लाइव टीवी

मेडिकल स्टूडेंट्स को मोदी सरकार की सौगात, 803 PG सीट बढ़ाने के प्रस्‍ताव को मंजूरी

Puja Mathur | News18 Madhya Pradesh
Updated: December 13, 2019, 10:47 PM IST
मेडिकल स्टूडेंट्स को मोदी सरकार की सौगात, 803 PG सीट बढ़ाने के प्रस्‍ताव को मंजूरी
इन सीटों के खर्च को 60 प्रतिशत केन्द्र सरकार और 40 प्रतिशत राज्य सरकार वहन करेगी.

केंद्र सरकार ने मध्य प्रदेश के 5 शासकीय मेडिकल कॉलेज (5 Government Medical College) में स्नातकोत्तर (पीजी) पाठ्यक्रम में 803 सीट बढ़ाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है. इन सीटों के लिए करीब 522 करोड़ रुपए खर्च होंगे.

  • Share this:
भोपाल. केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की तकनीकी मूल्यांकन समिति ने मध्य प्रदेश के 5 शासकीय मेडिकल कॉलेज (5 Government Medical College) में स्नातकोत्तर (पीजी) पाठ्यक्रम में 803 सीट बढ़ाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है. इन सीटों को बढ़ाने पर 521 करोड़ 74 लाख 45 हजार रुपये खर्च होंगे. जबकि इस खर्च का 60 प्रतिशत केन्द्र सरकार (Central Government) और 40 प्रतिशत कमलनाथ सरकार (Kamal Nath Government) द्वारा वहन किया जाएगा.

इन कॉलेजों को होगा फायदा
केन्द्र सरकार से मंजूरी से प्रदेश के नेताजी सुभाष चन्द्र बोस मेडिकल कॉलेज जबलपुर में 85, श्याम शाह मेडिकल कॉलेज रीवा में 88, गजराराजा मेडिकल कॉलेज ग्वालियर में 91, महात्मा गांधी मेमोरियल मेडिकल कॉलेज इंदौर में 169, बुन्देलखण्ड मेडिकल कॉलेज सागर में 85 और गांधी मेडिकल कॉलेज भोपाल में 285 सीटें बढ़ेंगी.

प्रमुख सचिव ने कही ये बात

प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा शिवशेखर शुक्ला ने बताया कि जबलपुर के शासकीय मेडिकल कॉलेज के लिए द्वितीय चरण में 17 पीजी पाठ्यक्रमों में सीट बढ़ाने के प्रस्ताव को मंजूरी मिली है. इससे बॉयो केमिस्ट्री, माइक्रो बॉयोलॉजी, फॉरेन्सिक मेडिसिन, इमरजेंसी मेडिसिन और पल्मोनरी मेडिसिन (डीएम) की क्रमश: पांच, दो, तीन और दस सीट बढ़ेंगी. इसी के साथ द्वितीय चरण में पैथालॉजी, साइकियाट्रिक, रेडियो डायग्नोसिस में दो-दो, फॉर्माकोलॉजी में 6, ऑप्थलमोलॉजी में 4, ईएनटी में एक, जनरल मेडिसिन में 18, जनरल सर्जरी में 8, ऑर्थोपेडिक्स में 7, रेडिएशन ऑन्कोलॉजी में 5, रेस्पॉयरेटरी में 5 और न्यूरो सर्जरी में 3 सीट की बढ़ोत्‍तरी होगी, जिसका अनुमानित व्यय लगभग 93 करोड़ रुपये है.

रीवा के कॉलेज को होगा ये फायदा
रीवा के शासकीय श्याम शाह चिकित्सा महाविद्यालय में बॉयो-केमेस्ट्री और फॉरेंसिक मेडिसिन की 3-3, ओटोरिनोलेरिंगोलॉजी की 4, रेडियो डायग्नोसिस की 4 और डर्माटोलॉजी, वेनेरेलॉजी एंड लेप्रसी की 2 सीट की वृद्धि होगी. साथ ही एनाटॉमी की 4, फिजियोलॉजी की 5, पैथालॉजी की 8, फार्माकोलॉजी की 3, कम्युनिटी मेडिसिन की 4, ऑप्थलमोलॉजी की 4, जनरल मेडिसिन की 8, जनरल सर्जरी की 6, ऑर्थोपेडिक्स की 7, गॉयन्कोलॉजी की 5, पीडियाट्रिक्स की 3, एनिस्थीसियोलॉजी की 14 और साइकियाट्री में एक सीट बढ़ेगी, जिस पर 77.17 करोड़ रुपये की राशि व्यय होगी.ग्वालियर कॉलेज में होगा ये बदलाव
ग्वालियर के शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय में एनाटॉमी की 8, फिजियोलॉजी की 6, पैथालॉजी की 10, माइक्रो बॉयोलॉजी की 7, फार्माकोलॉजी की 8, कम्युनिटी मेडिसिन की 7, ऑथोपेडिक्स की 5, जनरल सर्जरी की 11, एनिस्थीसियोलॉजी की 4, गॉयन्कोलॉजी की 8, जनरल मेडिसिन की 10, रेडियो डॉयग्नोसिस की 4 और पीडियाट्रिक्स की 3 बढेंगी, जिस पर लगभग 60 करोड़ व्यय होंगे.

इंदौर, सागर और भोपाल के हिस्‍से में आईं इतनी सीटें
केन्द्र द्वारा मंजूर की गई सीटों में इंदौर के शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय में 175 करोड़ 63 लाख से 169 पीजी सीट्स की वृद्धि होगी. इनमें एनाटॉमी, फिजियोलॉजी, एनिस्थीसिया की 8-8, बॉयो-केमेस्ट्री की 10, पैथालॉजी की 15, माइक्रोबॉयोलॉजी की 14, फारेंसिक मेडिसिन की 7, कम्युनिटी मेडिसिन की 14, डर्माटोलॉजी की एक, रेडियो डायग्नोसिस की 5, सर्जरी की 20 एनिस्थीसिया की 8, ऑर्थोपेडिक्स की 5, मेडिसिन की 21, साइक्रियाट्रि की 6, ऑब्सटेट्रिक्स एण्ड गॉयन्कोलॉजी की 10, ट्रांसफ्यूजन मेडिसिन की 5 और ईएनटी की 4 सीट शामिल हैं.

जबकि सागर के शासकीय मेडिकल कॉलेज में एनाटॉमी, फिजियोलॉजी, फॉर्माकोलॉजी, रेडियो डायग्नोसिस की 2-2, कम्युनिटी मेडिसिन, ऑप्थलमोलॉजी की 3-3, पैथालॉजी की 9, माइक्रोबॉयोलॉजी, बॉयोकेमेस्ट्री, पीडियाट्रिक्स, ऑथोपेडिक्स, ईएनटी की 5-5, जनरल मेडिसिन और जनरल सर्जरी की 11-11, गॉयन्कोलॉजी की 8 और एनिस्थीसियोलॉजी की 7 सीट बढ़ाई गई हैं. इन पर 92 करोड़ रुपये से अधिक राशि व्यय होगी.

इसके अलावा भोपाल के गांधी मेडिकल कॉलेज में लगभग 117 करोड़ से 285 पीजी सीट की वृद्धि अनुमानित है. इनमें एनाटॉमी की 16, फिजियोलॉजी, माइक्रोबॉयोलॉजी, फॉरेंसिक मेडिसिन की 9-9 सीट्स, बॉयो-केमेस्ट्री, रेडियो डॉयग्नोसिस की 10-10, फॉर्माकोलॉजी की 14, पैथालॉजी की 20, कम्युनिटी मेडिसिन की 17, जनरल मेडिसिन, जनरल सर्जरी की 24-24, पीडियाट्रिक्स की 25, टी.बी. चेस्ट की 5, साइकियाट्रि की 3, ऑथोपेडिक्स की 17, ओटोरिनोलेरिंगोलॉजी की 5, ऑप्थलमोलॉजी की 8, गॉयन्कोलॉजी की 25 और एनिस्थीसियालॉजी की 35 पीजी सीट शामिल हैं.

ये भी पढ़ें-

लुटेरों की भाषा सीखी, 15 दिन परदेश में रहे, तब शिकंजे में आए 50 लाख रुपए लूटने वाले शातिर
मध्य प्रदेश ATS ने SIMI के 2 आतंकियों को पकड़ा, 15 साल से थे फरार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए करियर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 13, 2019, 10:07 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर