Home /News /madhya-pradesh /

ग्रुप कैप्टन वरुण का भोपाल से है नाता, छोटा भाई है नेवी में, पिता खबर मिलते ही वेलिंगटन रवाना

ग्रुप कैप्टन वरुण का भोपाल से है नाता, छोटा भाई है नेवी में, पिता खबर मिलते ही वेलिंगटन रवाना

BHOPAL. ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह  14 दिन पहले ही अपने पेरेंट्स से मिलने भोपाल आए थे.

BHOPAL. ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह 14 दिन पहले ही अपने पेरेंट्स से मिलने भोपाल आए थे.

CDS bipin Rawat Helicopter Crash : ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह(Group captain Varun Singh) के माता-पिता राजधानी भोपाल के एयरपोर्ट रोड स्थित सन सिटी के इनरकोर्ट अपार्टमेंट में रहते हैं. जब ये हादसा हुआ तब पिता कर्नल (रिटा.) के पी सिंह और मां उमा सिंह मुंबई में छोटे बेटे के पास थे जो नेवी में हैं. हादसे की सूचना मिलने पर वरुण के पिता अपने बेटे के पास वेलिंगटन मिलिट्री हॉस्पिटल पहुंच गए हैं.

अधिक पढ़ें ...

भोपाल. CDS जनरल बिपिन रावत के साथ कुन्नूर हेलीकॉप्टर हादसे (Coonoor Chopper Crash) में जो एकमात्र सदस्य जीवित बचे हैं वो हैं ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह. वो इस वक्त वेलिंगटन के सैन्य अस्पताल में जिंदगी और मौत के बीच झूल रहे हैं. वरुण सिंह (Varun Singh) का भी मध्य प्रदेश से नाता है. उनके माता पिता भोपाल में रहते हैं लेकिन इन दिनों वो मुंबई में अपने छोटे बेटे के पास थे. वरुण की खबर मिलते ही वो वेलिंगटन रवाना हो गए. पूरे देश के साथ कैप्टन वरुण सिंह के पड़ोसी, परिचित और रिश्तेदार सब उनके जल्द स्वस्थ होने की कामना कर रहे हैं.

कुन्नूर में हुए हेलिकॉप्टर क्रैश में ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह 80 फीसदी झुलस गए हैं. वो वेलिंगटन सैन्य अस्पताल में लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर हैं. कल हुए हादसे से ठीक 14 दिन पहले वो भोपाल में माता पिता से मिलने आए थे.

सैन्य परिवार से हैं वरुण
ग्रुप कैप्टन वरुण के माता-पिता राजधानी भोपाल के एयरपोर्ट रोड स्थित सन सिटी के इनरकोर्ट अपार्टमेंट में रहते हैं. जब ये हादसा हुआ तब पिता कर्नल (रिटा.) के पी सिंह और मां उमा सिंह मुंबई में छोटे बेटे के पास थे. वरुण एयरपोर्स में ग्रुप कैप्टन हैं और छोटे भाई नेवी में हैं. वरुण के पिता कर्नल थे. हादसे की सूचना मिलने पर वरुण के पिता अपने बेटे के पास वेलिंगटन के मिलिट्री हॉस्पिटल पहुंच गए हैं.

ये भी पढ़ें- CDS Bipin Rawat Helicopter Crash : जनरल रावत ने साले से किया था वादा- जनवरी में शहडोल जरूर आऊंगा…

पड़ोसी रिश्तेदार सब फिक्रमंद
वरुण के पिता कर्नल (रिटा.) के पी सिंह के दोस्त और पड़ोसी कर्नल पंडित का कहना है वरुण से अभी 14 दिन पहले ही मुलाकात हुई थी. ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह को शौर्य चक्र मिलने पर बधाई भी दी थी. सोचा नहीं था कि वरुण से ये आखिरी मुलाकात होगी. फिलहाल भगवान का शुक्र है कि वरुण सुरक्षित हैं. बस अब यही प्रार्थना है कि वह जल्द से जल्द स्वस्थ हों. कर्नल पंडित कहते हैं वरुण बेहद बहादुर ऑफिसर हैं. हर विषम परिस्थितियों से लड़कर जितना भी जानते हैं. उम्मीद है कि वरुण 48 घंटे का ऑब्जरवेशन पीरियड पार कर लेंगे और 48 घंटे बाद उनके स्वस्थ होने का समाचार मिलेगा.

बस दुआ कीजिए
कर्नल पंडित बताते हैं कि उनके पिता के पी सिंह से आज सुबह फोन पर बात हुई. उन्होंने बताया था कि वरुण की हालत फिलहाल स्थिर है. आप सभी दुआ कीजिए. हालत में फिलहाल सुधार है. 48 घंटे के ऑब्जर्वेशन पीरियड में हैं. 48 घंटे पूरे होने के बाद ही उनकी सेहत के बारे में कुछ कहा जा सकेगा.

साहसी और ज़िंदादिल इंसान हैं वरुण
एक अन्य पड़ोसी लेफ्टिनेंट कर्नल ईशान का कहना है कर्नल केपी सिंह मेरे पड़ोसी हैं. मेरी उनसे कभी मुलाकात नहीं हुई लेकिन उनके पिता हमेशा वरुण के बारे में बताते रहते थे. वरुण एक साहसी, स्टेबल, जिंदादिल इंसान हैं. इस हादसे में वह अकेले इंसान बचे हैं. उम्मीद है कि वह पूरी तरह से स्वस्थ होकर जल्द से जल्द हम सबके बीच में होंगेय हम सब यही प्रार्थना कर रहे हैं कि ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह जल्द से जल्द स्वस्थ हों और अपने परिवार के साथ पहले की तरह हंसी खुशी के पल बिता सकें.

Tags: Bipin Rawat Helicopter Crash, Cds bipin rawat, Coonoor Helicopter Crash, Madhya pradesh latest news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर