भर्ती मरीजों को इंजेक्शन मिल सकें.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज