होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /कृषि कर्मण मध्य प्रदेश में आधा रह गया सोयाबीन बीज का उत्पादन, कांग्रेस ने शिवराज को लिखी चिट्ठी

कृषि कर्मण मध्य प्रदेश में आधा रह गया सोयाबीन बीज का उत्पादन, कांग्रेस ने शिवराज को लिखी चिट्ठी

SEED SHORTAGE : प्रमाणित बीज की कमी होने पर कांग्रेस नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने सीएम शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखा है.

SEED SHORTAGE : प्रमाणित बीज की कमी होने पर कांग्रेस नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने सीएम शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखा है.

Seed Shortage : पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने हाल ही में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखा है. कांग्रेस ने पूछा ...अधिक पढ़ें

भोपाल. मध्य प्रदेश में पंचायत चुनाव के बीच किसानों का मुद्दा भी गर्माया हुआ है. किसान सोयाबीन की बोवनी की तैयारी कर रहे हैं लेकिन सरकार ने अभी तक बीज के दाम तय नहीं किए हैं. सोसायटी पर उपलब्ध सुपर फास्फेट के दाम भी अब तक घोषित नहीं हुए हैं. किसान परेशान हैं खाद और बीज की कालाबाजारी शुरू हो गयी है. प्रदेश में प्रमाणित बीज का उत्पादन घटने के कारण भी सरकार कठघरे में है. अब विपक्ष सवाल खड़े कर रहा है.

पूर्वमंत्री जीतू पटवारी ने हाल ही में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखा है. कांग्रेस ने पूछा कि सोयाबीन बोवनी की तैयारी में किसान जुटे हैं. लेकिन सरकार ने अब तक बीज के दाम तय क्यों नहीं किए हैं. सोसायटी पर उपलब्ध सुपर फास्फेट के दाम भी अब तक घोषित नहीं हुए हैं. ऐसे में किसान परेशान हैं. खाद और बीज की कालाबाजारी भी शुरू होने का आरोप कांग्रेस ने लगाया है.

कठघरे में सरकार
प्रदेश में प्रमाणित बीज का उत्पादन घटाने के कारण भी सरकार कठघरे में है. कांग्रेस के मुताबिक कृषि विभाग और बीज निगम द्वारा प्रमाणित बीज का उत्पादन 2018 की तुलना में  2021 में आधा रह गया है. 2018 में बीज निगम द्वारा प्रमाणित खरीफ फसल में सोयाबीन का उत्पादन 66831 क्विंटल हुआ था. लेकिन यह 2019 में घटकर 25363 क्विंटल, 2020 में 19762 और 2021 में सिर्फ 13212 क्विंटल रह गया.

ये भी पढ़ें- मुन्नाभाई का हाईटेक फर्जीवाड़ा : सर्जरी कर कान में लगवा ली थी डिवाइस, ब्लूटुथ से हो रही थी नकल

अब तक जांच क्यों नहीं
कांग्रेस ने सरकार से पूछा है कि बीज निगम के अध्यक्ष मुन्नालाल गोयल ने बीज निगम में भ्रष्टाचार के मामलों की जांच का मुद्दा उठाया था. लेकिन अब तक उस पर जांच क्यों शुरू नहीं हुई.

कृषि मंत्री का गैर जिम्मेदाराना बयान
प्रमाणित बीज का उत्पादन घटने पर कृषि मंत्री कमल पटेल का अजीब बयान सामने आया है. पटेल ने कहा किसान खुद अपना बीज तैयार कर रहा है. प्रदेश में अच्छा बीज  देने से उत्पादन बढ़ रहा है. सोसायटी भी बीज का उत्पादन कर कर रही हैं और इसी वजह से प्रदेश में उत्पादन बढ़ रहा है.

क्या कर रहा है बीज निगम
कांग्रेस ने कहा सरकार ने सोयाबीन बीज के दाम बीते साल करीब 7500 ₹प्रति क्विंटल तय किए थे. लेकिन निजी कंपनियों ने 10 से 11500 ₹प्रति क्विंटल के दाम पर बीज बेचे थे. ऐसे में सरकार की नीति से बिचौलिए और बाजार को फायदा हो रहा है और किसान परेशान है. पंचायत चुनाव के दौरान कांग्रेस ने खाद और बीज के मामले को उठाकर सरकार को कटघरे में खड़ा करने की कोशिश की है. सवाल इस बात को लेकर भी है कि प्रमाणित बीज पैदा करने वाले बीज निगम में आखिर उत्पादन  बीते 4 साल में क्यों घट गया.

Tags: Jitu Patwari, Madhya pradesh latest news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें